World Environment Day – विश्व पर्यावरण दिवस (5 जून)

1
72

5 June को हर साल विश्व पर्यावरण दिवस के रूप में मनाया जाता है। आज जहां हर तरफ पर्यावरण पर मानव के क्रियाकलापों से हमारे पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंच रहा है।World Environment day पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण के लिए पूरे विश्व में मनाया जाता है। विश्व पर्यावरण दिवस मनाने की घोषणा संयुक्त राष्ट्र अमेरिका ने किया है।

इसका मुख्य उद्देश्य पूरे विश्व में पर्यावरण के प्रति लोगों के बीच में जागरूकता और हमारे पर्यावरण को कैसे बचाया जा सके यह उद्देश्य है।United State (संयुक्त राज्य) द्वारा पर्यावरण दिवस मनाने की घोषणा 5 जून से 16 जून तक संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा आयोजित विश्व पर्यावरण सम्मेलन में चर्चा के बाद शुरू किया गया था।

पर्यावरण दिवस पहली बार 5 जून 1974 को मनाया गया था।हम सभी से एक अभियान की तरह दिखते हैं। विश्व पर्यावरण दिवस एक अभियान है, जो प्रत्येक वर्ष 5 जून को विश्व भर में मनाया जाता है। पर्यावरण में होने वाले प्रदूषण एवं नकारात्मक प्रभाव को रोकने के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जाता है। इस अभियान की शुरुआत करने का उद्देश्य वातावरण की स्थितियां पर ध्यान केंद्रित करने और हमारे ग्रह पृथ्वी को सुरक्षित एवं स्वच्छ रखने के लिए आयोजित किया जाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस का इतिहास – History of Environment Day in Hindi

साल 1972 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा, पर्यावरण को बचाने के लिए एक राष्ट्रीय महासभा की गई थी। जो कि 5 जून से 16 जून तक चला था। इसी दौरान महासभा में पर्यावरण दिवस मनाने की सलाह दी गई थी।

इसके 2 साल बाद यानी कि साल 1974 से हर साल 5 जून को पर्यावरण दिवस मनाने की घोषणा की गई।इस तरह हर साल हम लोग 5 जून को पर्यावरण दिवस मनाते हैं। साल 1987 में इसके केंद्र को बदलते रहने का सुझाव सामने आया और उसके बाद ही इसके आयोजन के लिए अलग-अलग देशों को चुना जाता है। इसमें हर साल 143 से भी ज्यादा देश हिस्सा लेते हैं। इसमें हर साल कई सामाजिक, सरकारी और व्यवसाई लोग पर्यावरण की सुरक्षा, समस्या आदि विषयों पर बहस करते हैं। और हमारी धरती और पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई कदम भी उठाए जाते हैं।

विश्व पर्यावरण दिवस का महत्व – Importance of Environment Day

देखा जाए तो इंसान ने अपनी क्रियाकलापों से हमारे पर्यावरण पर काफी असर डाला है। चारों तरफ प्रदूषण, शोर शराबा यहां तक कि जंगलों को काटना भी शुरू कर दिया है। जिसके चलते जंगलों में रहने वाले जीव मर रहे हैं।

जिसका दुष्प्रभाव हम निकट भविष्य में देख सकते हैं, कई सारे जीव एवं जानवर विलुप्त होने की कगार पर आ पहुंचे हैं। वही कारखानों में अत्यधिक क्रियाकलापों के चलते वायु प्रदूषण तेजी से फैल रहा है। जोकि ग्लोबल वार्मिंग (global warming) का कारक बनता है। ऐसे में हमें लोगों को जागरूक और पर्यावरण को संरक्षित करने के लिए जागरूकता फैलाने की जरूरत पड़ती है।

इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर के पूरे विश्व भर में 5 जून को हर साल पर्यावरण दिवस के रूप में मनाया जाता है। हमारे पर्यावरण को सुधारने हेतु यह दिवस काफी महत्वपूर्ण है जिसमें पूरा विश्व रास्ते में खड़ी चुनौतियों को हल करने का रास्ता निकालता है। लोगों के बीच में पर्यावरण को लेकर जागरूकता फैलाने के उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र (United State) द्वारा संचालित विश्व पर्यावरण दिवस दुनिया का सबसे बड़ा वार्षिक आयोजन है। जिसका मुख्य उद्देश्य केवल और केवल हमारी प्रकृति की रक्षा के लिए लोगों के बीच में अधिक से अधिक जागरूकता फैलाना है।

विश्व पर्यावरण दिवस पर विभिन्न आयोजन आयोजित ही जाने वाली गतिविधियां

5 जून विश्व पर्यावरण दिवस के दिन पूरे देश भर में विभिन्न स्थानों पर पर्यावरण को संरक्षित करने के लिए विभिन्न आयोजन किए जाते हैं। विशेष रूप से स्कूल, कॉलेज और सरकारी कार्यालयों में विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से लोगों तक जागरूकता फैलाने और अधिक से अधिक पेड़ लगाने के लिए जागरूक किया जाता है।

वही स्कूल और कॉलेज में विद्यार्थियों के बीच में जागरूकता फैलाने के लिए विभिन्न प्रकार के प्रतियोगिताओं और कार्यक्रम का आयोजन भी किया जाता है जैसे कि निबंध लेखन, पर्यावरण पर भाषण, शिक्षा, विशेष चर्चा, क्विज कंपटीशन, चित्रकला, प्रदर्शन, सेमिनार संगोष्ठी, कथन लेखन आदि।इसके अलावा 5 जून को हर सरकारी कार्यालय को गंदगी से मुक्त रखने के लिए साफ सफाई के क्रियाकलाप किए जाते हैं।

लोगों के बीच में जाकर के लोगों को पर्यावरण पर प्रदूषण और मानव के द्वारा होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में बताया जाता है। इसके साथ ही ग्रामीण लोगों और शहरी लोगों को अधिक से अधिक पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। ताकि हमारा पर्यावरण सुरक्षित रहे और हम इंसान साथ में धरती पर रहने वाले जीव खुली हवा में सांस ले सके।

Conclusion – निष्कर्ष

हमारे पर्यावरण की स्थिति और प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग के कारण दिन-प्रतिदिन पर्यावरण की स्थिति गिरती जा रही है। बेहतर भविष्य के लिए हमें हमारे देश में पर्यावरण के अनुकूल विकास को बढ़ावा देना चाहिए।

पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए सरकार द्वारा कई कदम भी उठाए गए हैं। हमें पर्यावरण दिवस पर लोगों के बीच जाकर के लोगों को जागरूकता फैलाने का कार्य करना चाहिए। लोगों के बीच में अधिक से अधिक पेड़ लगा कर के पर्यावरण को कैसे बचाया जा सकता है इसके बारे में जानकारी देनी चाहिए।

दोस्तों उम्मीद करता हूं, आज पर्यावरण दिवस (World Environment Day) के मौके पर आपको हमारा यह लेख जरूर पसंद आया होगा। इस लेख को आप social media पर share करके अपने दोस्तों एवं सगे संबंधियों को पर्यावरण दिवस के महत्व के बारे में जानकारी दे सकते हैं। इससे संबंधित अगर आपकी कुछ सवाल है तो आप हमें comment box पर कमेंट करके जरूर बताएं। आपके comment और सुझाव हमारे लिए बहुत जरूरी है, क्योंकि हमारे इस Blog को बनाने के पीछे का कुछ देश आप तक नियमित रूप से अच्छी और ज्ञानवर्धक जानकारियों को उपलब्ध कराना है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here