NSE – National Stock Exchange का इतिहास

NSE – National Stock Exchange का इतिहास भारत की दूसरी सबसे बड़ी स्टॉक एक्सचेंज के रूप में राष्ट्रीय स्टॉक एक्सचेंज (NSE – National Stock Exchange) को जाना जाता है। BSE स्टॉक एक्सचेंज की तरह ही इसका इतिहास भी काफी पुराना है।

NSE यानी National Stock Exchange की स्थापना वर्ष 1994 में हुई थी। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की स्थापना से पहले भारत में सिक्योरिटी एंड कैपिटल मार्केट दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले काफी पिछड़ा हुआ था, यही वजह है कि हर्षद मेहता स्कैम के बाद में भारतीय स्टॉक एक्सचेंज ने अपनी विश्वसनीयता को भी खो दिया था।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया (National Stock Exchange) भारत में एक अग्रणी स्टॉक एक्सचेंज कंपनी के नाम से जाना जाता है। यह दुनिया भर में दूसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ एक्सचेंज (WFE) एक रिपोर्ट के अनुसार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 9 जून 2018 तक इक्विटी शेयर में काफी बढ़िया कारोबार किया था।

NSE – National Stock Exchange का इतिहास

NSE यानी National Stock Exchange की स्थापना साल 1994 में हुई थी। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने वर्ष 1994 में इलेक्ट्रॉनिक्स स्क्रीन आधारित ट्रेडिंग, इंडेक्स ट्रेडिंग और वर्ष 2000 में इंटरनेट ट्रेडिंग शुरू की, जो भारत में अपनी तरह का पहला उत्पाद था। इसका मुख्यालय मुंबई में स्थित है।

SEBI की रिपोर्ट के अनुसार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने अपनी स्थापना वर्ष वर्ष 1994 के अगले 1 साल के अंदर ही ट्रेडिंग औसत वॉल्यूम के हिसाब से भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज बन गया था।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज वर्ष 1994 से स्क्रीन आधारित ट्रेनिंग की शुरुआत की और भारत में इस तरह की ट्रेडिंग प्लेटफार्म देने वाली पहली स्टॉक एक्सचेंज के रूप में उभरकर के सामने आई थी। इसके साथ ही इस साल 2000 में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में इंडेक्स फ्यूचर की शुरुआत की जो अपने आप में अनूठा था।

NSE – का विकास एक नजर में

क्रम संख्यावर्षविकास
11993NSE की स्थापना
21994Screen based trading की शुरुआत की गई
31996CNX NIFTY 50 INDEX की शुरुआत की गई थी
41996Demat account trading की शुरुआत
52000निफ़्टी 50 के ऊपर आधारित index future trading की शुरुआत
62001Single stock मे future and option की शुरुआत, इसी के साथ ही Nifty 50 पर आधारित इंडेक्स ऑप्शन ट्रेडिंग की भी शुरुआत की गई थी
72010Currency trading की शुरुआत की गई
82015CNX NIFTY का नाम बदलकर के NIFTY 50 कर दिया गया

वर्ष 1992 तक, BSE भारत में सबसे लोकप्रिय स्टॉक एक्सचेंज के रूप में माना जाता था। लेकिन नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की स्थापना 1992 मे होने के बाद याद देश का पहला Dematerialised Stock Exchange के रूप में स्थापित किया गया था। तकनीकी रूप से उन्नत, स्क्रीन आधारित ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म को पेश करने के लिए यह भारत में पहला स्टॉक एक्सचेंज माना जाता है। स्क्रीन आधारित ट्रेडिंग प्लेटफार्म ने भारत में व्यापार में क्रांति ला दी। जल्द ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज भारत में व्यापारियों और निवेशकों का पसंदीदा स्टॉक एक्सचेंज बन गया।