Who Invented the Color TV – रंगीन टेलीविजन का आविष्कार किसने किया?

एक वक्त था जब हममें से ज्यादातर लोगों के घर में ब्लैक एंड व्हाइट टीवी हुआ करती थी। धीरे-धीरे तकनीकी में नए विकास के साथ की ब्लैक एंड व्हाइट टेलीविजन की जगह अब कलर टीवी ने ले ली है। रंगीन टेलीविजन ने हमारे इंटरटेनमेंट के माध्यम को और भी बेहतर बना दिया है। जब भी हम किसी रंगीन टीवी में अपना पसंदीदा फिल्म, पसंदीदा खेल, और भी बहुत से प्रोग्राम इत्यादि देखते हैं तो यह हमारे इंटरटेनमेंट के आनंद को और भी अधिक बढ़ा देता है। लेकिन, हम सभी यह तो जानते हैं कि टीवी का आविष्कार जॉन लॉगी बेयर्ड द्वारा किया गया था। पर रंगीन टेलीविजन का आविष्कार किसने किया? Who Invented the Color TV? यह सवाल भी हमारे मन में अक्सर आता है?

ब्लैक एंड व्हाइट टीवी का पहली बार अविष्कार वर्ष 1944 में अमेरिका के एक वैज्ञानिक जॉन लोगी बेयर्ड द्वारा किया गया था। भारत में सबसे पहले टेलीविजन का प्रयोग 15 सितंबर, 1959 को दिल्ली में दूरदर्शन केंद्र की स्थापना के साथ हुआ। टेलीविजन ब्रॉडकास्टिंग की शुरुआत वर्ष 1983 में भारत में आयोजित एशियाड खेलों के आयोजन से शुरू हुआ। वर्तमान समय में लगभग दूरदर्शन की पहुंच 86% लोगों तक है जो इसके माध्यम से अपना मनोरंजन करते हैं।

विज्ञान में एक शब्द अक्सर कहीं जाती है, “ आवश्यकता आविष्कार की जननी होती है ” यह बात हम सभी जानते हैं, यही बात टेलीविजन के साथ भी लागू होती है। पहले के दौर में आम आदमी या लोग मनोरंजन करने के लिए खेल, जादू तमाशा, नाच गान, पशु पक्षियों की लड़ाई, अखाड़ा इत्यादि चीजों का सहारा लेते थे। इसके बाद लोगों के हाथ में मनोरंजन का एक नया साधन आया जिसे हम रेडियो के नाम से जानते हैं। दूर बैठे लोग रेडियो के माध्यम से मनोरंजन का लुफ्त उठाने लगे थे। लेकिन रेडियो की भी एक सीमा थी यह केवल दूर बैठे व्यक्ति के आवाज को ही हमारे तक पहुंचाता था। हम वहां के लाइव दृश्य को देखने में असमर्थ थे। इसी जिज्ञासा ने रेडियो के बाद टेलीविजन का आविष्कार करने में मदद की। वर्तमान समय में टेलीविजन मनोरंजन का मुख्य साधन है, लेकिन आज के दौर में टेलीविजन की भूमिका केवल मनोरंजन तक सीमित नहीं रह गई है। बल्कि टेलीविजन का इस्तेमाल करते हुए हम शिक्षा, संचार तथा सूचना में भी इसका उपयोग करते हैं।

Who Invented the Color TV – रंगीन टेलीविजन का आविष्कार किसने किया?

सबसे बड़ी दिलचस्प बात यह है कि पता लगाना बिल्कुल भी आसान नहीं है कि रंगीन टेलीविजन का आविष्कार किसने किया था। हममें से ज्यादातर लोग इस बात से अवगत तो है कि टेलीविजन का आविष्कार जॉन लॉगी बेयर्ड (John Logie Baird) द्वारा 7 जनवरी 1926 को किया गया था। यह टेलीविजन एक ब्लैक एंड वाइट टेलीविजन था। उस दौरान किसी के घर में टेलीविजन रखना शानो शौकत के साथ हाई स्टेटस का भी सिंबल हुआ करती थी।

वर्तमान समय में लोग इसे हल्के में लेते हैं, लेकिन ब्लैक एंड व्हाइट टीवी का इतिहास काफी दिलचस्प है। इसके बाद लोगों के घर में रंगीन टेलीविजन ने अपनी जगह बना ली। वर्तमान समय में लगभग 70% घरों में आपको यही रंगीन टेलीविजन देखने को मिल जाएगी।

ब्लैक एंड वाइट टेलीविजन के बाद जब पहली बार बाजार में कलर या रंगीन टेलीविजन उतारे गए थे तो यह बहुत ही बड़ी बात थी। क्योंकि, एक लंबे दशक तक लोग अपने मनोरंजन के लिए ब्लैक एंड वाइट टेलीविजन का ही इस्तेमाल कर रहे थे। ऐसे में रंगीन टेलीविजन ने जल्द ही लोगों के इंटरटेनमेंट के अंदाज को बदल दिया था। जो पहली बार रंगीन टेलीविजन बाजार में उतरी थी तो उसकी कीमत ब्लैक एंड वाइट टेलीविजन की तुलना में कहीं ज्यादा थी।

कुछ विज्ञानिक जैसे सैमुअल मोर्स और एलेग्जेंडर ग्राहम बेल पहले कुछ ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने विद्युत माध्यमों के माध्यम से छवियों को प्रसारित करने के विचार की कल्पना की थी। यदि यह नाम परिचित लगते हैं तो इसलिए क्योंकि, उन्होंने टेलीग्राफ और टेलीफोन का आविष्कार किया है। इन्होंने अपने अविष्कार के माध्यम से श्री संदेश भेजने की कल्पना नहीं की थी। उन्होंने कल्पना की थी कि एक दिन उनका का आविष्कार छवियों आर ध्वनि को भी प्रसारित कर सकते हैं।

Paul Nipkow, ने वर्ष 1884 में टेलीविजन के सबसे शुरुआती प्रोटोटाइप में से एक का निर्माण किया था। उन्होंने छेद वाली रोलिंग डिस्क के साथ एक मशीन का निर्माण करके यह हासिल किया जो कि एक नियॉन लैंप का उपयोग करके छवियों को प्रसारित कर सकने में सक्षम थी। लेकिन उनका यह अविष्कार तकनीकी सीमाओं के कारण, इतनी अधिक लोकप्रिय साबित नहीं हुई। इस वजह से इसे बड़े पैमाने पर उत्पादित नहीं किया गया था।

फिर भी टेलीविजन के इस आविष्कार ने आने वाले वर्षों में विकास की नींव रखी। विशेष रूप से उन्हें स्कैनिंग प्रभाव की खोज करने का श्रेय दिया जाता है जिसका उपयोग बाद के कई टेलीविजन में किए जाने लगा।

Invention of Color Television – कलर टेलीविजन का आविष्कार

Paul Nipkow, के अविष्कार के बाद बहुत से वैज्ञानिक जैसी की Karl Ferdinand Braun, John Logie Baird, और Philo Farnsworth ने Paul Nipkow के प्रोटोटाइप टेलीविजन मे बहुत से सुधार किए। Braun, द्वारा कैथोड राय ट्यूब का आविष्कार किया गया जो दशकों तक अधिकांश टीवी के लिए आधार बनी रही। जॉन लॉगी बेयर्ड एक यांत्रिक टेलीविजन बनाने वाले पहले लोगों में से एक थे, जबकि Farnsworth द्वारा पहली बार एक ऐसी मशीन बनाई गई जो छवियों को प्रसारित कर सकती थी। बाद के पहलू के कारण, Philo Farnsworth को अक्सर टेलीविजन का जनक भी कई लोग मानते हैं।

Credit for the Color Tv Often Goes to Scotsman – रंगीन टीवी के आविष्कार का श्रेय स्कॉटमैन को जाता है

हमें से ज्यादातर लोग टीवी के अविष्कारक के रूप में जॉन लॉगी बेयर्ड को जानते हैं। लेकिन, जॉन लोगी बेयर्ड ने केवल एक यांत्रिक टेलीविजन का निर्माण किया था, उन्होंने एक रंगीन टीवी बनाने के लिए तुरंत नए प्रयोग भी शुरू कर दिया थे। जॉन लॉगी बेयर्ड को ब्लैक एंड व्हाइट टीवी बनाने में जल्द ही सफलता मिल गई थी। साल 1928 की शुरुआत में उन्होंने और भी नए प्रयोग कर दिए थे।

साल 1941 तक जॉन लोगी बेयर्ड एक ऐसा प्रोटोटाइप बनाने में सफलता हासिल कर ली थी जो एक रंग के पहिए का उपयोग करते हुए पिक्चर को रंग देने में कामयाब रहा था। लेकिन, साल 1960 के दशक तक भी वे एक रंगीन टीवी बनाने में सफलता हासिल नहीं कर पाए। आने वाले वर्षों में उनकी या प्रणाली कई सारे उपकरणों का आधार बनने वाली थी।

हालांकि, रंगीन टीवी पर जॉन लॉगी बेयर्ड का काम अधिक प्रसिद्ध है। एक मेक्सिकन अविष्कारक ने साल 1940 में एक रंगीन टीवी बनाने के लिए कई सारे प्रयोग भी किए थे। जिसे ट्रायक्रोमेटिक अनुक्रमिक फील्ड सिस्टम के नाम से भी जाना जाता है। उन्होंने साल 1942 में अपने अविष्कार का कंटेंट कराया और साल 1958 मे तब उन्होंने अपनी तकनीकी में सुधार करना जारी रखा है जब वह अपने पेंडेंट को संशोधित करने में सक्षम हो गए। तो अन्य लोग रंगीन टेलीविजन प्रौद्योगिकी को और अधिक परिष्कृत करने में उनके काम से प्रेरणा लेने लगे।

यह ध्यान देने योग्य बात है कि जॉन लोगी बेयर्ड और गोंजालेज रंगीन टीवी पर काम करने वाले केवल अकेले व्यक्ति नहीं थे। पोलिस अविष्कारक जॉन स्पेंसकी ने 1897 की शुरुआत में ए प्रोटोटाइप का निर्माण किया हालांकि क्या अपनी रचना को बड़े पैमाने पर उत्पादित नहीं कर पाए थे। इसी तरह साल 1925 में एक रंग प्रणाली का पेटेंट कराया गया। जो एक मशीन ही थी जिससे कि कई सारे रंग छवि के रूप में नजर आते थे।

तो रंगीन टीवी का आविष्कार किसने किया?

इसका उत्तर यह है कि यह केवल एक अकेले व्यक्ति द्वारा रंगीन टीवी का आविष्कार नहीं किया गया। बल्कि कई युगों में कई पृष्ठभूमि के कई लोगों का संयोजन है कि आज हमारे सामने हम रंगीन टीवी मौजूद है।

प्रत्येक आविष्कारक और इंजीनियर ने अपने पूर्ववर्त के काम पर निर्माण का किया और प्रत्येक पुनरावृति पूर्व प्रयास पर सुधार हुआ। इसलिए हम यह कह सकते हैं कि रंगीन टेलीविजन के अविष्कार में किसी एक अकेले व्यक्ति का हाथ नहीं है। लेकिन, जब भी हम एक टीवी के आविष्कार के बारे में बात करते हैं तो हमारे मन में सबसे पहला नाम जॉन लॉगी बेयर्ड का ही आता है।

निष्कर्ष

आज के हमारे इस लेख में हमने इस बारे में जानकारी उपलब्ध कराने की कोशिश की है कि Who Invented the Color TV – रंगीन टेलीविजन का आविष्कार किसने किया? इसके साथ ही हमने अपने इस लेख में इसके विकास एवं इनसे जुड़े लोगों के बारे में भी जानकारी उपलब्ध कराई है।

टेलीविजन के आविष्कारक के रूप में जॉन लॉगी बेयर्ड को जाना जाता है। लेकिन, उस दौरान उन्होंने केवल एक यांत्रिक टेलीविजन का आविष्कार किया था। लेकिन जब हम रंगीन टेलीविजन के अविष्कार के बारे में बात करते हैं, तो इसका आविष्कार केवल किसी एक व्यक्ति द्वारा नहीं बल्कि इसका आविष्कार बहुत सारे लोगों के योगदान के कारण ही संभव हो सका है।

वर्तमान समय में टेलीविजन दुनिया भर के लोगों के लिए मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन है। आज हम टेलीविजन की मदद से ना केवल दुनिया भर की खबरें सुनते हैं, बल्कि शिक्षा और सूचना एवं प्रसार के रूप में भी हम टेलीविजन का इस्तेमाल कर रहे हैं। दोस्तों मैं यह उम्मीद करता हूं कि आपको आज का हमारा यह लेख पसंद आया होगा। इससे संबंधित अगर आपकी कुछ सवाल एवं सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं।