प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY) क्या है?

0
169

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (Pradhan mantri garib kalyan yojana) यानी कि PMGKY के बारे में आपने तो जरूर सुना होगा। यह योजना साल 2020 में शुरू की गई थी। इस योजना के तहत हर साल किसानों को ₹6000 मिलेंगे, इसके तहत पहले ही किसानों और मनरेगा मजदूरों को उनके खातों में ₹2000 दिए जा चुके हैं। माना जा रहा है कि इस योजना के तहत लगभग 8.69 करोड़ किसानों को तुरंत लाभ मिलेगा। अगर आप भी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ उठाना चाहते हैं। या आप प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लाभार्थी कैसे बन सकते हैं? इस बारे में हम अपने इस लेख में आपको विस्तार से बताएंगे? आपको यह भी जानना जरूरी है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना क्या है?

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत किन-किन लोगों को लाभ मिल सकता है। अगर आप किसान या फिर मनरेगा मजदूर है। तो, आप इसका फायदा कैसे उठा सकते हैं? इस बारे में भी हम चर्चा करेंगे। इसके अलावा आप प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लिए कैसे आवेदन दे सकते हैं? इसके बारे में भी आपको बताने वाले हैं।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY) क्या है?

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY) की शुरुआत भारत के केंद्र सरकार द्वारा 26 मार्च 2020 को 21 दिनों के लोग डाउन को ध्यान में रखते हुए गरीब जनता को कोई समस्या ना आए इसके लिए आरंभ किया गया था। प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए हमारे वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमन ने विभिन्न प्रकार की योजनाओं को प्रधानमंत्री जन कल्याण योजना के अंतर्गत आरंभ करने की घोषणा की थी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत लगभग 1.70 करोड रुपए की धनराशि आवंटित की गई थी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना कल आप 80 करोड़ लोग को दिया जाने की घोषणा भी की गई थी। अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं। या, फिर आपको इससे संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारी द्वारा लिखी गई इस आर्टिकल को ध्यान पूर्वक पढ़ सकते हैं।

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोविड-19 के दूसरे चरण से ठीक पहले 30 जून 2020 को देश को संबोधित करते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की घोषणा की थी। इस घोषणा के अंतर्गत हमारे देश के प्रधानमंत्री जी के द्वारा इस योजना को आगे नवंबर तक बढ़ाने का ऐलान कर दिया गया है। प्रधानमंत्री जी ने कहा है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत देश के 80 करोड़ लोगों को नवंबर महीने तक यानी कि 5 महीनों तक 5 किलो गेहूं, 5 किलो चावल मुफ्त में आवंटित सरकार द्वारा किया जाएगा। इसके साथ ही देश के प्रत्येक गरीब परिवार को हर महीने 1 किलो चना भी मुफ्त दिया जाएगा। इस योजना के नवंबर तक विस्तार में 90000 करोड़ों पैसे ज्यादा खर्च होंगे। प्रधानमंत्री ने कहा है कि पहले 3 महीनों का बजट मिला करके यह करीब 1.5 लाख करोड़ रुपए हो जाता है।

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने इस योजना के तहत प्रोत्साहन सहायता को आगे बढ़ाते हुए पीएम गरीब कल्याण योजना के तीसरे फेज को शुरू करने की बात भी कही थी। कोरोनावायरस के चलते भारतीय अर्थव्यवस्था आर्थिक मंदी से गुजर रही है। इससे निपटने के लिए सरकार इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा तीसरा प्रोत्साहन पैकेज लाने की तैयारी की जा रही है। सरकार द्वारा विभिन्न मीडिया पर दी गई जानकारी के अनुसार गरीब लोगों को अगले साल मार्च तक फ्री में अनाज उपलब्ध कराया जाएगा। केंद्र सरकार सामाजिक सुरक्षा के लिए इस योजना की अवधि को बढ़ाने का योजना बना रही है। इसके अंतर्गत क्या ट्रांसफर स्कीम को भी शामिल किया जा सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक तीसरा प्रोत्साहन पैकेज में सरकार 20 करोड़ जनधन खातों और तीन करोड़ गरीब वृद्ध जनों, विधवा, विकलांग को कैश यानी पैसे ट्रांसफर किए जा सकते हैं।

जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि इस योजना के अंतर्गत देश के सभी गरीब राशन कार्ड धारकों के परिवार वालों को सरकार द्वारा नवंबर तक 5 किलो गेहूं या 5 किलो चावल मुफ्त में दिया जाएगा। तो आपको यह बता दे कि इन 5 महीनों के लिए सरकार द्वारा 201 लाख टन का अनाज आवंटित किया गया है और इनमें से राज्यों द्वारा भी अनाज आवंटित किया गया है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ लेने के लिए ईसीआर आवश्यक है।

पूरे भारत में कई सारे संस्थान ऐसे हैं जिन्होंने इसके लिए डिक्लेरेशन यानी कि घोषणा पत्र भरा है लेकिन काफी सारे संस्थान ऐसे ही भी है जिन्होंने अभी तक ईसीआर जमा नहीं कराया है। जिसकी वजह से उन्हें एक गरीब कल्याण योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। वे सभी संस्थान जिन्होंने ईसीआर अभी तक जमा नहीं की है वह जल्द से जल्द ईसीआर जमा करके इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

वे सभी सदस्य जिन्होंने इस योजना के लागू होने से पहले ही ईसीआर घोषणा पत्र भरा है उन्हें भी इस योजना का लाभ मिलेगा। इसी के साथ ही कई सारे ऐसे सदस्य भी हैं जिन्होंने अपना आधार केवाईसी अपडेट नहीं किया है। विभाग द्वारा ऐसे सदस्यों से संपर्क करके अपना आधार अपडेट करने की जानकारी दी जा रही है। कृपया वह सभी सदस्य चुने आधार केवाईसी अपडेट ना होने की वजह से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है वह जल्द से जल्द अपना आधार केवाईसी अपडेट करवाएं और इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कोविड-19 ने वैश्विक महामारी के चलते केंद्र सरकार ने इपीएफ अधिनियम 1952 के अंतर्गत सभी वर्गों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना और आत्मनिर्भर भारत योजना कल आप देने की घोषणा की गई थी। इस योजना के अंतर्गत ईपीएफ तथा ईपीएस योगदान का वाहन केंद्र सरकार करेगी। यदि आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको अपने एंपलॉयर्स की ईसीआर कर्मचारी भविष्य निधि कल्याण में जमा करना अनिवार्य होगा। इस योजना के अंतर्गत 1.8 लाख करोड़ को लाभ पहुंचेगा। इस योजना के अंतर्गत जून माह में 6 करोड़ 98 लाख तथा जुलाई माह में 5 करोड़ 60 लाख रुपयों का भुगतान लाभार्थी को दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का आरंभ कोरोनावायरस के कारण किया गया था। यानी कि साल 2020 में, इस योजना का आरंभ 26 मार्च 2020 से 30 जून 2020 तक कोविड-19 लॉकडाउन के चलते प्रतिमा 800000000 गरीब परिवार को मुफ्त में 5 किलो राशन ( चावल या फिर गेहूं) तथा एक मुफ्त में 5 किलो राशन दाल दिन की घोषणा की गई थी। यह राशन निशुल्क प्रदान किया जाएगा इस योजना के अंतर्गत खाद आपूर्ति मंत्रालय के मुताबिक अप्रैल तथा मई महीने में 75 करोड़ गरीब लोगों को तथा जून के महीने में 73 करोड़ गरीबों को मुफ्त राशन आवंटित किया गया था। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए ₹90000 की धनराशि निर्धारित की गई है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

साल 2020 में 12 मई को हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 20 लाख करोड़ रुपए के आतंक निर्भर भारत पैकेज की घोषणा की गई थी। इसी साल आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत पहले और दूसरे फेज की भी घोषणा की गई है। इस घोषणा के अंतर्गत प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत देश के दिन प्रवासी मजदूरों के पास अपना राशन कार्ड नहीं है। फोन मजदूर परिवारों को अब 5 केजी चावल या गेहूं और एक केजी चना दाल मुफ्त उपलब्ध कराया जाएगा। इससे देश के करीब 8 करोड़ पर वासियों को फायदा होगा। इस पर करीब 3500 करोड रुपए खर्च होंगे। इस योजना के तहत 3500 करोड़ का खर्च केंद्र सरकार उठाएगी।

गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत स्थानांतरित धनराशि का भुगतान

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत लाभार्थी के खाते में सीमित समय के अंतर्गत धनराशि स्थानांतरित कर दी जाएगी। अभी तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत डिजिटल पेमेंट के माध्यम से जनधन खातों तुम में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत पैसों का स्थानांतरण किया जा चुका है। इसमें उज्वला योजना, पीएम किसान योजना, और अन्य योजनाएं भी शामिल है। केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत 28256 करोड़ रुपए की धनराशि लाभार्थी की प्रदान की जानी है इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा तीन किस्तों में यानी माह अप्रैल, माई और जून में लाभार्थी के खाते में धनराशि स्थानांतरित की जाएगी।

इस योजना के अंतर्गत देश के गरीब परिवार के हर सदस्य को 5 किलो गेहूं या चावल मुफ्त दिया जा रहा है 1 किलो चने की दाल साथ में मुफ्त में दी जाएगी। इसे प्रति माह हर परिवार को दिया जाता है। अब तक इसके साथ अप्रैल में 93%, मई में 91% और जून में 71% लाभार्थियों को अनाज दिया जा चुका है। इसके लिए राज्यों ने अब तक 116 लाख मैट्रिक टन अनाज केंद्र सरकार से लिया है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ कैसे लें?

अगर आप भी चाहते हैं कि आप प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ उठा सकें। तो इसके लिए आपके पास में राशन कार्ड बीपीएल, एपीएल कार्ड होना अनिवार्य है। जैसे कि बहुत से ऐसे लोग हैं जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और मेहनत मजदूरी से अपना जीवन यापन कर रहे हैं मगर कोविड-19 के कहर की वजह से पूरे देश में 21 दिनों का लोक डाउन कर दिया गया था जिससे गरीब लोग अपने काम पर नहीं जा पा रहे थे और उन्हें खाने-पीने में दिक्कत हो रही थी। इसी समस्या को देखते हुए प्रधानमंत्री जी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की घोषणा की थी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के कुछ मुख्य एवं विशेष बातें

  • इसके अंतर्गत राशन कार्ड धारक जो भारत में लगभग 80 करोड लोगों के पास है उन्हें अतिरिक्त रूप से 5 किलो राशन दिया जाएगा।
  • कोविड-19 के दौरान कोरोना योद्धा जो सरकारी कर्मचारी जैसे कि डॉक्टर, नर्स, स्टाफ इत्यादि शामिल है उन्हें 50 लाख रुपए तक की बीमा दी जाएगी।
  • किसान पीएम किसान योजना में पंजीकृत किसान को ₹2000 अप्रैल प्रथम सप्ताह में दिया जाएगा।
  • जनधन खाता धारकों को ₹500 अगले 3 महीने तक दिए जाएंगे।
  • विदुर, गरीब नागरिक, विकलांग, वरिष्ठ नागरिक को ₹1000 अगले 3 महीने तक दिया जाएगा।
  • इसका लाभ उन लोगों को भी मिलेगा जिन्होंने उज्जवला योजना के अंतर्गत गैस सिलेंडर लिया है। इसके तहत अगले 3 महीने तक सिलेंडर फ्री दिया जाएगा।
  • स्वयं सहायता समूह को 1000000 का अतिरिक्त ऋण मिलेगा।
  • इपीएफ अगले 3 महीनों के लिए सरकार द्वारा 24% ( 12%+ 12%) भुगतान किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here