Amazing facts about the immune – प्रतिरक्षा प्रणाली के बारे में आश्चर्यजनक तथ्य

साधारण वातावरण में जो भी हम निकलते हैं, तो आपको यह जानकर हैरानी होगी कि कई सारे रोगाणु और विषाणु हमारे शरीर पर हर दिन आक्रमण करते हैं। इनकी संख्या लाखों-करोड़ों में होती है। आपको यह सुनकर थोड़ी बहुत हैरानी हो रही है। लेकिन यह सच है, फिर भी आप यह सोच रहे हैं कि लाखों की संख्या में जीवाणुओं, रोगाणु और विषाणु जब हमारे शरीर पर आक्रमण करते हैं तो हम बीमार क्यों नहीं पड़ते? यह एकदम सोचने वाली बात है। इसके पीछे की वजह है हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System) जो लगातार हमें विभिन्न तरह के विषाणु और रोगाणु से बचाती रहती है। आज के हमारे इस लेख में हम जानेंगे Amazing facts about the immune – प्रतिरक्षा प्रणाली के बारे में आश्चर्यजनक तथ्य

सामान्य तौर पर बहुत से वायरस, बैक्टीरिया, इत्यादि रोगजनक होते हैं। बहुत ही ज्यादा प्रतिरक्षा प्रणाली अगर किसी व्यक्ति की कमजोर होती है तो वह बीमार पड़ सकता है। यह रो गानो कहीं से भी हमारे शरीर में आक्रमण कर सकते हैं। चाहे हम अच्छा पका हुआ खाना क्यों ना खा रहे हैं? या फिर कहीं सिनेमा देखने गए हैं बाहर की कुछ चीजें खा लेते हैं, या सड़कों में घूमते वक्त भी यह हमारे शरीर पर आक्रमण कर सकते हैं।

इंसानों में सबसे ज्यादा रोगों का कारण बैक्टीरिया और वायरस को माना जाता है। खतरनाक बैक्टीरिया शरीर में विषाणु पदार्थ छोड़ते हैं जो कि डायरिया, एंथ्रेक्स और ब्लैक प्लेग जैसी बीमारी का कारण बनता है। वायरस से कोशिकाएं क्षति होती है और इनसे हमें गंभीर बीमारी जैसे कि खसरा, फ्लू और सामान्य सर्दी हो सकता है।

हमारे वातावरण में लगभग हर चीज इन छोटे और सूक्ष्म रोगाणुओं से भरी पड़ी है। यहां तक की अगर आप यह सोच रहे हैं कि मैं तो हर दिन स्नान करता हूं, इसके बावजूद भी आपके शरीर में लाखों बैक्टीरिया और वायरस मौजूद है। अकेले आपके पेट में बैक्टीरिया आपके शरीर की सभी कोशिकाओं तक पहुंच जाते हैं। इसके बावजूद भी आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली इनसे लड़ती है और आपको बीमार होने नहीं देती। तो चलिए हम यह जानते हैं हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली के कुछ आश्चर्यजनक तथ्यों के बारे में।

Amazing facts about the immune – प्रतिरक्षा प्रणाली के बारे में आश्चर्यजनक तथ्य

➤ 1. इलाज कभी-कभी चोट पहुंचा सकता है?

कई बार हम प्रतिरक्षा प्रणाली को उसका काम करने नहीं देते हैं। जैसे कि हमें जब चोट लग जाती है, तो शरीर उस चोट से निकलने वाले खून के रिसाव को बंद करने के लिए खुद कार्य करती है। अगर हम उसे यह कार्य करने नहीं देते तो शरीर से अत्यधिक खून का रिसाव हो जाता है। ठीक इसी तरह, छींक आना, खासना, गले में खराश और बुखार सभी रोगाणु को बाहर निकालने के साधन है, इसलिए वे जितने कष्टप्रद है। हमारे शरीर के प्रतिरक्षा प्रणाली द्वारा जरूरी क्रियाओं में शामिल है।

➤ 2 . हमारे शरीर में प्रतिरक्षा करने वाले सैनिक हर जगह है।

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि रक्त की एक बूंद में लगभग 375000 श्वेत रक्त कोशिकाएं होती है। और वृद्ध आपके शरीर के कुल वजन का 7% होता है।

➤ 3. आप प्रतिरक्षा प्रणाली उधार में ले सकते हैं?

यह सुनकर आपको जरूर आश्चर्य लगा होगा। लेकिन, यह एकदम सच है। मां के दूध में मौजूद एंटीबॉडी बच्चों को और बीमारियों से अस्थाई रूप से प्रतिरक्षा प्रदान करती है जिनसे उनकी मां प्रतिरक्षित होती है, जिससे नवजात बच्चा अपनी मां से प्रतिरक्षा प्रणाली ग्रहण करता है।

➤ 4. प्रतिरक्षा प्रणाली आपके आंतरिक परेशानियों से भी लड़ता है।

प्रतिरक्षा प्रणाली रोगाणु जैसे बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने के अलावा, आपके शरीर में मौजूद टी कोशिकाओं कि अपनी कैंसर कोशिकाओं से लड़ती है और कुछ कैंसर उपचार टी कोशिकाओं की संख्या को बढ़ाते हैं।

➤ 5. प्रतिरक्षा प्रणाली में बदलाव से परेशानी हो सकती है।

दुर्भाग्य से अगर आपको फ्लू और सामान्य सर्दी के प्रति प्रतिरोधक क्षमता विकसित नहीं कर सकते क्योंकि वायरस हमेशा परिवर्तित होते रहते हैं। अगर आप यह सोचते हैं कि आप प्रतिरक्षा प्रणाली को दुरुस्त रख सकते हैं। जिससे कि आप सामान्य सर्दी बुखार इत्यादि से बच सके। तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। साधारण तौर पर सामान्य सर्दी और बुखार देने वाले वायरस लगातार बदलते रहते हैं। वे लगातार विकसित होते हैं ताकि किसी भी तरह से वह आपको बीमार कर सके।