स्टॉक मार्केट पर निवेश कैसे करें?

स्टॉक मार्केट पर निवेश कैसे करें

स्टॉक मार्केट पर निवेश कैसे करें , बहुत सारे लोग शेयर बाजार पर निवेश करके अच्छा मुनाफा कमाना चाहते हैं। लेकिन उन्हें क्या पता नहीं होता कि वह कौन-कौन से तरीकों से स्टॉक मार्केट या शेयर बाजार में निवेश कर सकते हैं।

कुछ सालों से स्टॉक मार्केट में निवेश की बात करें तो लोगों की दिलचस्पी कुछ ज्यादा ही बढ़ गई है। और लोग स्टॉक मार्केट में निवेश करना अब पसंद करने लगे हैं। लोगों में स्टॉक मार्केट के जरिए सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान करना, इक्विटी शेयर में इन्वेस्टमेंट करना ज्यादा ही बढ़ गई है। अगर आप भी स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करके अच्छी खासी इनकम जनरेट करना चाहते हैं। तो, आप सही जगह आए हैं। हम आज अपने इस लेख में आपको उन सारे तरीकों के बारे में बताने वाले हैं जिन तरीकों का इस्तेमाल करके आप स्टॉक मार्केट में पैसे लगा सकते हो।

स्टॉक मार्केट पर निवेश कैसे करें

अगर पिछले कुछ सालों का रिकॉर्ड देखा जाए तो लोगों का रुझान स्टॉक मार्केट के तरफ कुछ ज्यादा ही बढ़ गया है। 4 से 5 सालों में भारत में लोगों का रुझान स्टॉक मार्केट और शेयर बाजार पर अधिक हुआ है। इसके कुछ मुख्य कारण भी हैं:-

  1. लोगों द्वारा डिजिटल उपकरणों का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना।
  2. इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, ई वॉलेट इत्यादि चीजों का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या बढ़ी है।
  3. मोबाइल में ऐसे प्लेटफार्म की उपलब्धता बड़ी है जिसकी सहायता से लोग रियल टाइम में स्टॉक खरीदना और बेचने का काम कर सकते हैं।
  4. स्टॉक मार्केट से संबंधित जानकारी अब लोगों को आसानी से अपने मोबाइल पर मिल जाती है। डिजिटलाइजेशन (Digitalization) के कारण अब लोगों को सारी जानकारी अपने मोबाइल फोन पर ही मिल जाती है।
  5. वही इन 4 से 5 सालों में स्टॉक मार्केट इंडेक्स काफी ज्यादा ऊपर चढ़ गया है। Sensex – 35 हजार से ऊपर और NEFTY – 10 हजार से ऊपर पहुंच चुका है।
  6. इसके अलावा निवेश के अन्य विकल्प भी लोगों के पास में आए हैं। जैसे कि बैंक में जमा, सोने पर इन्वेस्टमेंट, इत्यादि जिससे लोगों की लाभ की संभावना भी बढ़ चुकी है।

ऐसे में अगर कोई व्यक्ति स्टॉक मार्केट में निवेश करना चाहता है तो उसे कैसे शुरुआत करनी चाहिए? उसके पास कौन-कौन से तरीके हैं जिससे वह स्टॉक मार्केट में अपने प्राणों को लगा सकता है। आज हम अपनी रिपोर्ट में इसी बारे में जानकारी उपलब्ध कराने वाले हैं।

हम अपने इस पोस्ट में उन सारे पहलुओं पर चर्चा करेंगे, जो कि कोई नया व्यक्ति स्टॉक मार्केट पर इन्वेस्टमेंट करना चाहता है, और उसके मन में कई सारे सवाल आता है। जैसे कि :-

  1. स्टॉक मार्केट में निवेश करने के लिए मुझे कौन कौन से डॉक्यूमेंट लगेंगे?
  2. स्टॉक मार्केट पर निवेश करने के लिए आपको किस प्रकार के खाते की आवश्यकता होती है?
  3. स्टॉक मार्केट निवेश के लिए आपको कम से कम कितने पैसों की जरूरत पड़ेगी?
  4. स्टॉक मार्केट पर आप शेयर की खरीद बिक्री कैसे कर सकते हैं?
  5. स्टॉक मार्केट पर निवेश करके आप कैसे लाभ कमा सकते हैं?

हम अपनी इस पोस्ट में इन सारे सवालों को एक-एक करके जवाब देंगे। और हम उन सारे पहलुओं को अपने इस पोस्ट में छूने की कोशिश करेंगे जो किसी भी नए इन्वेस्टर के मन में होता है। हमें उम्मीद है कि आप हमारे इन सवालों के जवाब के उत्तर हमारे इस पोस्ट में अच्छी तरह से पढ़ पाएंगे। और आप स्टॉप मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने के लिए सक्षम हो पाएंगे। और आप यह निश्चय कर पाएंगे कि आपको स्टॉक मार्केट पर इन्वेस्टमेंट करना है या नहीं!

स्टॉक मार्केट में निवेश करने के लिए कौन कौन से डॉक्यूमेंट लगेंगे?

यह सवाल हर नए इन्वेस्टर के मन में आता है जो पहली बार स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करना चाहता है। हम यहां पर उन सारे डॉक्यूमेंट की एक लिस्ट दे रहे हैं जो स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट के समय आवश्यक होते हैं:-

  1. पैन कार्ड – PAN card
  2. केवाईसी डॉक्यूमेंट – KYC Document
  3. इंटरनेट बैंकिंग – Internet Banking

1 . PAN card :- शेयर बाजार या स्टॉक मार्केट पर निवेश करने के लिए सबसे पहले आपके पास में पैन कार्ड होना आवश्यक है। PAN card – Permanent Account Number होता है, पैन कार्ड का इस्तेमाल आप अक्सर वित्तीय लेनदेन में करते हैं। इसके साथ ही पैन कार्ड आप अपने बैंक खाते के साथ भी जोड़ते हैं। पैन कार्ड 10 अंकों का एक अकाउंट नंबर होता है। भारतीय आयकर विभाग द्वारा जारी किए जाने वाले एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। भारत में किसी भी वित्तीय लेनदेन के लिए पैन कार्ड नंबर होना आवश्यक होता है। अगर आपने अभी तक पैन कार्ड अपने लिए नहीं बनवाया तो आप अपने आधार कार्ड की सहायता से NSDL की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर के पैन कार्ड बनवा सकते हो।

2. KYC DocumentKYC – know Your Customer होता है। इसके अंतर्गत कोई भी वित्तीय संस्था आप से संबंधित जानकारी हासिल करती है। अर्थात केवाईसी फॉर्म की सभी वित्तीय संस्थान द्वारा भरवाने का मुख्य उद्देश्य है कि वह अपने ग्राहक को जानना एवं पहचानना चाहती है। इसके अंतर्गत कोई भी वित्तीय संस्थान आपसे Address proof document, Date of birth document, Identity proof document, इत्यादि चीजें मांगते हैं। इसके अंतर्गत आप आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, मैट्रिकुलेशन सर्टिफिकेट, पैन कार्ड, फोटो पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, बिजली बिल, इत्यादि चीजें जमा कर सकते हैं।

KYC meaning in Hindi -केवाईसी क्या है?

3. Internet Banking :- इंटरनेट बैंकिंग आप अपने संबंधित बैंक पर आवेदन देकर के प्राप्त कर सकते हैं। आज के डिजिटल युग में जहां हर कोई व्यक्ति इंटरनेट पर ऑनलाइन पैसों को हस्तांतरण करने के लिए इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करता है। ऐसे में आप भी इंटरनेट बैंकिंग की सहायता से पैसों को हस्तांतरण करेंगे।

आप जब भी स्टॉक मार्केट या शेयर बाजार से शेयर खरीदेंगे, उसका पेमेंट करने के लिए आपको अपने ब्रोकर को पेमेंट देना होगा और आपको ब्रोकर आपका पैसा शेयर बेचने वाले तक पहुंचाएगा। इन सारी प्रक्रियाओं को करने के लिए आपको इंटरनेट बैंकिंग की आवश्यकता पड़ती है।

जो शेयर या स्टॉक आप शेयर बाजार से खरीदते हो वह आपके डिमैट अकाउंट (DEMAT ACCOUNT ) पर जमा हो जाता है। डिमैट अकाउंट क्या होता है अगर इसके बारे में आपको अधिक जानकारी चाहिए तो आप हमारा आर्टिकल नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं।

Demat account क्या है? How to open Demat account Hindi

आपको अपने ब्रोकर को भुगतान करने के लिए सबसे पहले आपको इंटरनेट बैंकिंग की आवश्यकता होती है। आपका खाता आपके डिमैट अकाउंट से जुड़ा हुआ होता है। जब आप अपने शेयर को बेचते हो तो वह पैसे आपके डीमेट अकाउंट से जुड़े खाते में आ जाते हैं। ठीक उसी तरह, जब आप शेयर को खरीदते हो तो आप अपने उसी खाते को भुगतान के लिए इस्तेमाल करते हो। ब्रोकर आपके खाते से पैसे लेकर के बेचने वाले को पैसे दे देता है।

स्टॉक मार्केट पर निवेश करने के लिए आपको किस प्रकार के खाते की आवश्यकता होती है?

स्टॉक मार्केट में शेयर बाजार में निवेश करने से पहले आपको इस बारे में जानकारी होना जरूरी है कि आप कभी भी स्टॉक एक्सचेंज (Stock Exchange) जैसे कि BSE और NSE पर सीधे स्टॉक की खरीद बिक्री नहीं कर सकते हैं। आपको स्टॉक या शेयर खरीद बिक्री के लिए ब्रोकर की सहायता लेनी पड़ती है।

ब्रोकर शेयर बाजार में स्टॉक एक्सचेंज यानी कि BSE और NSE से सीधे किसी भी कंपनी के शेयर को खरीदने में सहायता प्रदान करती है। ऐसे में हमें किसी एक ब्रोकर के माध्यम से ही शेयर को खरीदना और बेचना पड़ता है। शेयर मार्केट पर इन ब्रोकर को Stock Broker कहा जाता है।

स्टॉक ब्रोकर कोई एक व्यक्ति भी हो सकता है या कोई एक कंपनी भी हो सकती है। स्टॉक ब्रोकर को SEBI के अंतर्गत रजिस्टर्ड होना जरूरी होता है। स्टॉक ब्रोकर किसी ब्रोकरेज फॉर्म से जुड़ा होना जरूरी होता है। हम इनके सहायता से शेयर मार्केट पर शेयर की खरीद बिक्री करते हैं।

Demat Account ( डिमैट अकाउंट ) :- खरीदी गई शेयर को अपने पास रखने के लिए हमारे पास में एक डीमैट खाता होना आवश्यक होता है।

डीमैट खाता एक ऐसा खाता होता है जिसमें आप इलेक्ट्रोनिक फॉर्म (electronic form) में अपने खरीदे गए शेयर या स्टॉक को आप जमा करके रखते हो। यह ठीक एक बैंक खाते की तरह ही होता है, जहां पर आप अपने पैसों को जमा करके रखते हो। हो सकता है पड़ने पर आप अपने बैंक से पैसों को निकाल कर के अपने लिए कुछ सामान खरीदते हो। तो आपका बैंक खाता से पैसे कट जाते हैं।

ठीक इसी तरह, डिमैट अकाउंट भी होता है जहां पर आप के शेयर जमा हो कर के रखे जाते हैं। जब आप उनसे शेयर को बेचते हो तो उस डिमैट अकाउंट से शेयर डेबिट हो करके किसी दूसरे के खाते पर चले जाते हैं। इसलिए शेयर बाजार में निवेश करने के लिए आपके पास में डिमैट अकाउंट होना जरूरी होता है।

Note:- ध्यान रहे कि कोई भी स्टॉक ब्रोकर अपनी सेवाओं के बदले में आपसे कुछ फीस लेता है। जिसे ब्रोकरेज (Brokerage) कहते हैं। जब भी आप अपने स्टॉक ब्रोकर का चुनाव करें तो स्टॉकब्रोकर द्वारा दी जाने वाली सेवाओं और उसके एवज पर ली जाने वाली ब्रोकरेज की तुलना मार्केट में मौजूद अन्य स्टॉक ब्रोकर से जरूर कर ले। ताकि आप अपनी सेवाओं के लिए कम पैसे खर्च कर सके। इसके साथ ही आपको बेहतर सेवा मिले।

स्टॉक मार्केट निवेश के लिए आपको कम से कम कितने पैसों की जरूरत पड़ेगी?

अगर आप एक नए व्यक्ति है जो स्टॉक मार्केट पर पैसे लगाना चाहता है। उसके मन में यह सवाल जरूर आता है कि स्टॉक मार्केट पर निवेश करने के लिए कम से कम मुझे कितने पैसों की आवश्यकता होगी?

इसके साथ ही वह इस बारे में भी सोचता है कि क्या मुझे बैंक खाते की तरह इसमें भी किसी प्रकार की मिनिमम बैलेंस को मेंटेन करके रखना है?

लेकिन हम आपको यह साफ कर देना चाहते हैं कि स्टॉक मार्केट में निवेश करने के लिए किसी भी प्रकार की बड़ी रकम की आवश्यकता नहीं होती है। आप चाहे तो ₹100 ,₹50 या फिर ₹500 जितनी रकम आप चाहे लगा कर के स्टॉक मार्केट से शेयर खरीद सकते हैं। स्टॉक मार्केट में ऐसा कोई नियम नहीं है कि आप कितने पैसे लगाते हो। यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप कितने पैसे लगाना चाहते हो।

इसके अलावा भी कुछ लोगों के मन में यह भी सवाल आते हैं कि क्या उन्हें डिमैट अकाउंट (DEMAT ACCOUNT) या ट्रेडिंग अकाउंट (Trading Account) के लिए भी क्या मिनिमम बैलेंस रखना पड़ता है?

तो आप यहां पर भी निश्चित हो सकते हैं। क्योंकि यहां पर ऐसा कुछ नहीं होता। बल्कि, डिमैट अकाउंट पर केवल आपके खरीदे गए शेयर को रखना पड़ता है। ना कि पैसों को। यह बात आपको समझ में आ गई होगी कि डीमेट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट को मेंटेन करने के लिए आपको किसी प्रकार की मिनिमम बैलेंस की आवश्यकता नहीं होती है। बल्कि इन दोनों अकाउंट के जरिए आप शेयर की खरीद बिक्री एवं उनको इलेक्ट्रॉनिक रूप में आप अपने खाते पर जमा करके रखते हो।

Trading account ( ट्रेडिंग अकाउंट) :- पर आपको उतने ही पैसे रखने की जरूरत होती है जितना कि आप उस दौरान शेयर मार्केट से शेयर खरीद रहे होते हैं। तो आप अपने ट्रेडिंग अकाउंट में उतना ही पैसा रखिए जितना कि आप शेयर बाजार पर निवेश करना चाहते हैं। यहां पर भी स्टॉक ब्रोकर ट्रेडिंग अकाउंट में किसी तरह का कोई भी मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने की बात नहीं कहता है।

स्टॉक मार्केट पर आप शेयर की खरीद बिक्री कैसे कर सकते हैं?

आप में से बहुत सारे लोगों के मन में यह सवाल तो आ ही रहा होगा कि हम स्टॉक मार्केट या शेयर बाजार पर शेयर की खरीद बिक्री कैसे कर सकते हैं?

हम आप लोगों को यह साफ कर देना चाहते हैं कि शेयर या स्टॉक खरीदना या बेचना उतना ही आसान है जितना कि आप अपने स्मार्टफोन की सहायता से किसी को SMS, WhatsApp इत्यादि करते हैं।

जब आप किसी ब्रोकर से डिमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलते हैं तो ब्रोकर आपको स्टॉक खरीदने एवं बेचने के लिए ट्रेडिंग अकाउंट (Trading Account) पर लॉगइन करने के लिए user ID and Password देता है।

आप उस यूजर आईडी एवं पासवर्ड की सहायता से आसानी से ट्रेडिंग अकाउंट पर लॉगिन हो सकते हैं। उसकी सहायता से आप ब्रोकर के वेबसाइट से स्टॉक एक्सचेंज पर मौजूद शेयर एवं स्टॉक मार्केट को आप देख सकते हैं। अपनी इच्छा अनुसार ब्रोकर को उस शेर को खरीदने के लिए आर्डर दे सकते हैं। इस तरह से आप अपने ब्रोकर को शेयर की खरीद एवं बिक्री के लिए निर्देश देते हैं।

यहां पर आपको इस बात का भी ध्यान रखना है कि स्टॉक मार्केट में दो तरह की ट्रेडिंग या व्यापार होता है।

  1. इंट्राडे ट्रेडिंग Intraday Trading
  2. डिलीवरी बेस्ड ट्रेडिंगDelivery Based Trading

इंट्राडे ट्रेडिंग Intraday Trading :- इसमें आप वास्तव में शेयर को अपने पास रखने के लिए नहीं खरीदते हो, बल्कि आप सिर्फ शेयर के भाव में होने वाले उतार-चढ़ाव का फायदा उठाकर के लाभ कमाना चाहते हैं। इंट्राडे ट्रेडिंग पर आप जिस दिन शेयर खरीदने का आर्डर देते हैं उसी दिन आपको शेयर भी बेचना पड़ता है।

और इस तरह अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग करना चाहते हैं तो आपको अपने ट्रेडिंग अकाउंट में लॉगइन करके, स्टॉक खरीदने का आर्डर देते समय इंट्राडे का विकल्प का चुनाव करना पड़ता है।

डिलीवरी बेस्ड ट्रेडिंग – Delivery Based Trading :- अगर आप खरीदे गए शेयर को कुछ दिन तक या फिर अपने पास कुछ समय या सालों तक रखना चाहते हैं तो आप शेयर को खरीदते वक्त Delivery Based Trading के विकल्प का चुनाव कर सकते हैं।

इस तरह के ट्रेडिंग में आप शेयर को खरीद करके लंबे समय तक रखते हैं। और जब आपको ऐसा लगे कि शेयर के पैसे बढ़ गए हैं। तो आप उसे बेच सकते हो।

Note :- डिलीवरी बेस्ड ट्रेडिंग करते वक्त आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप जब इस तरह के शेयर खरीदे हो उस दिन कुछ छोड़ कर के, अगले 2 दिन (T+2days) पर शेयर आपके डिमैट खाते पर जमा होते हैं।

इस तरह की ट्रेडिंग करते वक्त आप इस बात का भी ध्यान रखें कि, जब आपके डिमैट खाते पर शेयर आ जाए तभी आप उसे बेचने के बारे में सोचें। अगर आप शेयर बाजार से मुनाफा कमाना चाहते हैं तो शेयर बाजार पर निवेश करने से पहले आप एक बार जरूर सोचने की आपको किस तरह की ट्रेडिंग करके शेयर बाजार में निवेश करना है। यानी कि इंट्राडे ट्रेडिंग और डिलीवरी बेस्ड ट्रेडिंग

स्टॉक मार्केट पर निवेश करके आप कैसे लाभ कमा सकते हैं?

स्टॉक मार्केट में निवेश करने वाले किसी भी नए निवेशक के मन में यह सवाल सबसे पहले आता है। कि “मैं स्टॉक मार्केट पर निवेश करके कैसे लाभ कमा सकता हूं?”

स्टॉक मार्केट में निवेश करके आप कई तरह से लाभ कमा सकते हो। आप स्टॉक मार्केट में निवेश करते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि आप शेयर बाजार पर जितने पैसे किसी कंपनी के शेयर को खरीदने में लगाते हैं। वह पैसा उस कंपनी को आप पूंजी के रूप में दे रहे होते हैं। यानी कि अगर वह कंपनी लाभ अर्जित करती है, तो आप को भी लाभ मिलेगा और यदि वह हानि पर जाती है तो आपको भी हानि होगी। इस तरह से देखा जाए तो आप उस कंपनी में हिस्सेदारी/ पार्टनरशिप/ मालिक बन जाते हैं।

इस तरह से देखा जाए तो कोई भी बिजनेस के मालिक को जो फायदा पहुंचता है। वही फायदा आपको भी पहुंचता है। जैसे कि:-

  1. कंपनी जो लाभ कमा रही है उसमें हिस्सेदारी (share on Business profit)
  2. कंपनी की संपत्ति के कुल मूल्य और पूंजी में होने वाली वृद्धि (Capital Appreciation)

ठीक इसी तरह से जब आप किसी कंपनी का स्टॉक किया शेयर खरीदते हैं तो आपको इसके अलावा भी दो तरह के लाभ मिलते हैं।

1. लाभांश (Dividend Income):- कंपनी जो भी लाभ कम आती है उस लाभ का एक हिस्सा लाभांश के तौर पर अपने शेयर होल्डर (Share holder) को देती है। जब शेयरधारकों कंपनी से लाभ के रूप में अपना हिस्सा मिलता है तो उसे लाभांश कहते हैं।

लाभांश के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके हमारा यह आर्टिकल पढ़ सकते हैं।

Share पर आपको Dividend कब मिलता है? Dividend Hindi

2. पूंजी में होने वाली वृद्धि (Capital Appreciation) :- कंपनी की पूंजी में होने वाली वृद्धि को आप कंपनी के स्टोर किया शेयर के भाव में होने वाली वृद्धि के रूप में समझ सकते हैं। जैसे-जैसे कंपनी की पूंजी बढ़ती है, वैसे वैसे कंपनी की लाभ कमाने की क्षमता और उसकी संपत्ति भी बढ़ती है। कंपनी से संबंधित लोन भी कम होने लगता है। आपने एक निश्चित मूल्य पर उस कंपनी के शेयर को खरीदा है। कंपनी के पूंजी बढ़ने के साथ-साथ कंपनी के शेयर के मूल्य में भी बढ़ोतरी होती है। आप जब चाहे तब उस कंपनी के शेयर को बीच करके लाभ कमा सकते हो।

उदाहरण :- मान लिया कि, आपने ABC कंपनी के 1000 शेयर ₹10 के भाव में खरीदे। तब आपने उस कंपनी पर 1000×₹10= ₹10000 निवेश किए हैं। अब कंपनी अच्छा काम कर रही है। इस चलते वाह हर साल लाभ भी कमा रही है। इसका असर उसके शेयर की कीमत पर पड़ेगा। इस वजह से मान लेते हैं कि शेयर की कीमत पर ₹20 की बढ़ोतरी होती है। ऐसा देखा जाए तो आपके द्वारा निवेश किए गए ₹10000 अब बढ़कर के 1000×₹30= ₹30000 हो गए हैं। यानी कि आप को कुल ₹20000 का लाभ हुआ है। आप ऐसा करके अच्छा खासा लाभ कमा सकते हैं।

दोस्तों, हमने अपने इस लेख में उन सारे सवालों को शामिल किया है जो किसी भी नए निवेशक के मन में आते हैं। उम्मीद है कि हमारे इस लेख से आपको शेयर बाजार में निवेश कैसे करें? स्टॉक मार्केट पर निवेश कैसे करें? जरूर समझ में आ गया होगा। इसके साथ ही हमने अपने इस लेख में आप लोगों को यह भी बताया है कि आप शेयर बाजार पर निवेश करके किस तरह से लाभ कमा सकते हो। अगर इससे संबंधित आपके कुछ सवाल एवं सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स पर कमेंट करके बता सकते हैं।


Published on जुलाई 24, 2021

About Admin Desk

Admin Desk हम हिंदी भाषा में यहां सरल शब्दों में आपको ज्ञानवर्धक जानकारियां उपलब्ध कराने की कोशिश करते हैं। ज्यादातर जानकारी है इंटरनेट पर अंग्रेजी भाषा में मौजूद है। हमारा उद्देश्य आपको हिंदी भाषा में बेहतर और अच्छी जानकारी उपलब्ध कराना है।