रहस्यमय सहारा रेगिस्तान की आंखें

0
828

दुनिया भर में अनेक अजूबे मौजूद है। इनमें से तो ऐसे हैं जिनका रहस्य आज तक विज्ञानिक नहीं सुलझा पाए है। और विज्ञानिक इनके पीछे के रहस्य को अभी भी समझाने की कोशिश कर रहे हैं। रिचाट स्ट्रक्चर भी ऐसे ही एक रहस्य में से एक है।

यह एक अणु की संरचना है जो सहारा रेगिस्तान की ‘रहस्यमई आंखों’ के नाम से जाना जाता है। अफ्रीका महाद्वीप के इस विशालकाय रेगिस्तान के बीचो बीच 30 मील में फैली या एक प्राकृतिक संरचना है। माना जाता है कि इसका निर्माण मिट्टी के खिसकने की वजह से हुआ है। हल्की इसके निर्माण को लेकर के वैज्ञानिकों और कई लोगों के बीच में हमेशा से विवाद रहा है।

कई लोग ऐसा भी मानते हैं कि इस रहस्यमई संरचना के पीछे किसी एलियन प्रजाति का हाथ है। यह एलियन प्रजाति वही हो सकते हैं जिन्होंने मनुष्य के प्राचीन काल में उन्हें अत्याधुनिक चीजें और भी बहुत सारी चीजें सिखाई हो सकती है। इसके अलावा वैज्ञानिक द्वारा कई सारे तथ्य सामने आए हैं जिसमें कहा गया है कि सहारा रेगिस्तान पहले पूरी तरह से समुद्र से ढका हुआ था। लेकिन जैसे-जैसे सहारा रेगिस्तान के इलाके से समुद्र खिसकने लगा या सूखने लगा तो वह धीरे-धीरे रेगिस्तान में बदल गया।

पानी के सिकुड़ने और रेत के बनने से या एक ऐसी आकृति का निर्माण हुआ जो देखने में विशालकाय किसी आंखों की तरह दिखती है। इसी चलते सहारा रेगिस्तान में मौजूद इस संरचना को ‘ सहारा रेगिस्तान की आंखें’ के रूप में संबोधित किया गया है।

यहां तक कि कई लोग यह भी कहते हैं कि यह प्राकृतिक संरचना वाकई में प्रकृति की खूबसूरत नकाशी है। यह प्राकृतिक संरचना आसमान से ही नहीं अंतरिक्ष से भी साफ-साफ नजर आता है। वाकई में सहारा रेगिस्तान में बनाया प्राकृतिक संरचना खूबसूरत होने के साथ-साथ रहस्यमई मानी जाती है। धरती पर इस तरह की आकृति केवल सहारा रेगिस्तान में ही नहीं बल्कि दुनिया के दूसरे इलाकों के हिस्सों में भी देखी गई है, जैसे कि ‘ बेल्जिया का द ग्रेट ब्लू होल‘ आसमान पर देखने पर यह भी एक विशालकाय नीली आंखों की तरह ही दिखता है।

Leave a Reply