भारत में चाव से खाई जाने वाली चीजें विदेशों में है बैन!

हर देश में रहन-सहन और खान-पान में काफी अंतर देखा जाता है, हरे देश के अपने-अपने अलग-अलग कानून भी होते हैं। इसी चलते के खानपान में भी काफी अंतर मिलता है। खानपान की चीजों को लेकर के हर देश में एक अलग तरह का कानून भी है। खानपान की यह कानून इतने अजीबोगरीब है जिन्हें सुन कर के आपको थोड़ा सा अजीब महसूस हो सकता है।

ऐसे तो आमतौर पर हम लोग अपने मनपसंद की चीजें भारत में एक कभी भी कहीं भी खा पी सकते हैं। लेकिन जिन चीजों को भारत में बड़े चाव से खाया जाता है वही बहुत सारी चीजें विदेशों में आपने ही खा सकते, ऐसा इसलिए क्योंकि विदेशों में इन सारी चीजों के ऊपर बैन लगा हुआ है। विदेशों में इन सारी चीजों को आप गलती से भी ना खाएं, नहीं तो आपको भारी जुर्माना देना पड़ सकता है। तो चलिए जानते हैं आज के हमारे इस लेख में ऐसी कौन सी चीज है जो हम अपने देश भारत में बड़े चाव से खाते हैं। लेकिन यह सारी चीजें भी देशों में बैन है।

समोसा

भारतीय लोगों का समोसा सबसे पसंदीदा फूड है समोसे का नाम सुनते ही हमारे मुंह में पानी आ जाता है। जब भी हमारे घर में कोई मेहमान आता है तो फटाफट समोसे तलकर के मेहमान नवाजी का एक अलग ही मजा है। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि कुछ मुस्लिम देशों में समोसे को बैन किया गया है।

जेहादी आतंकवादी संगठन अल शबाब ने इस पर बैन लगाया है, क्योंकि समोसे का आकार त्रिकोण होता है। इसके चलते कई लोग इसे त्रिकोण आकार को ईसाई धर्म का प्रतीक मानते हैं। यही वजह है कि कुछ मुस्लिम देशों में समोसे के ऊपर बैंन लगाया गया है।

बबलगम

भारत भारतीय जैसे देश में जहां लोग बड़े शौक के साथ च्युंगम को चबाना पसंद करते हैं, अब भारत में छोटे से लेकर के बड़े लोगों को बबलगम चबाते हुए देख सकते हैं। लेकिन आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि सिंगापुर जैसे देश में बबलगम चबाना बैन किया गया है।

साल 1992 में यह किसी व्यक्ति ने पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर बबलगम खाकर के चिपका दिया था। जिसके चलते पब्लिक ट्रांसपोर्ट बहुत घंटों तक प्रभावित रहा था। बबलगम सिंगापुर में बैन करने का यह भी कारण है कि, सिंगापुर की सरकार का यह मानना है कि लोग बबलगम खाकर के सड़कों पर जहां-तहां थूक देते हैं जिसके चलते बबलगम जूतों से चिपक कर के सड़कों को गंदा करती है इसी वजह से सिंगापुर में बबलगम को बैन किया गया है।

टोमेटो केचप

फ्रांस अपने खानपान के लिए पूरी दुनिया में बहुत ही मशहूर है, टमाटो केचप किसको पसंद नहीं? फ्रेंच फ्राइज खाने का मजा तो टमैटो केचप के साथी ही आता है। लेकिन फ्रांस की मशहूर डिश फ्रेंच फ्राई को भी केचप के साथ साथ नहीं खाया जाता, असल में फ्रांस में के चोप घोपा किसी भी चीज के साथ नहीं खाया जाता है क्योंकि फ्रांस में केचप पर बैन है। दरअसल 2011 में वह कि गांव में नया का करी सावधान कर दिया था कि क्या चुप काफी मसालेदार होती है।

किंडर जॉय

भारत भारतीय में तो किंडर जॉय की ऐड देखकर की ही, बच्चे किंडर जॉय खाने के लिए परेशान करने लगते हैं। लेकिन बहुत सारे देशों में किंडर जॉय को बैन किया गया है। लेकिन भारत में बच्चों की या एक पसंदीदा चॉकलेट है।

यूनाइटेड स्टेट अमेरिका जैसे देशों में किंडर जॉय पर बैन लगाया गया है। यह कि सरकार का यह मानना है कि यह फूड आइटम प्लास्टिक के अंदर पैक रहते हैं। और यहां की सरकार बच्चों की फूड आइटम्स को लेकर के बाद सावधानी भर्ती है। इस चलते किंडर जॉय को यूनाइटेड स्टेट में ब्रायन किया गया है। वह बच्चों के खानपान की चीजें बहुत सावधानी से पैक होती है।

डेयरी प्रोडक्ट

कनाडा और यूएस के कुछ राज्यों में क्रीम मिल्क और डेयरी प्रोडक्ट पर बैन है, क्योंकि इन प्रोडक्ट में ज्यादा मात्रा में जर्म्स पाए जाते हैं। इस चलते ऐसा माना जाता है कि इन प्रोडक्ट्स को खाने से आपको फ़ूड पोइज़निंग भी हो सकती है। इसी चलते डेयरी प्रोडक्ट्स को बहुत सारे देशों में बैन किया गया है।

मैक्रोनी

नॉर्वे और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में मैक्रोनी के रंग की वजह से उसे बैन किया गया है। क्योंकि इस कलर के फूल को बच्चों के लिए अच्छा नहीं माना जाता, हैरानी की तो बात यह है कि सिर्फ मैक्रोनी ही नहीं हर वह चीज जो इस रंग की है, उन फूड आइटम्स को इन देशों में बैन किया गया है।

what is PayPal in Hindi- PayPal क्या है? PayPal का इस्तेमाल कैसे करें?