CDN क्या है? इसका इस्तेमाल Website की स्पीड बढ़ाने के लिए कैसे किया जाए?

1
197

अगर आप internet का इस्तेमाल करते हैं तो आपने कई बार या शब्द सुना होगा। CDN यहां तक कि बहुत सारे लोग अपनी website/blog की स्पीड बढ़ाने के लिए CDN का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।

वहीं अगर आपने अपने वेबसाइट या ब्लॉक की स्पीड चेक करने के लिए Gtmetrix का इस्तेमाल किया होगा तो इसमें भी कई बार अपनी website/blog की गति बढ़ाने के लिए CDN का इस्तेमाल करने के लिए कहा जाता है।

लेकिन क्या आपको पता है? CDN क्या है? इसका इस्तेमाल आप किस तरह से अपने वेबसाइट पर कर सकते हैं? और किसी भी वेबसाइट के लिए CDN क्यों जरूरी होती है? What is CDN in Hindi.

दोस्तों आज के हमारे इस लेख पर हम लोग CDN से संबंधित जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं। क्योंकि, अगर आप एक blogger है तो आपको बहुत सारी जानकारियां रखनी पड़ती है। सीडीएन का इस्तेमाल आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट में कैसे करेंगे इसके बारे में हम यहां पर बता रहे हैं।

CDN क्या है? – what is CDN in Hindi

CDN का full form :- Content Delivery Network होता है। देखा जाए तो यह एक तरीका से आपकी website/blog की speed बढ़ाने में काफी मदद करता है।

इसकी मदद से आप अपने blog/website की loading speed कुछ हद तक पढ़ा सकते हैं। जिसके चलते आपको अपने website/blog की ranking सुधार सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आपके ब्लॉग या वेबसाइट की लोडिंग स्पीड अच्छी रहेगी तो visitor आपके वेबसाइट पर ज्यादा देर तक रहेंगे। और बार-बार आपके website या blog पर आएंगे।

एक report की माने तो अगर कोई वेबसाइट 4 सेकंड से ज्यादा loading time लेता है तो visitor आपकी वेबसाइट को छोड़ कर के किसी दूसरे वेबसाइट पर चला जाता है। इससे बचने के लिए आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। किसी भी browser पर Content Delivery Caching की मदद से यह content को जल्दी लोड करने में मदद करती है। इसके बारे में हम नीचे विस्तार से जानेंगे।

CDN का इस्तेमाल website/blog पर क्यों जरूरी होता है?

जैसा कि हमने बताया CDN का मतलब Content Delivery Network होता है। जब भी कोई व्यक्ति आपके website/blog को किसी browser की सहायता से browse करता है। तब वह सबसे पहले आपके DNS (domain name server) की तरफ pointed होता है।

DNS जो आपके CMS (CONTENT MANAGEMENT SYSTEM) से जुड़ा होता है। वहीं से यह सारी डाटा (website data) निकल कर के किसी भी visitor के browser तक पहुंचती है। और content की delivery करती है।

लेकिन CDN के इस्तेमाल से आप इस route में परिवर्तन करते हैं। जब आप अपने website/blog को CDN से जोड़ते हैं। तक content की delivery, CDN के जरिया होती है। यहां पर visitor को आपके DNS से होकर गुजरना नहीं पड़ता है।

आमतौर पर जब भी कोई visitor आपके blog/website को विजिट करता है तो आपके ब्लॉग के web hosting server जिसे आप DNS (domain name server) भी कहते हैं। उसकी तरफ pointed होता है। जब भी कोई visitor आपके website को browse करता है तो वह उसी server की मदद से उसे access करता है। बहुत बार ऐसा होता है कि ज्यादा visitor होने की वजह से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की loading timing, slow हो जाती है। जिसके चलते आपका website server overload यहां तक कि कुछ मामलों में server crash भी हो जाता है। इससे बचने के लिए CDN का इस्तेमाल करते हैं।

CDN कैसे काम करता है? – How CDN works in Hindi.

जैसा कि हमने ऊपर बताया है CDN के जरिए, आप अपने website/blog पर आने वाले visitor को CDN server की तरफ pointed कर देते हैं। जिसके चलते आपके hosting server पर load नहीं पड़ता है। और आपकी website की loading timing घट जाती है।

अगर आपका hosting server किसी दूसरे देश में मौजूद है। तो आप CDN की मदद से, अपने website को नजदीकी server से load करवा सकते हैं। यह भी एक कारण है जिसके चलते website की स्पीड बढ़ जाती है।

CDN उन server का एक बड़ा नेटवर्क होता है जो किसी भी visitor, user की भौगोलिक स्थिति (geographical location) के आधार पर server मुहैया करवाते हुए content की delivery करता है।

बहुत से CDN एक तरह से आपकी वेबसाइट के server में मौजूद content data कि एक copy या Caching कर लेते हैं। जिसके चलते जब भी कोई visitor आपके वेबसाइट पर visit करता है तब CDN उसे नजदीकी server से जोड़ देता है। और उसके server में मौजूद data की copy visitor के सामने प्रस्तुत करता है। एक तरह से देखा जाए तो visitor वास्तव में आपकी है web hosting server तक पहुंच ही नहीं पाता है। जो संभवत किसी दूसरे देश में मौजूद होगी। इस चलते content की delivery की गति बढ़ जाती है। आपका website fast loading होना शुरू हो जाता है।

CDN के फायदे – Benefit of CDN in Hindi

CDN के इस्तेमाल से आपके वेबसाइट और ब्लॉग को क्या-क्या फायदा पहुंच सकता है उसके बारे में हमने नीचे सूची बनाकर के क्रमबद्ध किया है।

  1. Fast loading speed :-इसकी मदद से आप अपने वेबसाइट की लोडिंग स्पीड बढ़ा सकते हैं। आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड बढ़ जाएगी। और जल्दी से लोड होगा। क्योंकि website, CDN से लोड हो रही है तो वह आपके website को नजदीकी सरवर से load करती है।
  2. Low bandwidth use:-इसकी मदद से आप अपने web hosting server के bandwidth के इस्तेमाल को कम कर सकते हैं। क्योंकि, CDN बहुत से visitor को आपके hosting server तक पहुंचने नहीं देता है।
  3. बेहतर SEO :- जबकि आपकी वेबसाइट fast loading हो रही है। तो इसके SEO में भी परिवर्तन दिखता है। जिसके चलते search engine ranking में भी सुधार होता है।

CDN आपके Search Engine Ranking कैसे सुधरता है?

जैसा कि हमने आपको पर बताया कि पत्नी website/blog की स्पीड बढ़ाने के लिए आप CDN का इस्तेमाल अपनी वेबसाइट के लिए कर सकते हैं। इसके इस्तेमाल के साथ साथ यह आपकी Search Engine Ranking को भी बढ़ाने में मदद करता है। यह आपकी किस तरह से मदद करता है । इसकी हमने नीचे एक सूची बनाई है और उसे समझाने का प्रयास किया है।

1.Good website loading performance :- इसका जिक्र हम ऊपर भी कर चुके हैं। आपके वेबसाइट की loading speed बढ़ने के साथ-साथ Google आपकी website को load time क्या आधार पर ranking निर्धारित करता है। जो कि पहले से बेहतर और ऊपर रैंकिंग होती है।

2. HTTPS और HTTP security

Http भी एक महत्वपूर्ण SEO कारक है। Secure socket layer (SSL) या Transport layer security (TLS) आपकी website की SERP रैंकिंग को बढ़ाने और बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

इसके अलावा, ज्यादातर CDN HTTP/2 protocol सुरक्षा भी देते हैं। जोकि Google की सर्वश्रेष्ठ SEO ranking के लिए भी इस्तेमाल की जाती है।खास करके तब जब आपकी वेब होस्टिंग प्रदान करने वाली कंपनी आपको यह सुरक्षा प्रदान नहीं करती है ।

3. Relevant Content Delivery

CDN की मदद से आप relevant content delivery जोकि त्रुटि मुक्त content delivery करता है। ज्यादातर CDN विशिष्ट casing algorithm और conical hyder का प्रयोग करते हैं। जो कि आप की वेबसाइट पर मौजूद कंटेंट के error को खत्म कर देते हैं। इसके साथ ही यह process duplicate content की समस्या को भी समाप्त कर देता है। जो आपकी SEO ranking सुधारने में काफी मददगार साबित होता है।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के हमारे इस लेख में आपने यह सीखा कि CDN क्या होता है? किसी भी वेबसाइट के लिए क्यों जरूरी होती है? What is CDN in Hindi. इसके साथ ही हमने अपने इस लेख में CDN की मदद से किस तरह से आप अपनी SEO ranking सुधार सकते हैं इसके बारे में भी जानकारी उपलब्ध कराई है।

उम्मीद करता हूं कि आपको हमारा आज का लेख पसंद आया होगा। अगर आपको हमारा आज का लेख पसंद आया है तो आप इसे social media पर भी दोस्तों के साथ share कर सकते हैं।

1 COMMENT

  1. धन्यवाद सर आपकी पोस्ट काफी लाब्दायी है और हमें आपके आर्टिकल्स पड़ना काफी ज्यादा अच्छा लगता है. आप हमारे देश के लिए काफी अच्छा काम कर रहे है इस प्रकार से और बेतरीन आर्टिकल्स हमरे लिए पोस्ट करते रहिये.
    100+ FUNNY PROFILE PICS — FUNNY PICS | COOL PROFILE PICS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here