Software क्या होता है? Software का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

0
431

आप जब भी अपने computer का इस्तेमाल करते हो। जैसे कि video देखना, गाने सुनना, photo editing, etc. यह सारे एक विशेष software पर काम करते हैं। Software क्या होता है?

यह फिर आप अपने कंप्यूटर पर इंटरनेट से जानकारी इकट्ठी करने के लिए web browsing करते हो, इसके लिए हम web browser software का इस्तेमाल करते हैं।

यानी कि, computer पर अधिकतर काम कोई भी यूजर software की मदद से ही कर पाता है. कंप्यूटर अपना कार्य अकेले नहीं कर सकता, इसके लिए कंप्यूटर को एक सहायक उपकरणों की आवश्यकता होती है। Assistant program किसी भी कंप्यूटर को विभिन्न प्रकार के कार्यों को करने में सहायता प्रदान करता है। इन्हीं assistant program को software कहा जाता है?

लेकिन दोस्तों आप सब ने कभी यह सोचा है? Software क्या होता है? Computer इसका इस्तेमाल कैसे करता है? What is software in Hindi . तो दोस्तों आज के हमारे इस लेख में हम लोग आप लोगों को software क्या होता है? और कैसे काम करता है? इसके बारे में जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

Software क्या होता है? – What is software in Hindi

Software , निर्देशों तथा प्रोग्राम का एक समूह होता है। जोकि computer को निर्देश देता है कि कौन सा काम किस तरह से करना है। यह कंप्यूटर को इस्तेमाल करने वाले यूजर को क्षमता प्रदान करता है,कि कंप्यूटर से अपने मनचाहे रूप में एक काम ले सके।

ऐसे तो कोई computer अपने आप कुछ भी कार्य नहीं कर पाता है। हम सभी computer से कार्य निकालने के लिए निर्देशों का इस्तेमाल करते हैं। इसे और आसान बनाने के लिए, पहले से ही computer instruction के समूह का इस्तेमाल करते हैं। जिसे तकनीकी भाषा में software कहा जाता है।

अगर हम व्यवहारिक तौर पर computer को software के साथ जोड़ करके परिभाषित करते हैं, तो कोई भी user (व्यक्ति, जो कंप्यूटर का इस्तेमाल करता है) hardware है और software को उसकी आत्मा क्या सकते हैं।

Hardware computer, के दूसरे parts तक सूचनाओं के माध्यम से उसे निर्देश देता है। जिसे हम देख, छू सकते हैं और tools की मदद से उन पर कार्य कर सकते हैं। Hardware एक वास्तविक पदार्थ होती है। वही software वास्तविक नहीं होती, जिससे हम उसे छू नहीं सकते, उस पर हम काम नहीं कर सकते। बस हम software की मदद से information, आदेश या तरीके है जिनके आधार पर कंप्यूटर का हार्डवेयर काम करता है। कंप्यूटर हार्डवेयर सॉफ्टवेयर से परिचित होते हैं। अथवा सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के हार्डवेयर से परिचित एवं उन पर आधारित होते हैं।

इसे हम एक उदाहरण के जरिए समझाने वाले हैं। कैसे आप software की मदद से hardware को निर्देश देते हैं।

उदाहरण :- अगर आप हमारा यह आर्टिकल अपने computer पर पढ़ रहे हैं। तो जरूर आप एक प्रकार का browsing software का इस्तेमाल कर रहे होंगे। आप software को निर्देश देते हैं, computer का screen और अन्य hardware parts इन निर्देशों का पालन करते हैं। जिसके चलते हमारा यह आर्टिकल आपके computer screen पर प्रदर्शित होता है।

इसके अलावा भी आप विभिन्न कामों के लिए अलग अलग software का इस्तेमाल करते हैं। इसके लिए हम एक और उदाहरण देना चाहते हैं। अगर आपके computer में कोई audio या video file है। तो आप उसे चलाने के लिए भी software का इस्तेमाल करते हो। यानी कि आप उसे निर्देश देते हो, hardware जैसे कि screen और sound box उन निर्देशों का पालन करते हुए, आपके सामने video screen पर तथा audio, sound box पर सुनाई देता है। ठीक उसी तरह आप दूसरे सॉफ्टवेयर जैसे कि MS office, Photoshop, Adobe reader, Picasa, web browser, media player, इत्यादि चीजों का इस्तेमाल अलग-अलग कार्यों के लिए करते हैं। इस चलते हमने कहा था की software किसी भी computer की आत्मा होती है।सॉफ्टवेयर की मदद से ही हम कंप्यूटर पर अपने मनपसंद काम कर पाते हैं।

सॉफ्टवेयर के प्रकार – Types of software in Hindi

Software के माध्यम से निर्देशों के अनुसार हम computer पर बहुत सारे काम करने में सक्षम होते हैं। लेकिन सभी प्रकार के कामों को केवल एक ही software से नहीं किया जा सकता है।

इसलिए software को उसकी उपयोगिता यानी कि काम के आधार पर दो वर्गों में विभाजित किया गया है।

  1. System software
  2. Application software

System software और application software दोनों के ही संयोजन से, हम लोग computer पर किसी भी कार्य को करने में सक्षम होते हैं। दोनों ही तरह के software एक दूसरे के complementary (पूरक) होते हैं। यानी कि किसी भी काम को करने के लिए हमें दोनों ही तरह के software की आवश्यकता पड़ती है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर (System software)

System software किसी भी कंप्यूटर का एक ऐसा पहलू है, जोकि hardware को manage और control करने के लिए मदद करता है। Hardware और software के बीच क्रिया करने देता है। System software की मदद से ही आप hardware को सही क्रिया करने के लिए आप दिशा एवं निर्देश देते हैं। System software कई तरह के होते हैं। जिसकी हमने एक निम्नलिखित सूची बनाई है:-

  1. Operating system software
  2. Utilities software
  3. Device driver

Operating system Software

Operating system software एक ऐसा कंप्यूटर प्रोग्राम होता है, जिसमें कई सारे software का समूह होता है। जिनकी सहायता से computer को data एवं निर्दोषों के संचरण को नियंत्रित करता है।

यह hardware और software के बीच में एक पुल के रूप में कार्य करता है। जिससे कि दोनों के बीच में संबंध स्थापित हो सके। Operating system की मदद से ही computer पर मौजूद दूसरे application software, driver software, utility software आदि काम करने में सक्षम हो पाते हैं। आप यह कह सकते हैं कि operating system किसी भी कंप्यूटर की रीढ़ की हड्डी होती है। जो hardware और software को कंट्रोल करता है।

Operating system कंप्यूटर से जुड़े कई basic कार्यों को संभालता है, जैसे कि keyboard से input लेना, display screen का output भेजना इत्यादि। Operating system को भी कई श्रेणियों में बांटा गया है। जिसकी हमने नीचे एक सूची बनाई है:-

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार – Types of operating system list

  1. Single tasking and multi-tasking operating system
  2. Single and multi user operating system
  3. Distributed operating system
  4. Templated operating system
  5. Embedded operating system
  6. Real time operating system
  7. Library operating system

Single tasking and multi-tasking Operating system

जब जब कोई operating system एक ही समय में केवल एक ही program चलाने की अनुमति प्रदान करता है, उसे single tasking operating system कहते हैं। Software क्या होता है?

वही जब आप computer पर एक से ज्यादा कार्य कर पाते हो, या संचालन कर पाते हो, तो उस प्रकार के operating system को multi-tasking operating system कहा जाता है। इस तरह के operating system को दो भागों में बांटा गया है

  1. Cooperative OS
  2. Pre-emptive OS

Single and multiuser operating system

Single user operating system को केवल computer पर एक ही user इस्तेमाल कर सकता है।

वही Multi user operating system को एक साथ कई सारे उपयोगकर्ता user इस्तेमाल कर सकते हैं। एक ही समय में अलग-अलग कंप्यूटर पर काम करना संभव हो पाता है। Software क्या होता है?

Real time operating system

Real time operating system पर आप एक साथ multi-tasking कार्य को कर सकते हैं। रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम अक्सर विशेष समय में algorithm का उपयोग करता है, ताकि एक समय में सारे कामों को किया जा सके।

इसके इस्तेमाल से किसी भी real time मैं होने वाली घटना (event) का तुरंत और उम्मीद के मुताबिक प्रतिक्रिया करना।

Real time operating system में event-driven या time sharing दोनों का मिलाप हो सकता है।Event driven operating सिस्टम घटनाओं को उनकी प्राथमिकता के आधार पर करता है, वही time sharing operating system घटनाओं को एक निश्चित बांटे गए समय (schedule) के अनुसार पूरा करने की कोशिश करता है। अगर कोई घटना एक निश्चित समय में पूरा नहीं हो पाती, तो operating system दूसरे कार्य को करने में सक्षम होता है।

Embedded operating system

इस तरह के operating system किसी एक छोटे machine या computer के लिए छोटे स्तर पर काम करता है। इस चलते इसे embedded operating system कहते हैं। इस तरह के ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण है:- hand watch, washing machine, and other home appliances इत्यादि

काम करने के आधार पर भी operating system के प्रकार को विभाजित किया जाता है

1. Character user interface :-इस तरह के कंप्यूटर में user , computer में character के द्वारा कंप्यूटर को सूचना एवं निर्देश देता है। Example :- Dos and Unix operating system

2. Graphical user interface:- इस तरह के कंप्यूटर में user, computer पर इमेजेस, चित्र (images) के जरिए कंप्यूटर को सूचना एवं निर्देश देता है। उदाहरण:- Windows and Linux operating system.

Utilities software

Utilities software कंप्यूटर के लिए बनाया गया एक ऐसा सॉफ्टवेयर है, जिसकी मदद से कंप्यूटर को analyse, configure, optimise और maintain करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसका उपयोग computer infrastructure को समर्थन करने के लिए किया जाता है। ठीक application software के विपरीत। जिसका मुख्य उद्देश्य उन सारे कामों को करना है, जोकि user को application software चलाने में मदद करती है। Software क्या होता है?

Utilities software से किए जाने वाले कुछ कामों के उदाहरण इस तरह है, जैसे कि batch job, database को अपडेट करने के लिए, user written code को इसकी मदद से अपने कंप्यूटर पर चला सकता है, जो database का backup ले सकता है, files को copy और Store कर सकता है।

ज्यादातर देखा जाता है कि किसी भी operating system पर utilities software, add-on packages के रूप में वितरित किया जाता है। और इसे first party, operating system का ही हिस्सा माना जाता है।

यूटिलिटीज सॉफ्टवेयर के उदाहरण – Example of utilities software

  • Antivirus
  • Clipboard managers
  • Computer access control
  • Debuggers
  • Network utility
  • Package manager
  • System monitor
  • System profiler
  • Diagnostic programs इत्यादि।

Device driver software

इस तरह के software का इस्तेमाल computer के साथ जुड़ने वाले अन्य यंत्रों को control और maintain करना होता है।

उदाहरण :- जैसे कि आप अपने computer पर USB internet adaptor का इस्तेमाल करते हैं, तो इसके लिए विशेष तरह की device driver software की आवश्यकता होती है। उसी तरह से अगर आप USB printer का इस्तेमाल करते हो, तो उसके लिए भी device driver software की आवश्यकता होगी। Software क्या होता है?

यानी कि आप अपने computer पर जब भी external device जैसे कि external USB device, printing machine, external hard disc, external sound box, external internet adaptor etc. का इस्तेमाल करते हैं तो उस समय आपको device driver software की आवश्यकता होती है। जो कंप्यूटर के माध्यम से उस device को control और maintain करने में सहायता प्रदान करता है।

Application software

Application software ऐसे सॉफ्टवेयर होते हैं जोकि कंप्यूटर को कोई specific task करने में मदद पहुंचाते हैं।

उदाहरण के लिए :- जैसे कि आप भी हमारा यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं, तो आप अपने कंप्यूटर पर web browser software का इस्तेमाल करके ऐसा कर पा रहे हैं। यानी कि आप इंटरनेट के माध्यम से web browsing कर रहे हो। यह एक तरह से specific task है। Web browser software की मदद से आप कंप्यूटर को दिशा एवं निर्देश देते हैं।

इसके इसके अलावा भी application application software का इस्तेमाल दूसरे दूसरे अन्य कार्यों को करने के लिए किया जाता है। जैसे कि video and audio files को चलाने के लिए media player software, photo editing के लिए photo editing software, page editing के लिए MS word software इत्यादि। यह सारी चीजें application software के अंदर आती है।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के हमारे इस लेख में हमने आप लोगों को यह बताने की कोशिश की है कि software क्या होता है? What is software in Hindi? सॉफ्टवेयर कैसे काम करता है?

दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारे आज के लेख से कुछ नया जरूर सीखने को मिला होगा। अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई है तो आप इसे social media पर share जरूर करें। हमारे इस लेख में अगर कुछ सुधार की जरूरत है, तो आप हमें comment करके बता सकते हैं। इसके अलावा इससे संबंधित अगर आपकी कुछ सवाल है तो आप हमें comment करके पूछ सकते हैं।

Leave a Reply