Stock market क्या होती है? Stock market kya hai in hindi

दोस्तों इससे पहले वाले पोस्ट में हमने आप लोगों को Demat account से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराई थी। आज हम फिर से Share market या Stock market से संबंधित जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।

आप में से बहुत सारे लोगों ने हमसे Stock मार्केट से संबंधित जानकारी देने के लिए आग्रह किया था। तो आज हम अपने इस पोस्ट में Stock market क्या होती है? लोग इसके जरिए किस तरह से कमाई कर पाते हैं? इससे संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे. What is Stock market in Hindi?

अक्सर आपने सोशल मीडिया या दूसरे प्लेटफार्म पर यह बात तो जरूर सुनी होगी फलना बंदा ने स्टॉक मार्केट या शेयर मार्केट में पैसे लगाए और वह लाखों करोड़पति बन गया? इसलिए लोगों के बीच में स्टॉक मार्केट या शेयर मार्केट के बारे में जानकारी इतनी ज्यादा नहीं है। बहुत से लोग तो यह भी सोचते हैं कि स्टॉक मार्केट में पैसे कैसे लगाएं और हम भी दो चार रुपए स्टॉक मार्केट के जरिए कैसे कमा सकते हैं।

अगर आप Stock market पर पैसे सही तरीके से invest कहते हैं तो आपको अच्छा return मिलता है। लेकिन वहीं अगर आप सही तरीके से पैसे नहीं लगाते या फिर आपको स्टॉक मार्केट के बारे में सही से जानकारी नहीं है तो यह आपके लिए बहुत बड़ा घाटा का सौदा भी साबित हो सकता है।

इसलिए आप जब stock market या share market में पैसे लगाने के बारे में सोचें, तो सबसे पहली चीज है कि आपको इनके बारे में जानकारी होनी चाहिए। Subscribedनहीं तो आपके पैसे डूब सकते हैं। तो चलिए जानते हैं, Stock market kya hota hai? What is Stock market in Hindi. Stock market क्या होता है? Share market क्या है? इसके जरिए आप कैसे कमाई कर पाएंगे?

स्टॉक मार्केट क्या है? (What is Stock market in Hindi)

जैसा कि हमने ऊपर Stock market, share market दोनों ही शब्दों का इस्तेमाल किया है। इससे एक बात साफ है stock market, share market और equity market तीनों ही एक ही चीज होती है। इन तीनों शब्दों में आप को confuse या अंतर करने का कोई जरूरत नहीं है। अगर इसमें थोड़ा बहुत भी अंतर है तो हम इसे नीचे अपने पोस्ट में आपको इसके बारे में जानकारी भी देंगे।

तो चलिए सबसे पहले हम लोग जान लेते हैं की share market क्या चीज होती है? और यह किस तरह से स्टॉक मार्केट की तुलना में थोड़ी सी भिन्न होती है।

Share Market क्या होता है?

Share market में “Share” शब्द का अर्थ आप में से बहुत सारे लोग तो जरूर जानते होंगे, अगर आपको नहीं पता तो कोई बात नहीं! ‘Share ‘ का हिंदी अर्थ ‘हिस्सा’होता है।

यानी कि जब भी आप शेयर मार्केट से किसी कंपनी का शेयर खरीदते हो तो, आप उस कंपनी में अपनी हिस्सेदारी खरीदते हैं। इसे आप ऐसे समझ सकते हैं, मान लीजिए किसी कंपनी ने 1000 शेयर निकालें, जिसमें से आपने 30% शेयर की हिस्सेदारी share market के जरिए खरीदी। जिसका मतलब यह है कि आप उस कंपनी के 30% हिस्सेदारी के मालिक हैं।

ऊपर ऊपर दिए गए उदाहरण से यह आपको साफ-साफ पता चल गया होगा कि शेयर मार्केट क्या चीज है? आप जब भी किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं तो आप उस कंपनी में अपनी हिस्सेदारी खरीदते हैं। अब यह बात आपको समझ में आ ही गई होगी की share market एक ऐसा बाजार है, जहां पर आप विभिन्न कंपनियों की हिस्सेदारी खरीद सकते हैं।

Stock market क्या होता है?

वहीं जब हम stock market के बारे में बात करते हैं तो, स्टॉक मार्केट में किसी भी व्यक्ति की हिस्सेदारी को दिखाया जाता है।और वह व्यक्ति जब चाहे तब अपने शेयरों को दूसरे को भेज सकता है। या किसी दूसरे व्यक्ति से खरीद सकता है।

किसी भी कंपनी का Stock का मूल्य BSE में दर्ज किया जाता है। ज्यादातर कंपनियां अपने स्टाफ का मूल्य कंपनी की लाभदायक क्षमता के अनुसार कम या फिर ज्यादा रखते हैं। बाजार में नियंत्रण रखने के लिए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) के द्वारा ही नियम एवं कानून बनाए जाते हैं। उदाहरण के तौर पर किसी कंपनी को initial public offering जारी करनी है, इसके लिए कंपनी को SEBI से अनुमति लेकर के आईपीओ IPO जारी करता है।

Stock market में कंपनी कैसे लिस्टेड होती है?

Stock market में किसी भी कंपनी को लिस्टेड होने के लिए एक घन प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। इसके लिए कंपनी को एक्सचेंज में लिखित दस्तावेज और समझौते करने पड़ते हैं, जिसके तहत कंपनी को समय-समय पर अपनी कंपनी की सारी जानकारी एक्सचेंज और अपने निवेशकों के हितों को ध्यान में रखकर के साझा करनी पड़ती है।

कंपनी द्वारा दिए गए जानकारी के आधार पर ही किसी भी कंपनी के stock का मूल्यांकन किया जाता है और इस मूल्यांकन के आधार पर मांग घटने बढ़ने पर उस कंपनी के शेयर की कीमतों पर उतार-चढ़ाव देखा जाता है। अगर कोई भी कंपनी समझौते का पालन नहीं करती है, तो exchange में listed company के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए SEBI द्वारा ही कदम उठाया जाता है।

इसके इसके लिए SEBI ने कुछ मापदंड भी बनाए हैं। इन मापदंडों को पूरा करने पर ही किसी भी कंपनी को exchange में ‌ listed किया जाता है। इसे मुख्य तौर पर दो मापदंडों या पात्रता देखी जाती है।

  1. आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO, Initial public offering) के जरिए
  2. पूंजी और बाजार पूंजीकरण के भुगतान के आधार पर

इन दोनों तरीकों को पात्रता मापदंडों का आधार बना कर के ही किसी भी कंपनियों को एक्सचेंज पर लिस्टेड किया जाता है। तो चलिए पहले थोड़ी बहुत जानकारी ले लेते हैं कि यह पात्रता मापदंड क्या है?

Initial public offering के आधार पर

Stock exchange पर लिस्टेड होने के लिए किसी भी कंपनी को सबसे पहले ही इनिशियल पब्लिक आफरिंग (IPO) जारी करके ऐसा कर सकता है। इनिशियल पब्लिक आफरिंग जिसे हिंदी में आरंभिक सार्वजनिक पेशकश भी कहते हैं। इसके लिए कंपनी के सूची बात करने के लिए निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए।

  1. भुगतान की गई पूंजी :- आवेदक द्वारा भुगतान की गई इक्विटी पूंजी ₹10 करोड़ से कम नहीं होनी चाहिए। इसके साथ ही आवेदक की इक्विटी का पंजीकरण ₹25 करोड़ से कम नहीं होना चाहिए।
  2. सूचीबद्ध (exchange में listed) होने से पहले किसी भी कंपनी को जारीकर्ता, प्रतिभूति संविदा (विनियम) अधिनियम 1956, कंपनी एक्ट 1956, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड अधिनियम 1992, से अंतर आलिया के रूप में सूचीबद्ध होने से पहले की शर्तों का पालन करना आवश्यक है।
  3. इन नियमों के आधार पर ही कंपनी द्वारा समझौते पर हस्ताक्षर किया जाता है।
  4. कम से कम 3 साल का ट्रैक रिकॉर्ड मांगा जाता है। आवेदकों की सूची या प्रमोटर को बढ़ावा देने वाली कंपनी, भारत में या बाहर शामिल या साझेदारी फॉर्म और बाद में एक कंपनी में परिवर्तित हो गई इत्यादि चीजें देखी जाती है।
  5. कंपनी के नेटवर्क को संचित घाटे से नहीं मिटाया गया है जिसके परिणाम स्वरूप एक नकारात्मक नेटवर्क है।
  6. कंपनी ने किसी भी अदालत द्वारा दाखिल याचिका को खारिज नहीं किया है।
  7. इसके अलावा शेयर होल्डिंग/प्रमोशन कंपनीज पिछले तीन कैलेंडर वर्षों के 31 मार्च को शेयर होल्डिंग पेटर्न को अलग से दिखाया जाता है।
  8. अगर कोई कंपनी 6 महीने के भीतर IPO जारी करने के बाद एक्सचेंज पर लिस्टेड होने के लिए आवेदन देती है तो इन सारी पात्रताम् और कंपनी के लिए यह मापदंड लागू किए जाते हैं। और बाजार पूंजीकरण और गणना IPO से लिस्टिंग के समय की अवधि के आधार पर की जाती है।

पूंजी और बाजार पूंजीकरण के भुगतान के आधार पर

कंपनी को उसकी पूंजी और बाजार पूंजीकरण के भुगतान के आधार पर भी exchange पर listed किया जाता है। इसके लिए भी कुछ मापदंड दिए गए हैं। जिसे हमने नीचे दिया है। Stock market kya hai in hindi

  1. आवेदक की चुकता इक्विटी पूंजी ₹10 करोड़ से कम नहीं होनी चाहिए।
  2. इक्विटी का बाजार पूंजीकरण ₹25 करोड़ से कम नहीं होगा।
  3. या इसके अलावा भुगतान की गई इक्विटी पूंजी ₹25 करोड़ से कम नहीं होगी। यदि बाजार पूंजीकरण ₹250000000 से कम है तो कंपनी की प्रतिभूतियों का अंतिम 12 महीने के दौरान कम से कम 25% व्यापारिक दिनों के लिए कारोबार करना चाहिए।
  4. इसके अलावा भी कुछ नियम और शर्ते हैं आवेदक की इक्विटी का बाजार पूंजीकरण 50 करोड़ से कम नहीं होगा।
  5. इसके अलावा कंपनी को अधिनियम 1956, कंपनी एक्ट 1956, प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड अधिनियम 1992 का भी पालन और समझौते पर हस्ताक्षर करना होगा।
  6. इसके तहत कंपनी के 3 साल का ट्रैक रिकॉर्ड भी देखा जाता है।
  7. तभी जाकर के किसी कंपनी को Stock exchange पर listed किया जाता है।

Share/Stock कितने प्रकार के होते हैं?

शेयर कई प्रकार के हो सकते हैं, लोग इन्हें अलग-अलग रूप में परिभाषित करते हैं। लेकिन शेयर को मुख्य तौर पर तीन रूप में बांटा जा सकता है। तो चलिए जानते हैं कि शेयर के कितने प्रकार होते हैं।

1.Authorised Capital Share

Authorised capital share वह पूंजी होती है, जिसे कंपनी पब्लिक के लिए शेयर बेच करके इकट्ठा करती है।

यह यह कौन सी होती है जिसमें कंपनी रजिस्टर्ड होती है। यह अधिकतम शेयर होता है जिसे कंपनी लोगों के लिए जारी करती है और जिसके जरिए वह पूंजी इकट्ठा करती है। Authorised capital को registered capital या nominal capital भी कहते हैं। इसे आप यू समझ सकते हैं। इसे समझाने के लिए हमने एक उदाहरण दिया है।

मान लीजिए कि किसी कंपनी की अधिकतम share issue करने की क्षमता केवल 200000 शेयर ही जारी कर सकता है। मान लिया प्रत्येक शेयर की कीमत यानी कि face value ₹10 है। तब कंपनी द्वारा अर्जित किया गया, Authorised capital होगी 2,00,000 ×10 = ₹20,000,00 equity share के जरिए प्राप्त होगा।

2. Issued capital share

यह Authorised capital share का वह भाग होता है, जिसे कोई कंपनी निवेश के लिए शेयर जारी करती है। इससे यह पता चलता है कि कोई कंपनी authorised capital share में से कितने issued capital share जारी किया है। इसका अंतर यह दर्शाता है कि कंपनी मेमोरेंडम के तहत कितने शेयर जारी कर सकती है।

मान लीजिए कि कंपनी का सब्सक्राइब कैपिटल शेयर लगभग 10 लाख इक्विटी शेयर है, और कंपनी को अपने बिजनेस के विस्तार के लिए एक करोड़ रुपयों की आवश्यकता है, ऐसे में कंपनी 10 लाख इक्विटी शेयर जारी करेगी, अगर उस इक्विटी शेयर का face value ₹10 हो तो, उस हिसाब से 1000000 इक्विटी शेयर का कीमत 10000000 रुपए होते हैं।Stock market kya hai in hindi

3. Subscribed capital share

यह शेयर issued share का वह भाग होता है, जिसमें निवेशक subscribe करते हैं। जब सब्सक्राइब कैपिटल शेयर निवेशकों द्वारा खरीद लिया जाता है तब issued capital share और subscribed capital share एक समान होते हैं।

Subscribed capital share वहां पूंजी होती है जिसे किसी कंपनी को पब्लिक के द्वारा subscribe या application द्वारा पूंजी प्राप्त होता है। Subscription या application वह चीज होती है जिसमें पब्लिक उस कंपनी के शेयर खरीदने में रुचि दिखाते हैं। Stock market kya hai in hindi

Share market से पैसे कैसे कमाए?

Share market से पैसे कमाने के लिए आपको सबसे पहले अपने लिए Demat account खुली की जरूरत पड़ती है। Demat account एक तरह का बैंक अकाउंट की तरह की कार्य करती है। लेकिन डिमैट अकाउंट में पैसों की जगह digital रूप में आपके द्वारा खरीदे गए शेयर को Store करके रखा जाता है। Stock market kya hai in hindi

SEBI के नियम के अनुसार आप बिना Demat अकाउंट के शेयर बाजार से शेयर की खरीद एवं बिक्री नहीं कर सकते हैं। इसलिए अगर आप शेयर बाजार से शेयर खरीदने के बारे मैं सोच रहे हैं तो आप अपने लिए सबसे पहले एक डीमेट अकाउंट जरूर खुलवा लीजिए।

Trading share market में क्या होती है?

जिस तरह से हमने आपको ऊपर बताया कि Demat account पर जब भी आपको ही शेयर खरीदते हैं, तो holding के रूप में share आपके Demat account पर credit हो जाती है। चाहे आपने जितने भी शेयर क्यों ना खरीदे हो? डिमैट अकाउंट पर लिस्ट के रूप में आप उसे देख सकते हैं।

लेकिन मान लीजिए अगर आप आपके द्वारा खरीदे गए , share को बेचना चाहते हैं, तो आप उसे NSE (National Stock exchange) और BSE (Bombay Stock exchange) भारत में दो ही Stock exchange है, आप अपने शेयर को इन्हीं दो एक्सचेंज में trading करते हो। इसके लिए आपको एक Trading account की आवश्यकता होती है। आज बाजार में ऐसी कई सारी कंपनियां हैं जो Demat account के साथ-साथ Trading account की सेवा मुहैया करवाती है। तो चलिए जान लेते हैं, trading account कितनी तरह की होती है। Stock market kya hai in hindi

Types of Trading account – ट्रेडिंग अकाउंट के प्रकार

Equity and derivative trading account :- इस तरह की ट्रेडिंग अकाउंट भारत के मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज जैसे कि NSE या BSE के stock broker के माध्यम से खोला जाता है। इस तरह के ट्रेडिंग अकाउंट में आपको शेयर खरीदने के लिए सबसे पहले आपको ट्रेडिंग अकाउंट में पैसे जमा करने होते हैं उसके बाद आप इन पैसों से शेयर कर सकते हैं। या फिर पहले से आपके पास में Demat account है तो आप इसे अपने trading account के साथ जुड़ सकते हैं। जिसके जरिए आप अपने मौजूदा शेयर को बेज सकते हैं।
इस तरह के ट्रेडिंग अकाउंट में जितने भी लेनदेन होते हैं T+1 यानी कि trading के दूसरे दिन आपके डीमेट अकाउंट पर share credit कर दी जाती है। Stock market kya hai in hindi

Commodities Demat account and trading account:- यह एक खास तरह का Demat account ही होता है, जिसके जरिए आप commodities share की खरीद बिक्री कर सकते हो, यह trading account की भांति ही कार्य करती है।

Commodities trading account भारत में मान्यता प्राप्त किसी भी comodity exchange जैसे कि MCX या NCDEX के जरिए खोला गया हो। इस तरह के खाते में भी आपको सबसे पहले धनराशि जमा करनी पड़ती है तभी उसके बाद आप शेयर की खरीद बिक्री कर सकते हैं। Stock market kya hai in hindi

Discount broking account :- यह विशेष तौर पर उस तरह के लोगों के लिए है जो कम लागत पर भारी मात्रा में ट्रेडिंग करते हैं। क्योंकि वे व्यापार के लिए निष्पादन प्रदान करते हैं। वह अपने ग्राहकों के लिए ग्राहक सेवा या सलाहकार या शोध इत्यादि चीजों के लिए कोई सेवा प्रदान नहीं करती है।

यही कारण है कि वह बहुत ही कम ब्रोकरेज की पेशकश करते हैं, ज्यादातर इनके द्वारा किए जाने वाले कार्य सभी ऑनलाइन होते हैं। क्योंकि इनके पास सलाहकार या ग्राहक सेवा के लिए कोई परिचालन नहीं होता है। साथ ही में कॉल ऑफ या ट्रेडिंग सेवाओं के लिए उनके पास कोई ऑफलाइन माध्यम नहीं होता है। इस र के खाते में ब्रोकर आपसे अत्यधिक चार्ज भी ले सकते हैं।

Conclusion

आज के हमारे इस पोस्ट से आपको कुछ जरूरत नया सीखने को मिला होगा, आज के हमारे इस पोस्ट में हमने आपको Stock market क्या होती है? इसके जरिए आप कैसे कमाई करोगे? Stock market kya hai? Share market kya hai? Trading account kya hai? इत्यादि चीजों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई है।उम्मीद करता हूं कि आपको हमारे आज के इस पोस्ट से जरूर कुछ नया सीखने में मिला होगा। शादी में अगर आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया है तो आप इसे social media पर आवश्यक शेयर करें। इससे संबंधित अगर आपकी कुछ सवाल एवं सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स पर कमेंट करके बता सकते हैं।

About the author: Sids Dodrai

दोस्तों मैं इस ब्लॉक का संस्थापक हूं, मुझे इंटरनेट से जुड़ी और नई नई जानकारियां काफी पसंद है, इसलिए मैं ब्लॉगिंग के माध्यम से आप सभी को अच्छी से अच्छी जानकारी उपलब्ध कराने की कोशिश करता हूं।,??

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status