Highest Economy in the World | दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

किसी भी देश की अर्थव्यवस्था को उसके GDP के माध्यम से दर्शाया जाता है। दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका (USA) को जान जाता है। जिसकी कुल जीडीपी 20.94 ट्रिलियन डॉलर के आसपास है। अमेरिका में मौजूद अधिकतर सर्विस सेक्टर बहुत ज्यादा डिवेलप और टेक्नोलॉजी से परिपूर्ण है। इसीलिए अमेरिका के फॉर्म वैश्विक स्तर पर टेक्नोलॉजी, रिटेल, फाइनेंस और हेल्थ केयर के क्षेत्र में एक अहम भूमिका निभाते हैं। आज के हमारे इस लेख में हम, Highest Economy in the World | दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के बारे में जानकारी लेने वाले हैं। इसी के साथ ही हम यह भी जानकारी लेंगे की सकल घरेलू उत्पाद (GDP) क्या होता है? इसको कैसे निकाला जाता है? इसी के साथी हम यह भी जानकारी लेंगे कि दुनिया भर की 50 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है कौन-कौन सी है?

सकल घरेलू उत्पाद के माध्यम से किसी भी देश की अर्थव्यवस्था का पता लगाया जा सकता है। किसी भी देश की अर्थव्यवस्था को मापने के लिए GDP का इस्तेमाल किया जाता है। जिसके जरिए उस देश की कुल उत्पाद को मापा जा सकता है। दुनिया भर के सबसे बड़े 50 अर्थव्यवस्था कौन-कौन से हैं इसके बारे में जानकारी लेने से पहले आपको यह पता होना बेहद जरूरी है कि, GDP क्या होता है?

What is GDP? – सकल घरेलू उत्पाद क्या होता है?

अंग्रेजी में GDP को Gross Domestic Products कहते हैं। हिंदी में हम इसे, सकल घरेलू उत्पाद कहते हैं। आमतौर पर किसी भी देश की जीडीपी की गणना 1 साल के अंतराल में की जाती है। यदि जीडीपी बढ़ती है तो इसका मतलब है कि देश की आर्थिक अर्थव्यवस्था विकास पर है और यदि इन जीडीपी घटती है तो देश की अर्थव्यवस्था कमजोर है।

सबसे पहले अमेरिकी अर्थशास्त्री द्वारा जीडीपी शब्द का प्रयोग वर्ष 1935 से 1944 के आसपास किया गया था। उस दौरान किसी भी देश की अर्थव्यवस्था को समझने के लिए किसी भी तरह का कोई भी सरलतम उपाय नहीं था। जिससे कि उस देश की अर्थव्यवस्था की गणना की जा सके। इसी दौरान अमेरिकी संसद में हुई एक बैठक में जीडीपी शब्द का इस्तेमाल किया गया और इस शब्द से बहुत सारे लोग सहमत थे कि जीडीपी के जरिए अर्थव्यवस्था की गणना की जा सकती है। इसी के बाद आईएमएफ (IMF) द्वारा भी किसी भी देश की अर्थव्यवस्था की गणना करने के लिए जीटीपी शब्द का इस्तेमाल किया जाने लगा।

सकल घरेलू उत्पाद को दो तरह में बांटा जा सकता है। क्योंकि प्रत्येक वर्ष उत्पादों का मूल्य में कमी एवं बढ़ोतरी होती रहती है। इसके अंतर्गत उत्पादों के मूल्य 1 वर्ष में उत्पादों की कीमतों के आधार पर तय किया जाता है। इसमें दूसरे वस्तुओं के चल रहे मूल्य पर निर्धारित किया जाता है। दोनों ही तरह के जीडीपी के बारे में हम नीचे जानकारी दे रहे हैं।

1. Real Gross Domestic Products – वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद

वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद
Real Gross Domestic Products - वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद

वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद के मूल्यों की गणना करते समय मुद्रास्फीति का नियंत्रण करने के लिए सरकार द्वारा एक आधार वर्ष चुना जाता है। वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद में एक ही आधार वर्ष के उत्पादों की कीमत का पता लगाकर बहुत से वर्षों के उत्पादों की मात्रा का पता लगाया जाता है हर साल उत्पादों के मूल्य मात्रा में परिवर्तन को दिखाया जाता है। वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद के माध्यम से किसी भी देश की अर्थव्यवस्था का सही अनुमान लगाया जा सकता है।

2. Unrealistic Gross Domestic Products – अवास्तविक सकल घरेलू उत्पाद

अवास्तविक सकल घरेलू उत्पाद
अवास्तविक सकल घरेलू उत्पाद - Unrealistic Gross Domestic Products
अवास्तविक सकल घरेलू उत्पाद के माध्यम से किसी भी देश की जीडीपी वर्तमान उत्पादों के मूल्य के आधार पर निकाली जाती है। वर्तमान कीमत के माध्यम से जो जीडीपी रेट निकाला जाता है उसे हम अवास्तविक सकल घरेलू उत्पाद कहते हैं।





How to Calculate GDP – जीडीपी की गणना कैसे करते हैं?

सकल घरेलू उत्पाद निकालने के लिए सूत्रों का इस्तेमाल किया जाता है। किसी भी देश की यात्री भी अर्थव्यवस्था की जीडीपी निकालने के लिए जीडीपी को अवास्तविक जीडीपी से विभाजित किया जाता है और इसे 100 से गुणा कर देते हैं। परिणाम स्वरूप हमें सकल घरेलू उत्पाद मिलता है।

सकल घरेलू उत्पाद की गणना कैसे करें
जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि सकल घरेलू उत्पाद निकालने के लिए सूत्रों का प्रयोग किया जाता है। यह सूत्र निम्नलिखित है :-
  • सकल घरेलू उत्पाद (GDP) = निजी खपत + सकल निवेश + सरकारी निवेश + सरकारी खर्च + ( निर्यात - आयात)
  • कुल घरेलू उत्पाद = उपभोग (consumption) + कुल निवेश
  • GDP = C+I+G+(X-M)

जीडीपी क्या होता है? -  किसी भी देश के अंदर एक निर्धारित समय के भीतर तैयार सभी वस्तुओं और सेवाओं के कुल मौद्रिक किया बाजार मूल्य को  सकल घरेलू उत्पाद (GDP)  कहते हैं। भारत की केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) द्वारा जीडीपी की गणना की जाती है।

Highest Economy in the World | दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में संयुक्त राज्य अमेरिका का स्थान सबसे पहले आता है। वर्ल्ड इकोनामिक रैंक के मुताबिक साल 2021-22 मे संयुक्त राज्य अमेरिका की कुल जीडीपी 23.32 ट्रिलियन डॉलर के आसपास थी। दूसरे नंबर पर दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में भारत का पड़ोसी देश चीन का नंबर आता है। जिसकी कुल जीडीपी 17.73 ट्रिलियन डॉलर के आसपास है। भारत की जीडीपी साल 2022 के अंत तक 11.66 5 ट्रिलियन डॉलर के आसपास रहने का अनुमान लगाया गया है। आइए नीचे हम दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सूची दे रहे हैं।

देश का नामकुल जीडीपी billion-dollar
1. संयुक्त राज्य अमेरिका23,315
2. चीन17,734
3. जापान4,940
4. जर्मनी4,259
5. भारत3,176
6. यूनाइटेड किंगडम3,131
7. फ्रांस2,957
8. इटली2,107
9. कनाडा1988
10. साउथ कोरिया1,811
11. रूस1,768
12. ब्राजील1,609
13. ऑस्ट्रेलिया1,552
14. स्पेन1,427
15. मेक्सिको1,272

निष्कर्ष

दोस्तों आज के हमारे इस लेख में हमने आप सभी लोगों को इस बारे में जानकारी दी है कि, Highest Economy in the World | दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था कौन सी है? इसके साथ ही हमने अपने इस लेख में दुनिया के 15 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सूची भी बनाई है। हमें अपने इस लेख में आप सभी लोगों को इस बारे में भी जानकारी दी है कि सकल घरेलू उत्पाद क्या होता है? इसकी मदद से किसी भी देश की अर्थव्यवस्था की गणना कैसे की जाती है?

सकल घरेलू उत्पाद (GDP) किसी भी देश की सीमा में एक निर्धारित समय के भीतर तैयार सभी वस्तुओं और सेवाओं के कुल मौद्रिक या बाजार मूल्य को सकल घरेलू उत्पाद कहते हैं। आज के हमारे इस लेख से संबंधित अगर आपकी कुछ सवाल एवं सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं।

Sharing Is Caring:

दोस्तों में, facttechno.in का संस्थापक हूं। मैं अपनी इस ब्लॉग पर टेक्नोलॉजी और अन्य दूसरे विषयों पर लेख लिखता हूं। मुझे लिखने का बहुत शौक है और हमेशा से नई जानकारी इकट्ठा करना अच्छा लगता है। मैंने M.sc (Physics) से डिग्री हासिल की है। वर्तमान समय में मैं एक बैंकर हूं।

राजा राममोहन राय

राजा राममोहन राय

राजा राममोहन राय भारतीय समाज सुधारक, विद्वान, और समाजशास्त्री थे। वे 19वीं सदी के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यमी और समाज सुधारक थे। उन्होंने समाज में अंधविश्वास, बलात्कार, सती प्रथा, और दाह-संस्कार…

महर्षि दयानंद सरस्वती

महर्षि दयानंद सरस्वती की जीवनी

महर्षि दयानंद सरस्वती, जिन्हें स्वामी दयानंद सरस्वती के नाम से भी जाना जाता है, 19वीं सदी के महान धार्मिक और समाज सुधारक थे। उन्होंने आर्य समाज की स्थापना की, जो…

एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी

एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी

ए. पी. जे. अब्दुल कलाम, भारतीय राष्ट्रपति और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के पूर्व अध्यक्ष के रूप में प्रसिद्ध थे। उनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम…

डॉ भीमराव आंबेडकर जीवनी

डॉ भीमराव आंबेडकर जीवनी

डॉ. भीमराव आंबेडकर, भारतीय संविधान निर्माता, समाजसेवी और अधिकारिक हुए। उनका जन्म 14 अप्रैल 1891 को महाराष्ट्र के एक दलित परिवार में हुआ था। उन्होंने अपने जीवन में अनेक क्षेत्रों…

कालिदास का जीवन परिचय

कालिदास का जीवन परिचय

कालिदास भारतीय साहित्य का एक प्रमुख नाम है जिन्हें संस्कृत का महाकवि माना जाता है। उनका जन्म और जीवनकाल निश्चित रूप से नहीं पता है, लेकिन वे आधुनिक वास्तुगामी मतानुसार…

तुलसीदास की जीवनी

तुलसीदास का जीवन परिचय

संत तुलसीदास एक महान हिंदी साहित्यकार और संत थे, जिन्होंने अपनी शान्त और उदार व्यक्तित्व से भारतीय समाज में गहरा प्रभाव डाला। उन्होंने अपनी कविताओं के माध्यम से धार्मिक और…

Leave a Comment