How to Setup UPI ID – यूपीआई आईडी कैसे बनाएं

डिजिटल लेनदेन के चलते आज कल पैसों का लेनदेन करना काफी आसान हो गया है। हमें से ज्यादातर लोग दैनिक रोजमर्रा की जिंदगी में डिजिटल लेन-देन नहीं करते हैं। कहीं भी किसी से कुछ खरीदना है तो हम क्यूआर कोड स्कैनर की सहायता से कोड स्कैन करके पैसे की लेनदेन करते हैं। यूनिफाइड पेमेंट पोर्टल (UPI) का उपयोग करते हुए कोई भी व्यक्ति अपने आपको इसमें रजिस्ट्रेशन करवा सकता है और अपने लिए यूपीआई आईडी (UPI ID) बना सकता है। आप अपने लिए यूपीआई आईडी अपने बैंक के मोबाइल एप्लीकेशन या किसी थर्ड पार्टी एप्लीकेशन का उपयोग करते हुए बना सकते हैं। पंजीकरण करने के बाद कोई भी भुगतान भेजने और प्राप्त करने के लिए यूपीआई का उपयोग किया जाता है। आज की हमारी इस लेख में हम जानेंगे कि How to Setup UPI ID – यूपीआई आईडी कैसे बनाएं

पैसों का लेनदेन करने के लिए, UPI ID, काफी सुरक्षित एवं किफायती तरीका है। यूपीआई आईडी की सबसे अच्छी बात जो मुझे लगती है। इसमें आपको नाही बैंक खाता संख्या, नाही बैंक का आईएफएससी कोड इत्यादि डालने की जरूरत पड़ती है। अगर आपको अपने फोन से किसी के पास पैसे भेजने हैं, तो आप सीधे उस व्यक्ति का UPI ID मांग करके सीधे उसके बैंक खाते में पैसे भेज सकते हैं। इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि आप इसे एक ईमेल एड्रेस की तरह याद रख सकते हैं। जैसे अगर कोई व्यक्ति आपके पास ईमेल करता है तो सीधे व आपके ईमेल अकाउंट में चला जाता है। और आप आसानी से उस ईमेल को पढ़ सकते हैं। यूपीआई आईडी एक ईमेल की तरह होती है, जो आपके बैंक खाते के साथ जुड़ा हुआ होता है। आपके बैंक खाते के साथ आप बहुत सारे यूपीआई आईडी बना सकते हैं। अलग-अलग एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हुए आप ऐसा कर सकने में सक्षम है। तो चलिए फटाफट जान लेते हैं, How to Setup UPI ID – यूपीआई आईडी कैसे बनाएं

How to Setup UPI ID – यूपीआई आईडी कैसे बनाएं

आगे बढ़ने से पहले आपको इस बारे में जानकारी होना बेहद जरूरी है कि यूपीआई आईडी या यूपीआई (UPI) क्या होता है। और यह कैसे काम करता है? इसके बारे में पहले हम जान लेते हैं।

What is UPI? – यूपीआई क्या है?

UPI का पूरा रूप Unified Payments Interface होता है, जिसे भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा शक्ति से नियंत्रित किया जाता है। यह उपयोगकर्ताओं को सीधे अपने बैंक खाते से प्राप्त करता के बैंक खाते में पैसों की लेनदेन करने की अनुमति देता है। वर्तमान समय में आपको इंटरनेट पर बहुत सारे ऐसे एप्लीकेशन मिल जाएंगे जिनकी सहायता से आप आसानी से यूपीआई का इस्तेमाल कर सकते हैं। अब इसके लिए अपने बैंक का एप्लीकेशन या 3rd Party Application जैसे कि Google Pay, PhonePe, Amazon Pay, PayTm का इस्तेमाल करते हुए यूपीआई का इस्तेमाल कर सकते हैं।

UPI – Registration -Step to Register – यूपीआई के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

नीचे दिए गए Steps को फॉलो करते हुए आप बड़ी आसानी से यूपीआई के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

Step 1 – सबसे पहले आप Google Play Store अगर आप एंड्राइड फोन का इस्तेमाल करते हैं तो अगर एप्पल फोन का इस्तेमाल करते हैं तो Apple App Store पर चले जाएं। यहां पर आप UPI -BHIM या अपने बैंक का UPI , Mobile Banking एप्लीकेशन को आपको अपने फोन में इंस्टॉल कर लेना है।

Step 2- मान लेते हैं कि आपने BHIM-UPI को अपने फोन में इंस्टॉल कर लिया है। इसके बाद आप अपनी पसंदीदा भाषा चुनें। इसके बाद आप अपना मोबाइल नंबर जो आपके बैंक खाते से जुड़ा है उसे यहां पर डाल दे।

Step 3- इसके बाद आपका मोबाइल नंबर यूपीआई द्वारा वेरिफिकेशन किया जाएगा। मोबाइल नंबर वेरीफाई होने के बाद आप अपना नाम, वर्चुअल आईडी और पासवर्ड जैसी बुनियादी विवरण दर्ज करके अपना प्रोफाइल बनाएंगे। याद रहे यहां पर जो आप वर्चुअल आईडी बनाएंगे वह आपके भुगतान का पता होगा।

Step 4- इसके बाद आपको एप्लीकेशन पर Add/Link/Manage Bank Account के विकल्प में जाना होगा। यहां पर आप अपना बैंक और खाता संख्या को पहले बनाई गई वर्चुअल आईडी से लिंक करना होता है। आप अपना डेबिट एटीएम कार्ड संख्या डाल करके अपना अकाउंट नंबर वेरीफाई कर सकते हैं।

Step 5- इसके बाद आपको अपना MPIN सेट करना होता है, आप अपने लिए एक एमपिन बनाएंगे। इस एमपिन को आपको याद रखना है। जब भी आप पैसों की लेनदेन करेंगे, तब आप इस एमपिन के जरिए ही पैसों की लेनदेन को सफलतापूर्वक कर सकते हैं।

Step 6- आपने सफलतापूर्वक यूपीआई (UPI) के लिए रजिस्ट्रेशन करवा लिया है।

एक बार रजिस्ट्रेशन होने के बाद, आपको अपना एमपिन (MPIN) (Mobile Personal Identification number) बनाना होता है। इसे हम याद करके रखिए, क्योंकि हर बार पैसों के लेनदेन के समय आपको एमपिन को दर्ज करना होगा। तो चलिए अगर आप अपना एमपिन भूल गए हैं, तो आप किस तरह से फिर से MPIN सेट कर सकते हैं इसके बारे में नीचे हम जान लेते हैं।

How to Generate MPIN – एमपिन कैसे सेट करें?

सबसे पहले, एमपिन बनाते वक्त आप यह सुनिश्चित करले कि आप जिस मोबाइल नंबर का इस्तेमाल कर रहे हैं वह आपके बैंक खाते से जुड़ा हुआ हो। एक बार यह साबित हो जाने के बाद आप ऑनलाइन पद्धति या ऑफलाइन पद्धति का उपयोग करके अपना एमपिन फिर से जनरेट कर सकते हैं।

How to Generate MPIN Offline – एमपिन ऑफलाइन कैसे बनाएं?

ऑफलाइन तरीके से बनाना काफी आसान है। आप बहुत आसानी से ऑफलाइन तरीके से एमपिन रीजेनरेट या सेट कर सकते हैं चलिए आप इसे कैसे सेट करेंगे इसे हम नीचे क्रम के अनुसार बता रहे हैं।

  1. सबसे पहले आपके बैंक खाते से जुड़ा हुआ मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करते हुए आप अपने फोन पर *99# डायल कीजिए।
  2. इसके बाद एक मैसेज आपकी स्क्रीन के सामने खुलेगा, जहां पर आप से आपके बैंक के नाम का तीन संख्या या आपके बैंक का आईएफसी कोड की चार संख्या दर्ज करने को कहेगा। उदाहरण मान लेते हैं कि मेरा खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में है तो मैं वहां पर SBI दर्ज करूंगा। इसके बाद आप सेंड बटन पर क्लिक कर दे।
  3. फिर आपके पास एक मैसेज आएगा जहां पर कई सारे विकल्प दिए हुए होंगे यह विकल्प है। 1. Account Balance 2.Mini Statement 3.Send Money Using MMID 4. Send Money using IFSC 7.GENERATE MPIN यहां पर 7 लिख करके आप सेंड बटन पर क्लिक कर दे।
  4. इसके बाद आपके सामने एक और नया मैसेज खुलेगा जहां पर आपको आपके एटीएम कार्ड की अंतिम की 6 संख्या या अंतिम की चार संख्या दर्ज करने के साथ-साथ एटीएम कार्ड की एक्सपायरी डेट (MM/YY) सिंगल स्पेस के साथ दर्ज करके सेंड बटन पर क्लिक कर दें। उदाहरण के तौर पर मान लेते हैं कि मेरा एटीएम कार्ड का अंतिम संख्या और एक्सपायरी डेट e.g 876745 0622
  5. अब आपके सामने फिर से एक नया मैसेज आएगा जहां पर आपको यहां मैसेज लिखा दिखाई देगा Enter (MPIN) (Re-enter-MPIN) Separated with single space . E.g – 123456 123456
  6. जैसा मैसेज में बताया गया है ठीक उसी तरह से अपना एमपिन फिर से बना सकते हैं।

सारी प्रक्रिया पूरी कर लेने के बाद, आपके फोन पर फिर से एक मैसेज आएगा जिसमें आपने सफलतापूर्वक MPIN बना लिया है इसके बारे में जानकारी होगी। इसके साथ ही आपको एक ट्रांजैक्शन रेफरेंस नंबर भी मिलेगा। आप इसे सुरक्षित रख सकते हैं क्योंकि भविष्य में इसकी आवश्यकता आपको पढ़ सकती है।

Step to Generate MPIN Online – ऑनलाइन एमपिन कैसे सेट करें?

ऑनलाइन एमपी सेट करना भी काफी आसान है। आप नीचे की दिए गए स्टेप को फॉलो करते हुए अपने लिए एमपी बड़ी आसानी से सेट कर सकते हैं।

  1. आप अपने स्मार्टफोन पर मोबाइल एप डाउनलोड करने के बाद यूपीआई भुगतान के लिए अपना एमपिन बनाने के लिए कहा जाएगा। जब आप उस पर क्लिक करते हैं तो आपके पास आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड भेजा जाएगा। इस वन टाइम पासवर्ड को ऐप खुद वेरीफाई कर लेता है। नहीं करता है तो आप वन टाइम पासवर्ड खुद से डाल करके वेरीफाई कर सकते हैं।
  2. इसके बाद आप अपना डेबिट कार्ड के अंतिम 6 अंक और अपने डेबिट कार्ड की समाप्ति तिथि दर्ज करेंगे।
  3. आपको अपने यूपीआई के लिए एक अनूठा MPIN बनाना होगा। यह आपके बैंक के अनुसार 6 अंकों की संख्या या 4 अंको की संख्या हो सकती है।
  4. इसके बाद सबमिट पर क्लिक कर दें और आपका एमपिन जनरेट हो जाएगा।

How to Send Money through UPI Id – यूपीआई आईडी की सहायता से पैसे कैसे भेजे।

यूपीआई आईडी की सहायता से पैसा भेजना बहुत ही आसान है। इसमें इतना ही आपको बैंक खाता संख्या दर्ज करने की आवश्यकता है। नाही आप संबंधित बैंक के IFCS code को दर्ज करने की आवश्यकता होती है।

एक बार आप ने अपने बैंक खाते और मोबाइल एप्लीकेशन के साथ में UPI ID बना लेने के बाद आप आसानी से पैसों का लेनदेन कर सकते हैं। आप किस तरह से करेंगे चलिए हम एक उदाहरण द्वारा इसे समझते हैं।

  1. यूपीआई आईडी के जरिए पैसे भेजने के लिए सबसे पहले आप अपने मोबाइल एप्लीकेशन जिस पर यूपीआई हो उस पर आप लॉग इन कर लीजिए।
  2. लॉगिन कर लेने के बाद आपको UPI Money transfer, send money etc लिखा हुआ दिखाई देगा उस पर क्लिक कर दें।
  3. यहां पर आपको बस UPI ID डालनी होती है, जैसे कि उदाहरण के तौर पर मैं अपने दोस्त का जिसमें पैसा भेजना चाहता हूं। उसकी UPI ID डालूंगा e.g anjani@indian.bank
  4. इसके बाद मुझे कितने पैसे भेजने हैं यह दर्ज करूंगा, मान लेते हैं कि ₹5000 मुझे भेजना है तो मैं ₹5000 दर्ज करूंगा।
  5. इसके बाद आपको Send या Pay पर क्लिक करना होता है।
  6. आप अपना MPIN दर्ज करेंगे और पैसे बताए गए यूपीआई आईडी पर ट्रांसफर हो जाएंगे।

वहीं अगर आप, किसी से पैसे लेना चाहते हैं। तो अगला व्यक्ति इसी स्टेप को अपनाते हुए वह अपने मोबाइल यूपीआई एप्लीकेशन पर आपका यूपीआई आईडी (UPI ID) दर्ज करेगा। और आपको जितने पैसे भेजने हैं वह दर्ज करने के बाद अपना एमपी दर्ज करेगा और जिस तरह से पैसे आपके खाते में आ जाएंगे।

Top UPI Apps list – टॉप यूपीआई ऐप की सूची

  • BHIM App
  • Google Pay Tez
  • SBI Pay
  • Amazon UPI
  • PhonePe

Benefits of UPI – यूपीआई के लाभ

UPI अब तक ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने का सबसे आसान और सबसे सुरक्षित तरीका है। बाजार में मौजूद पैसे ट्रांसफर करने वाले तरीकों के विपरीत यूपीआई आपको 24 * 7 उपलब्ध रहती है। यानी सीधे शब्दों में कहें तो जिस दिन बैंक बंद रहते हैं उस दिन भी आप यूपीआई की सहायता से पैसों को एक खाते से दूसरे खाते या एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के पास हस्तांतरण करने में सक्षम है।

यूपीआई के जरिए आपको निम्नलिखित लाभ मिलते हैं:-

  • आप पैसों को एक खाते से दूसरे खाते या एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के पास कभी भी किसी समय भी 24 * 7 भेज सकने में सक्षम होते हैं।
  • प्राप्तकर्ता को जोड़ने की कोई आवश्यकता नहीं (No need to add Payee) – यूपीआई के मामले में आपको बस प्राप्तकर्ता का वर्चुअल भुगतान पता यूपीआई आईडी दर्ज करना होगा। इसके लिए आपको बार-बार भुगतान करता को जोड़ने की आवश्यकता नहीं है।
  • No extra fee – कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं। NEFT या RTGS पर आपको शुल्क अदा करना पड़ता है। लेकिन यूबीआई के जरिए भुगतान करने पर आपको किसी भी तरह का शुल्क अदा करना नहीं पड़ता।
  • NEFT के जरिए पैसों को हस्तांतरित करने के लिए न्यूनतम शुल्क ₹2.50 पैसे है वहीं अगर आप IMPS या फंड ट्रांसफर करते हैं तो न्यूनतम ₹5 शुल्क लगता है, दूसरी ओर यूपीआई ट्रांसफर पूरी तरह से निशुल्क है।
  • यूपीआई अपने उपयोगकर्ताओं को मोबाइल वॉलेट की तुलना में अधिक लेनदेन राशि प्रदान करता है। e-wallet के मामले में अधिकतम लेनदेन राशि आमतौर पर ₹20000 तक सीमित होती है। लेकिन UPI के मामले में आप प्रतिदिन ₹100000 तक का लेन देन कर सकते हैं.
  • सुरक्षित लेनदेन : यूपीआई के माध्यम से भुगतान करना सबसे सुरक्षित है क्योंकि आपको अपना व्यक्तिगत विवरण जैसे कि खाता संख्या आधी साझा करने की आवश्यकता नहीं है। आपको केवल अपना यूपीआई आईडी साझा करना होता है जो आपकी किसी भी व्यक्तिगत जानकारी का खुलासा नहीं करता है।

आज के हमारे इस लेख में हम लोगों ने आप लोगों को इस बारे में जानकारी दी है कि आप किस तरह से How to Setup UPI ID – यूपीआई आईडी कैसे बनाएं उम्मीद करता हूं कि आज का हमारा या लेख आप लोगों को पसंद आया होगा। आप अपने परिवार वालों के साथ में इस आर्टिकल को शेयर कर सकते हैं। अगली बार जब भी आप अपने परिवार वालों को पैसे भेजें तो इस तरीके का इस्तेमाल जरूर करके देखें।