Setup Nginx Virtual Host Hindi

आज के हमारे इस लेख में हम इस बारे में जानकारी लेंगे कि आप किस तरह से Nginx Server पर वर्चुअल होस्ट को सेटअप कर सकते हैं। Nginx Server को एक सरवर और आईपी एड्रेस पर कई डोमेन को संभालने के लिए डिजाइन किया गया है। वर्चुअल होस्ट या सुविधा प्रदान करते हैं। इस टुटोरिअल में हम Nginx Virtual host एक Ubuntu 20.04 वेब सर्वर पर इंस्टॉल करने वाले हैं। आज हमारा यह ट्यूटोरियल Setup Nginx Virtual Host Hindi के ऊपर होने वाला है।।

Setup Nginx Virtual Host Hindi – Nginx वर्चुअल होस्ट कैसे बनाएं?

जैसा कि हमने ऊपर आप सभी लोगों को इस बारे में जानकारी दी है कि , Nginx Server को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि आप एक से अधिक वेबसाइट के लिए यहां पर वर्चुअल होस्ट स्थापित कर सकते हैं। इसी लचीलापन की वजह से बहुत सारे लोग Nginx Server का इस्तेमाल प्रोक्सी सर्वर के तौर पर करते हैं। अगर आपको यह जानना है कि आप किस तरह से Nginx Proxy Server स्थापित कर पाएंगे। इसके लिए आप हमारा यह आर्टिकल नीचे दिए गए लिंक से पढ़ सकते हैं।

सबसे पहले आपको अपने Ubuntu Server पर Nginx Server Pakage को इंस्टॉल करना होगा। इसके लिए आप अपने टर्मिनल पर यह कमांड डालेंगे।

apt install nginx

एक बार जब आपके ubuntu Server पर Nginx इंस्टॉल हो जाएगा तो आप आगे इसका वर्चुअल होस्ट फाइल बनाने के लिए तैयार हैं। आगे बढ़ने से पहले मैं आपको यह बता देना चाहता हूं कि, Nginx. वर्चुअल होस्ट के लिए सभी कंफीग्रेशन फाइल /etc/nginx/sites-availabe/ फोल्डर पर संग्रहित होती है। आप इस सर्वर पर प्रत्येक वेबसाइट के लिए अलग-अलग फाइल बना सकते हैं। यह सबसे अच्छा तरीका है। चलिए, हम यह मान लेते हैं कि आपके पास में एक डोमेन example.com है। हम अपने वर्चुअल प्राइवेट सर्वर पर इसी डोमेन नेम के लिए एक वर्चुअल होस्ट की कंफीग्रेशन करेंगे।

Virtual host के लिए सबसे पहले हम इंजन एक्स के डिफॉल्ट साइट पर एक इस डोमेन नाम के साथ वर्चुअल होस्ट बनाने की तैयारी करेंगे। इसके लिए हम अपने टर्मिनल पर या कमांड डालेंगे।

nano /etc/nginx/sites-availabe/example.com

Virtual host के लिए आप अपने Nginx Server पर इस फाइल को एडिट करेंगे। इसके बाद आपको निम्नलिखित कोड को अपने Virtual host पर डालना है।

server {
listen 80; # Specify the listening port
listen [::]:80; # The same thing for IPv6
root /var/www/domain-name.com/html; # The path to the website files
index index.html index.htm; # Files to display if only the domain name is specified in the address
server_name domain-name.com; # Domain name of this site
location / {
try_files $uri $uri/ =404;
}
}

इस फाइल को एडिट करने के बाद आप इसे save कर देंगे। अब अपने वेबसाइट के लिए एक फोल्डर बनाएंगे और उसकी फाइल वहां रख देंगे।

mkdir -p /var/www/domain-name.com/html

इसके बाद आपको अपने फोल्डर के लिए परमिशन सेट करने की जरूरत है। इसके लिए, आपको अपने टर्मिनल पर यह कमांड डालने की जरूरत है।

chmod -R 755 /var/www

Nginx Virtual को Enable करें

आपने जो अभी वर्चुअल होस्ट बनाया है उसे अब enable करने की जरूरत है। Site को Enable करने के लिए आपको निर्देशिका में कंफीग्रेशन के लिए एक संकेतिक लिंक बनाने की जरूरत पड़ती है। इसके लिए आप यह कमांड डाल कर के कर सकते हैं।

ln -s /etc/nginx/sites-available/domain-name.com /etc/nginx/sites-enabled/

आपने सभी कंफीग्रेशन सही से किया है, यह नहीं यह जानने के लिए आप अपने कंफीग्रेशन की जांच कर सकते हैं। इसके लिए आप यह कमांड डाल कर के देख सकते हैं।

nginx -t

अगर किसी भी तरह की कोई भी त्रुटि नहीं आती है तो आप Nginx Server को नीचे दिए गए कमांड को डाल करके पुनः रीस्टार्ट कर सकते हैं।

systemctl restart nginx

अब आपको अपने Domain Name को आपके वर्चुअल प्राइवेट सर्वर के आईपी ऐड्रेस को पॉइंट करना होगा। अगर आपने सभी चीजें सही तरीके से कंफीग्रेशन की है तो DNS सरवर भी ठीक से कंफीग्रर हुआ है तो आप अपने वेबसाइट को एक्सेस कर पाएंगे।

Nginx Virtual host को अपने सर्वर से कैसे हटाए या disable करें?

अपने सर्वर पर मौजूद वर्चुअल होस्ट को डिसेबल करने के लिए आपको अपने वेबसाइट को डिसएबल करने की जरूरत है। इसके लिए आपको enable -site फोल्डर से संकेतिक लिंक को हटाना होगा। आप बस डिफॉल्ट कंफीग्रेशन के लिंक को हटा सकते हैं। इसके लिए आप या कमांड अपने टर्मिनल पर डालेंगे।

rm /etc/nginx/sites-enabled/default

अपने Nginx Server को पुनः रीस्टार्ट करने के लिए आपको अपने टर्मिनल पर या कमांड डालने की जरूरत है।

systemctl restart nginx

इस तरह से आप अपनी जरूरत के हिसाब से अपने वर्चुअल प्राइवेट सर्वर पर Nginx Virtual host बना सकते हैं। आप एक से अधिक वेबसाइट को अपने Nginx Server के साथ जोड़ सकते हैं।

निष्कर्ष

आज के हमारे इस लेख में आपने क्या सीखा? आज के हमारे इस लेख में हमने आप सभी लोगों को इस बारे में जानकारी उपलब्ध कराई है कि आप किस तरह से Ubuntu 20.04 Nginx Server पर Virtual host बना पाएंगे। Setup Nginx Virtual Host Hindi।

एक बार आप भी कोशिश करके देखिए। इसके बावजूद भी अगर आपको किसी भी तरह की कोई दिक्कत आती है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। हम यह कोशिश करेंगे कि आप के सभी सवालों के जवाब दे सके।

Sharing Is Caring:

दोस्तों में, facttechno.in का संस्थापक हूं। मैं अपनी इस ब्लॉग पर टेक्नोलॉजी और अन्य दूसरे विषयों पर लेख लिखता हूं। मुझे लिखने का बहुत शौक है और हमेशा से नई जानकारी इकट्ठा करना अच्छा लगता है। मैंने M.sc (Physics) से डिग्री हासिल की है। वर्तमान समय में मैं एक बैंकर हूं।

राजा राममोहन राय

राजा राममोहन राय

राजा राममोहन राय भारतीय समाज सुधारक, विद्वान, और समाजशास्त्री थे। वे 19वीं सदी के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यमी और समाज सुधारक थे। उन्होंने समाज में अंधविश्वास, बलात्कार, सती प्रथा, और दाह-संस्कार…

महर्षि दयानंद सरस्वती

महर्षि दयानंद सरस्वती की जीवनी

महर्षि दयानंद सरस्वती, जिन्हें स्वामी दयानंद सरस्वती के नाम से भी जाना जाता है, 19वीं सदी के महान धार्मिक और समाज सुधारक थे। उन्होंने आर्य समाज की स्थापना की, जो…

एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी

एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी

ए. पी. जे. अब्दुल कलाम, भारतीय राष्ट्रपति और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के पूर्व अध्यक्ष के रूप में प्रसिद्ध थे। उनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम…

डॉ भीमराव आंबेडकर जीवनी

डॉ भीमराव आंबेडकर जीवनी

डॉ. भीमराव आंबेडकर, भारतीय संविधान निर्माता, समाजसेवी और अधिकारिक हुए। उनका जन्म 14 अप्रैल 1891 को महाराष्ट्र के एक दलित परिवार में हुआ था। उन्होंने अपने जीवन में अनेक क्षेत्रों…

कालिदास का जीवन परिचय

कालिदास का जीवन परिचय

कालिदास भारतीय साहित्य का एक प्रमुख नाम है जिन्हें संस्कृत का महाकवि माना जाता है। उनका जन्म और जीवनकाल निश्चित रूप से नहीं पता है, लेकिन वे आधुनिक वास्तुगामी मतानुसार…

तुलसीदास की जीवनी

तुलसीदास का जीवन परिचय

संत तुलसीदास एक महान हिंदी साहित्यकार और संत थे, जिन्होंने अपनी शान्त और उदार व्यक्तित्व से भारतीय समाज में गहरा प्रभाव डाला। उन्होंने अपनी कविताओं के माध्यम से धार्मिक और…

Leave a Comment