E-SHRAM Card in Hindi – ई श्रम कार्ड क्या है?

भारत सरकार द्वारा अपने नागरिकों के लिए एक महत्वपूर्ण योजना E-SHRAM ( ई-श्रम ) कार योजना 2023 का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत कोई भी एक भारतीय नागरिक को क्या-क्या लाभ मिलेंगे? इसके साथ ही इससे होने वाले फायदे के बारे में आज के हमारे इस लेख में हम जानकारी लेने वाले हैं।  E-SHRAM Card in Hindi – ई श्रमिक कार्ड क्या है? भारत सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के अंतर्गत देशभर के गरीब मजदूर परिवार को उनकी कौशल के आधार पर रोजगार प्रदान किया जाएगा। इस योजना कल आप कोई भी आम नागरिक किस तरह से उठा सकता है इस बारे में हम अपने इस लेख में विस्तृत चर्चा करने वाले हैं।

What is E-SHRAM Card? ई- श्रम कार्ड क्या है?

भारतीय केंद्र सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना की शुरुआत भारत सरकार द्वारा साल 2023 में की गई है। इस योजना के अंतर्गत देशभर के गरीब मजदूर परिवार को उनकी कौशल के आधार पर रोजगार प्रदान किया जाएगा। E-SHRAM Card ई- श्रम कार्ड बनवाने के लिए कोई भी भारतीय नागरिक जिसकी उम्र 16 वर्ष से 59 वर्ष तक की हो अपने लिए यह कार्ड बनवा सकता है या इसके लिए आवेदन दे सकता है।

देशभर के असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों के उत्थान के लिए भारत की राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने मिलकर के इस योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत कामगारों के बच्चे की शिक्षा, उनके पुत्रों की विवाह से लेकर के इलाज तक के लिए इसके अंतर्गत योजनाएं है। असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों के लिए सरकार की ओर से पंजीकरण के बाद ई श्रम कार्ड जारी किया जाता है।

कुछ भारतीय नागरिक जो इस कार्ड के लिए योग्यता रखता है वह कामगार या मजदूर है उसे ई श्रम कार्ड प्राप्त करने के लिए सरकार की आधिकारिक वेबसाइट eshram.gov.in पर जाकर के रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके अलावा आप प्रज्ञा केंद्र पर जाकर के इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

E-SHRAM Card के अंतर्गत मिलने वाले लाभ

जैसा कि हमने पहले ही इस बारे में आप सभी लोगों को बताया है कि यह योजना सरकार द्वारा चलाई जा रही है। इस योजना के अंतर्गत कोई भी योग्यता धारी कामगार या मजदूर अगर अपना रजिस्ट्रेशन करवाता है तो उसे कई सारे लाभ मिलते हैं।

इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए कामगारों या लोगों के पास कुछ जरूरी दस्तावेजों का होना भी जरूरी होता है। इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए आपके पास में आपका आधार कार्ड, आपके आधार कार्ड से लिंक हुआ मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट नंबर जोकि आधार से जुड़ा हुआ हो, इत्यादि चीजें होनी चाहिए।

अगर आपके पास में यह सारी चीजें पहले से है तो आप बड़ी आसानी से ई श्रम कार्ड के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन और कार्ड प्राप्त करना काफी आसान है। ग्राहक खुद से अपने लिए यह कार्ड बनवाना चाहते हैं तो आपको इसके आधिकारिक वेबसाइट पर क्या करके यहां पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके अलावा आप प्रज्ञा केंद्र या CSS केंद्र पर जाकर के भी रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। असंगठित क्षेत्र के कामगारों और श्रमिकों के हित के लिए केंद्र सरकार ने यह पोर्टल बनाया है। इस योजना में पंजीकृत श्रमिकों को 60 वर्ष पूरे होने पर पेंशन के रूप में हर महीने ₹3000 की आर्थिक मदद दी जाएगी।

एक बार E-SHRAM पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवा लेने के बाद आपको ई- श्रम कार्ड इलेक्ट्रॉनिक रूप से जारी कर दिया जाएगा। जिसके माध्यम से आप इन योजनाओं का लाभ उठा पाएंगे। इस कार्ड के अंतर्गत आपको 12 अंकों वाला एक श्रमिक कार्ड दिया जाता है जो श्रमिक की पहचान एवं वह किस तरह का कार्य करता है यह उस पर उल्लेख होता है।

ई- श्रम कार्ड के अंतर्गत मिलने वाले फायदे

यह सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजना है। इसके अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करने वाले कामगारों एवं मजदूरों को कई तरह के फायदे मिलते हैं। जिसे हम निम्नलिखित नीचे दिए गए बिंदुओं द्वारा बता रहे हैं।

  • मजदूरों और कामगारों द्वारा इस पोर्टल के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाने पर अगर किसी दुर्घटना पर काम करते वक्त उनकी मृत्यु हो जाती है तो ₹2 लाख रुपए दिए जाएंगे।
  • यदि दुर्घटना में मजदूर या कामगार को आंशिक रूप से विकलांगता होती है तो उसे मात्र ₹100000 की आर्थिक मदद दी जाएगी।
  • इस कार्ड के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन कराने वाले व्यक्ति को ₹200000 तक की दुर्घटना बीमा भी की जाती है।
  • इसके अंतर्गत रजिस्ट्रेशन कराने वाले व्यक्ति को UAN नंबर दिया जाता है जिससे कि वह सरकारी योजनाओं का लाभ आसानी से उठा सकता है।

जब भी सरकार द्वारा किसी योजना को जारी किया जाता है तो इसका मकसद होता है कि वह लोगों को ज्यादा से ज्यादा फायदा पहुंचा सके। यह है कि इस योजना के अंतर्गत आपको और भी बहुत सारे फायदे मिलते हैं। अगर आप भी एक ऐसे व्यक्ति है जो असंगठित क्षेत्र के मजदूरों कामगार है तो आपको इस योजना का लाभ जरूर उठाना चाहिए।

  • अगर आप इस योजना के अंतर्गत अपना रजिस्ट्रेशन करवाते हैं तो आप इस योजना के अंतर्गत मिलने वाले लाभ का लाभ तो उठाते ही हैं साथी ही साथ आपको कई सारे सरकारी लाभ भी प्राप्त होते हैं।
  • ई श्रम कार्ड पर 12 अंकों का एक यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर होता है। यह नंबर ठीक उसी तरह का होता है जिस तरह पर नंबर आपके आधार कार्ड पर होगा।
  • इस कार्ड के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाने पर आपको पीएम सुरक्षा बीमा योजना के तहत 1 साल तक सरकार इसका प्रीमियम भरेगी।
  • भविष्य में यदि सरकार अपने कर्मचारियों के लिए कोई योजना लेकर आती है तो इसका सीधा लाभ मजदूरों और कामगारों को दिया जाएगा जिन्होंने इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाया है।
  • नए और बेहतर रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।
  • भविष्य में अगर किसी भी आपदा के चलते असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों को कोई आर्थिक लाभ देना चाहेगी तो इसमें रजिस्ट्रेशन किए गए मजदूरों के डाटा के आधार पर मजदूरों को मदद दी जाएगी।
  • अगर आपने इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाया है तो आपको प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के लिए भी आप आवेदन कर सकते हैं।
  • बच्चों को छात्रवृत्ति का लाभ अगर कोई व्यक्ति असंगठित क्षेत्र में काम करता है और उसने श्रम कार्ड बनवाया है तो इसका लाभ उसके बच्चों को छात्रवृत्ति आवंटित करने में भी की जाएगी।
  • वर्तमान समय में सभी लोगों को एक समान मात्रा में राशन मिलता है चाहे वह असंगठित क्षेत्र में काम करता हो या नहीं लेकिन ई श्रम कार्ड के डाटा के आधार पर अन्य लोगों की तुलना में असंगठित क्षेत्र में मजदूरी करने वाले लोगों को शायद अधिक मात्रा में राशन मिल सकता है।
  • भारत जैसे देश में जहां दिहाड़ी मजदूरी करने वाले लोगों की संख्या अधिक है उनके पास रहने को घर नहीं है। ऐसी स्थिति में ऐसा हो सकता है कि जिन लोगों ने इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाया है उनको पीएम आवास योजना के अंतर्गत मकान दिए जा सकते हैं।

ई श्रम कार्ड के लिए कैसे आवेदन करें?

जैसा कि हमने पहले ही ऊपर आप सभी लोगों को इस बारे में जानकारी दी है कि यह भारत सरकार द्वारा लाई गई एक योजना है। इसके अंतर्गत कोई भी भारत का निवासी जो असंगठित क्षेत्र में मजदूरी या काम करता है वह इसके अंतर्गत अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकता है। इसके अलावा भी कुछ अन्य योग्यता है जिसे ध्यान में रखते हुए भारत का नागरिक इस पोर्टल के जरिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

  • ऐसे व्यक्ति अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं जो असंगठित क्षेत्र में मजदूरी या कामगार है।
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति की उम्र 16 वर्ष से 59 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि यह योजना उन लोगों के लिए है जो असंगठित क्षेत्र में मजदूरी या काम करते हैं। इस चलते गरीब तबके या दिहाडी करने वाले असंगठित मजदूर को इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाना है। अगर आप इनकम टैक्स भरते हैं तो आप इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं।
  • यह भी ध्यान रखें कि अगर कोई आवेदक EPFO और ESIC की सेवा लेता है तो वह भी इसमें रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए योग्य नहीं होगा।

ई श्रमिक कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें?

जैसा कि हमने बताया कि यह एक भारत सरकार द्वारा शुरू की गई योजना है। इस योजना के अंतर्गत असंगठित क्षेत्र के गरीब तबके के मजदूर जो दिहाड़ी करते हुए आवेदन दे सकते हैं। इसके अलावा किसान और ऐसे व्यक्ति जो इनकम टैक्स देने योग्य ना हो वह भी आवेदन कर सकते हैं।

यह एक ऑनलाइन पोर्टल है जहां पर आप जा कर के अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए आपके पास में निम्नलिखित दस्तावेज होना जरूरी है।

  • आधार कार्ड
  • आधार कार्ड से जुड़ा हुआ मोबाइल नंबर
  • बैंक अकाउंट नंबर जो कि आप के आधार कार्ड के साथ लिंक हो।
  • ध्यान रहे इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि सीधे DBT ( डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) के अंतर्गत लाभार्थी के खाते में जाएगी। इसलिए अपने बैंक अकाउंट नंबर को अपने आधार कार्ड से जरूर लिंक करवा ले।

अगर आपके पास में ही है सारे डॉक्यूमेंट मौजूद है तो आप इसके ऑनलाइन पोर्टल ehram.gov.in पर जाकर के अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। सरकार द्वारा यह सुविधा खुद रजिस्ट्रेशन या प्रज्ञा केंद्र पर जाकर के आप इसके लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। इसमें रजिस्ट्रेशन करना काफी आसान है एक बार रजिस्ट्रेशन हो जाने के बाद आपको 12 अंकों का रजिस्ट्रेशन नंबर ई श्रमिक कार्ड जारी कर दिया जाएगा।

निष्कर्ष

आज के हमारे इस लेख में हमने आप सभी लोगों को इस बारे में जानकारी उपलब्ध कराई है कि, E-SHRAM Card in Hindi – ई श्रमिक कार्ड क्या है? इसके अंतर्गत कोई भी असंगठित क्षेत्र पर काम करने वाला मजदूर या कामगार रजिस्ट्रेशन करवा करके इस योजना का लाभ उठा सकता है। इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवाने पर मजदूरों को सरकार की तरफ से कई सारे लाभ दिया जाते हैं।

इससे संबंधित अगर आप के कुछ सवाल एवं सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स पर कमेंट करके बता सकते हैं। हम यह कोशिश करेंगे कि आप के सभी सवालों का जवाब दे सके। अगर आपको हमारा या लेख पसंद आया तो आप इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले ताकि आप सभी को जागरूक कर सके।

Sharing Is Caring:

दोस्तों में, facttechno.in का संस्थापक हूं। मैं अपनी इस ब्लॉग पर टेक्नोलॉजी और अन्य दूसरे विषयों पर लेख लिखता हूं। मुझे लिखने का बहुत शौक है और हमेशा से नई जानकारी इकट्ठा करना अच्छा लगता है। मैंने M.sc (Physics) से डिग्री हासिल की है। वर्तमान समय में मैं एक बैंकर हूं।

राजा राममोहन राय

राजा राममोहन राय

राजा राममोहन राय भारतीय समाज सुधारक, विद्वान, और समाजशास्त्री थे। वे 19वीं सदी के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यमी और समाज सुधारक थे। उन्होंने समाज में अंधविश्वास, बलात्कार, सती प्रथा, और दाह-संस्कार…

महर्षि दयानंद सरस्वती

महर्षि दयानंद सरस्वती की जीवनी

महर्षि दयानंद सरस्वती, जिन्हें स्वामी दयानंद सरस्वती के नाम से भी जाना जाता है, 19वीं सदी के महान धार्मिक और समाज सुधारक थे। उन्होंने आर्य समाज की स्थापना की, जो…

एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी

एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी

ए. पी. जे. अब्दुल कलाम, भारतीय राष्ट्रपति और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के पूर्व अध्यक्ष के रूप में प्रसिद्ध थे। उनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम…

डॉ भीमराव आंबेडकर जीवनी

डॉ भीमराव आंबेडकर जीवनी

डॉ. भीमराव आंबेडकर, भारतीय संविधान निर्माता, समाजसेवी और अधिकारिक हुए। उनका जन्म 14 अप्रैल 1891 को महाराष्ट्र के एक दलित परिवार में हुआ था। उन्होंने अपने जीवन में अनेक क्षेत्रों…

कालिदास का जीवन परिचय

कालिदास का जीवन परिचय

कालिदास भारतीय साहित्य का एक प्रमुख नाम है जिन्हें संस्कृत का महाकवि माना जाता है। उनका जन्म और जीवनकाल निश्चित रूप से नहीं पता है, लेकिन वे आधुनिक वास्तुगामी मतानुसार…

तुलसीदास की जीवनी

तुलसीदास का जीवन परिचय

संत तुलसीदास एक महान हिंदी साहित्यकार और संत थे, जिन्होंने अपनी शान्त और उदार व्यक्तित्व से भारतीय समाज में गहरा प्रभाव डाला। उन्होंने अपनी कविताओं के माध्यम से धार्मिक और…

Leave a Comment