Refrigerator freeze क्या होता है? कैसे काम करता है?

0
341

Refrigerator या freeze जो कि आपके घर में इस गर्मी के मौसम पर ठंडी cold drinks,या किसी भी चीज को ज्यादा दिनों तक इस्तेमाल करने के लिए आप इसका इस्तेमाल तो जरूर करते होंगे।

Refrigerator आजकल हमारे घर में अन्य जरूरत की चीजों की तरह ही आवश्यक हो गई है। हम दिन प्रतिदिन इस्तेमाल होने वाले चीजें जो खाने के दौरान बच जाती है उसे संरक्षित करने के लिए refrigerator का इस्तेमाल करते हैं। हिंदी में इसे शीतक यंत्र या प्रशीतक यंत्र भी कहते हैं। दूसरे शब्दों में ही यार freeze के नाम से भी जाना जाता है।

आज के हमारे इस लेख में हम आप लोगों को Refrigerator freeze क्या होता है? कैसे काम करती है? What is Refrigerator in Hindi. के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।

रेफ्रिजरेटर क्या है? – What is Refrigerator in Hindi

Refrigerator एक ऐसा यंत्र है। जो खाद्य पदार्थ को ठंडा करती है। उसे ठंडा रखती है। इसे हिंदी में शीतक यंत्र या प्रशीतक कहा जाता है। इसे साधारण बोलचाल की भाषा में freeze भी बोलते हैं।

फ्रिज के ढांचे को इस तरह से बनाया जाता है कि वह अंदर से thermally insulated होता है। यानी कि अंदर की ठंड बाहर नहीं जा सकती है। बाहर की गर्मी refrigerator के अंदर नहीं आ सकती है। फ्रिज के अंदर में एक heat pump लगा हुआ होता है जिसकी मदद से अंदर की गर्मी को यह बाहर pump कर देती है।

कोई भी ऐसा उपकरण जो freezing point से नीचे का तापमान अपने अंदर बनाए रख सकती है उसे हम freezer कहते हैं। ज्यादातर refrigerator vapour compression refrigeration system पर कार्य करती है। फ्रिज का काम तापमान bacteria के reproduction rate को कम कर देता है। जिसके चलते फ्रिज के अंदर आप कोई भी चीज खाने के लिए रखते हैं वह ज्यादा दिनों तक बिना खराब हुए रहती है।

Refrigerator के temperature को freezing point से थोड़ा ऊपर रखा जाता है। इसे standard point भी कहते हैं। किसी भी खाद्य पदार्थ को रखने के लिए फ्रिज के तापमान को 3 से 5 डिग्री सेल्सियस के तापमान में रखना उचित माना जाता है।

Refrigerator कैसे काम करती है? – How Refrigerator works in Hindi

फ्रिज या refrigerator की कार्यप्रणाली को समझने के लिए सबसे पहले आपको refrigeration cycle को समझना पड़ेगा। हर फ्रिज में vapour compression refrigeration system का उपयोग किया जाता है। इसमें refrigerant का उपयोग होता है। इसके अलावा भी refrigeration का इस्तेमाल बिल्डिंग, ऑटोमोबाइल, और air conditioning में भी किया जाता है।

आगे बढ़ने से पहले हम vapour -compression refrigeration system के बारे में हम जानेंगे। तभी जाकर के आपको फ्रिज की संपूर्ण कार्य प्रणाली समझ में आएगी।

Vapour compression refrigeration system क्या होता है?

किसी भी फ्रिज में liquid refrigerant के माध्यम से पूरे फ्रिज पर circulate किया जाता है। जोकि फ्रिज को ठंडा करती है, साथ ही में फ्रिज के अंदर मौजूद heat को absorb करके, heat pump की सहायता से बाहर निकाल देती है।

किसी भी vapour compression refrigeration system में 4 component होते हैं।

  1. Compressor
  2. Condenser
  3. Evaporator
  4. Thermal expansion valve

Cooling की पूरी प्रक्रिया refrigerant compressor पर जाने के बाद शुरू होती है। Compressor में refrigerant पहुंचने के बाद high pressure and high temperature vapour में बदल जाती है। इसे super heated vapour होती है।

यह super heated vapour इसके बाद condenser में चला जाता है, यहां पर aircooled method से गर्मी को वातावरण में छोड़ती है। यहीं पर super heated vapour, liquid में बदल जाती है। यह एक तरीके से saturated liquid होता है।

इसके बाद saturated liquid, liquid expansion valve से होकर गुजरती है। यहां पर इस liquid का pressure और temperature घटने लगता है। धीरे-धीरे ठंडी हो जाती है। इसके बाद यह evaporator से होकर गुजरती है। जहां से यह फ्रिज के अंदर मौजूद गर्मी को absorb कर लेती है। गर्मी को absorb करने की वजह से saturated liquid फिर से vapour में बदल जाती है।

इस पूरी प्रक्रिया में evaporator के आस पास रखी हुई हर चीज ठंडी हो जाती है। फिर यह वापस से compressor में चली जाती है। लेकिन compressor में जाने से पहले यह partially vaporized होता है, इस दौरान या ठंडा भी होता है। इसलिए fan की मदद से इसे पूरी तरह से vapour के रूप में बदल दिया जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि compressor में जाने के बाद छोटे-छोटे कणों को liquid particle में वापस बदलना मुमकिन नहीं होता। अगर ऐसा होता है तो compressor की फटने की संभावना होती है। आप नीचे दिए गए चित्र में VCRS (VAPOUR COMPRESSION REFRIGERATION SYSTEM) कैसे काम करती है। यह समझ सकते हैं। यह प्रक्रिया फ्रिज के अंदर लगातार चलती रहती है।

रेफ्रिजरेटर का इतिहास – History of Refrigerator in Hindi

फ्रिज या refrigerator के आविष्कार से पहले भी इंसान द्वारा विभिन्न सामग्री एवं खाद्य पदार्थों को ठंडा रखने के लिए विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल किया जाता था। इनमें से बर्फ घर (ice House) का उपयोग इंसान कई सदियों से करता आ रहा था।

Artificial refrigeration की शुरुआत एक Scottish professor William cullen ने साल 1755 में एक refrigerating machine बनाकर की की। उन्होंने अपने इस मशीन में diethyl ether की मदद से fridge के कंटेनर को पंप की मदद से vacuum create किया और उसे boil करके उसमें से आसपास की हवा द्वारा गर्मी को अवशोषित किया था।

Professor William cullen का यह experiment कुछ हद तक कामयाब भी रहा था।इसकी मदद से उन्होंने थोड़ी मात्रा में बर्फ बनाने में कामयाब रहे थे। लेकिन उस समय इसके इस्तेमाल के बारे में लोगों को ज्यादा जानकारी नहीं थी।

साल 1805 में एक अमेरिकी अविष्कारक एवं विज्ञानिक Oliver Evans ने एक नया अविष्कार किया जिसमें एक closed container मे रखें सामानों को ठंडा करके Store किया जा सकता था। यह वही पहले विज्ञानिक है जिन्होंने closed vapour compression refrigeration cycle को विस्तार से समझाया था।

साला 1820 पहुंचते-पहुंचते एक और British विज्ञानिक Michael Faraday ने ammonia और दूसरे गैसों की सहायता से high pressure और low temperature से द्रव में बदला। साल 1834 में और एक विज्ञानिक Jacob Perkins ने पहला vapour compression refrigeration system पर चलने वाला फ्रिज बनाया था।

इसके साथ ही व्यवसायिक तौर पर बर्फ (ice making machine) बनाने वाली मशीन को 1854 में अविष्कार किया गया। साल 1913 में घर में इस्तेमाल करने के लिए फ्रिज का आविष्कार किया गया था।

फ्रिज में Refrigerant का इस्तेमाल क्यों होता है?

आधुनिक समय में अभी जितने भी फ्रिज मौजूद है उनमें refrigerant का इस्तेमाल किया जाता है। बिना इसके कोई भी refrigerator वस्तु एवं खाद्य पदार्थों को ठंडा करने में सक्षम नहीं होती है।

इस चलते लगातार refrigerant के ऊपर विज्ञानिक research करते रहे हैं। पहले रेफ्रिजरेंट में अमोनियम (NH3) का इस्तेमाल किया गया था। Refrigerator के अविष्कार से लेकर अभी तक इसके ऊपर कई सारे रिसर्च किए जा चुके हैं। क्योंकि रेफ्रिजरेंट के रूप में इस्तेमाल किए जाने वाले कुछ gas हमारे वातावरण के लिए हानिकारक था। तो चलिए जानते हैं अभी तक refrigerant के रूप में किन-किन चीजों का इस्तेमाल किया जा चुका है।What is Refrigerator in Hindi

  1. Chlorofluorocarbon (CFCs) – इसका इस्तेमाल फ्रिज में पहले किया जाता था आजकल बनने वाले फ्रिज में इसका इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इस साल 1994 में बंद कर दिया गया है क्योंकि इसके चलते हमारे वातावरण के greenhouse gas effect होती है। इसके साथ ही ozone layer को नुकसान भी पहुंचाती है।
  2. Hydro-chlorofluoro-carbons (HCFCs) – CFCs के मुकाबले हाइड्रोफ्लोरोकार्बन कम हानिकारक होता है। इसके दो प्रकार R22 और R12 मौजूद है। वही R22 को hydro fluoro carbon जोकि थोड़ा बहुत नुकसानदायक है इस साल 2020 तक हटा दिया जाएगा।
  3. Hydrofluorocarbon (HCFs) -जैसा कि आप इसके नाम से ही समझ गए होंगे कि इसमें किसी भी प्रकार कोई chlorine नहीं है जो कि हमारे वातावरण के लिए सुरक्षित होता है। उसकी भी दो प्रकार मौजूद हैं पहला R-410A और R-134A जिसका इस्तेमाल फ्रीज में किया जा रहा है।

Conclusion

दोस्तों आज के हमारे इस लेख में आपने सीखा की Refrigerator क्या है? कैसे काम करती है? What is Refrigerator in Hindi.

उम्मीद करता हूं कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हमने अपने इस आर्टिकल में refrigerator के कार्य प्रणाली के बारे में बताया है। साथ ही में refrigerant gas के रूप में कौन-कौन से गैस का इस्तेमाल फ्रिज में किया जाता है इसके बारे में भी बताया है। आशा करता हूं कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। दोस्तों पसंद आया है तो इसे social media पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करना मत भूलिए। साथ में हमें कमेंट करके आप अपने सवाल पूछ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here