Demat account क्या होता है?

दोस्तों अगर आप ऑनलाइन शेयर खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो, आपके पास में Demat account होना बहुत जरूरी है। तभी आप शेयर खरीद सकते हैं। अगर आप शेयर मार्केट के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी रखते हैं तो आप Demat सबसे थोड़ी बहुत तो परिचित जरूर होंगे।

आज भारत में ऐसी बहुत सारी कंपनियां मौजूद है जो आपको online Demat account खोलने की सुविधा प्रदान करती है।डीमेट अकाउंट एक तरह से बैंक अकाउंट की तरह ही काम करता है। जहां बैंक अकाउंट में आप अपने पैसों को जमा करके रखते हैं। वही Demat account पर आपके द्वारा खरीदे गए share डिजिटल रूप से स्टोर क्या हुआ होता है।

आप इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि Demat account के जरिए आप अपने खरीदे गए share को hold करके रखते हैं। आप अपने डिमैट अकाउंट के सहायता से ही बाद में trading account के जरिए share को buy और sell भी कर सकते हैं।

आज के हमारे इस पोस्ट में हम इस बारे में चर्चा करेंगे कि Demat account क्या होता है? Demat account kya hota hai? डीमेट अकाउंट क्या होता है? शेयर खरीदने के लिए डीमेट अकाउंट क्यों जरूरी होती है? अपना डिमैट अकाउंट कैसे खोल सकते हैं?

Demat account क्या होता है? What is Demat account in Hindi

Demat account भी एक तरह का बैंक खाते की तरह ही काम करता है। जिस तरह से आप अपने बैंक खाते पर पैसों को इलेक्ट्रॉनिक रूप या डिजिटल रूप में जमा करके अपने पासबुक पर देख सकते हैं। ठीक उसी तरह डीमेट अकाउंट पर आप शेयर खरीद करके इसमें डिजिटल तरीके से रख सकते हैं।

डीमेट अकाउंट शेयर खरीदने के लिए क्यों होना चाहिए?

जब भी आप शेयर खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो आपके पास में डीमैट अकाउंट होना अति आवश्यक है। ऐसा इसलिए क्योंकि SEBI के निर्देश अनुसार Demat account को छोड़कर कि किसी भी अन्य रूप में शेयरों को बेच आया खरीदा नहीं जा सकता है। इसी चलते अगर आपको शेयर बाजार से शेयर खरीदना है या स्टॉक बेचना या खरीदना है तो यह काम आप बिना डीमेट अकाउंट के नहीं कर सकते है।

Demat account कैसे कार्य करती है?

जब भी आप शेयर खरीदते हो, तो ब्रोकर आपके डीमैट खाते पर उसमें शेयर को क्रेडिट कर देता है और यह आपके holding share के विवरण में दिखाई देता है। वहीं अगर आप इंटरनेट आधारित किसी platform का इस्तेमाल करते हैं तो आपके द्वारा खरीदी गई शेयर की होल्डिंग्स आप ऑनलाइन देख सकते हो। किसी भी शेर को खरीदने पर यह आपको T+2 पर क्रेडिट कर देता है। T+2 का मतलब होता है, trading day + 2 दिन के बाद ही आपके डिमैट अकाउंट पर आ जाती है।

वही जब आप अपने शेयर बेचते हैं, तो आपको अपने broker को डिलीवरी निर्देश देने होते हैं, जिसमें आपको अपने बिके हुए stocks का विवरण भरना होता है। और आपके share holdings में से share debit हो जाता है। वहीं अगर आप ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की सहायता से करते हैं, तो आप तुरंत अपने होल्डिंग्स में debit और अपने Bank account पर पैसे credit कर देता है।

भारत में कौन-कौन सी डिपॉजिटरी है? – Types of depository in India

Depository एक तरह की संस्थाएं होती है जो कि निवेशकों की प्रतिभूतियों को electronic रूप में रति है। इसके साथ ही depository इन प्रतिभूतियों से संबंधित विभिन्न लेनदेन के लिए सेवाएं भी उपलब्ध कराती है।

Depository अपने निवेशकों के साथ डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट के माध्यम से interface करती है। Depository पार्टिसिपेंट निवेशकों के खातों (Demat account) के रखरखाव के लिए भी जिम्मेदार होती है। जो कि बैंक में बचत/चालू खाते के समान होते हैं। शेयर की बिक्री एवं क्रिया डीमेट खातों के माध्यम से ही किया जाता है।

भारत में दो Depository है:-

  1. नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL, National securities depository limited)
  2. सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विस लिमिटेड (CDSL, Central depository securities limited)

भारत में इन्हीं दो डिपॉजिटरी के द्वारा डीमेट खातों के रखरखाव और विभिन्न सेवाएं मुहैया करवाई जाती है।

डीमैट खाता खोलने के लाभ – Benefit of opening a Demat account

  • भौतिक रूप से शेयर को रखने में कोई परेशानी नहीं होती है।
  • कोई दुविधा नहीं होती है इसमें आप एक शेयर भी खरीद और भेज सकते हैं।
  • हस्तांतरण पर आपको कोई भी किसी तरह का stamp duty नहीं लगता है।
  • किसी भी तरह के transfer document की जरूरत आपको यहां नहीं पड़ती है।
  • शेयर शेयर सर्टिफिकेट को संभाल ले, रिकॉर्ड तारीख को याद रखने, खाता की अवधि, धारित प्रतिभूतियों का अभिलेख रखना इत्यादि चीजों में सहायता प्रदान करती है।
  • ऑनलाइन माध्यम से आप अपने होल्डिंग्स को देख सकते हैं।

Demat account to Demat account transfer of share – एक डिमैट अकाउंट से दूसरे डीमेट अकाउंट में शेयर को ट्रांसफर करना

कई बार ऐसा होता है कि आपके द्वारा खरीदे गए share किसी दूसरे डिमैट अकाउंट पर है। उस ब्रोकर द्वारा दी जाने वाली सेवाएं आपको पसंद नहीं आती है। या फिर कई बार धोखाधड़ी के मामले भी सामने आते हैं। तब आप किसी दूसरे broker के पास अपना नया डिमैट अकाउंट खुलवा ते हैं।

या ऐसी परिस्थिति भी आ सकती है कि आप अपने सारे शेयर केवल एक ही Demat account पर देखना चाहते हैं। तब आपको Demat account से डिमैट अकाउंट में शेयर ट्रांसफर करने की जरूरत पड़ती है। ऐसा आप आसानी से कर सकते हैं, इसके द्वारा आप अपने शेयर को एक ही डिमैट अकाउंट में ट्रांसफर करके रख सकते हैं।

Demat account के शेयर को ट्रांसफर 2 तरीकों से किया जा सकता है।

  1. Offline mode
  2. Online mode

Offline mode के जरिए शेयर ट्रांसफर एक डिमैट अकाउंट से दूसरे डिमैट अकाउंट पर

इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना पड़ता है। इसे आप आसानी से CDSL और NSDL के अधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। इस फॉर्म को DIS भी कहते हैं, जिसका पूर्ण रूप Depository instruction slip होता है।

इसमें आपको अपने डिमैट अकाउंट के डिटेल को भरना पड़ता है। इसके साथ ही आप कौन से डीमेट अकाउंट पर अपना शेयर ट्रांसफर कर रहे हैं, इसकी भी जानकारी देनी पड़ती है।

इसे भरकर के आप अपने पहले वाले डीमेट अकाउंट के broker के पास भेज देना होता है। भेजने के लिए आप by post या speed post या registry post के द्वारा ऐसा कर सकते हैं। इसके बाद आपका शेयर 5 working days के अंदर आपके नए Demat account पर ट्रांसफर कर दिया जाता है।

Online mode to transfer share from one Demat account to another – ऑनलाइन माध्यम के जरिए आप अपने शेयर को एक डिमैट अकाउंट से दूसरे डिमैट अकाउंट पर ट्रांसफर कर सकते हैं

ऑनलाइन माध्यम काफी आसान है, इसके लिए आपको बस CDSL के अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर के registration करना होता है। Cdsl द्वारा दी जाने वाली यह सेवा EASI के नाम से जानी जाती है। बाद में आप इसे EASIEST में अपग्रेड भी कर सकते हैं।

रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपके email address या phone number पर pin generate होकर आता है। आप इसे बाद में बदल भी सकते हैं। इस Pin के माध्यम से ही आपको सबसे पहले CDSL की EASI सेवा पर login करके अपने शेयर को ट्रांसफर कर सकते हैं। आपके शेयर 24 घंटों के अंदर आपके दूसरे डिमैट अकाउंट पर आ जाएंगे।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के हमारे इस पोस्ट में आपने सीखा की Demat account क्या होता है? डिमैट अकाउंट शेयर बिक्री एवं खरीद के लिए क्यों जरूरी होती है? डीमेट अकाउंट के कौन-कौन से फायदे हैं? डिमैट अकाउंट किस तरह से कार्य करती है? और किस तरह से आप अपने शेयर को एक डिमैट अकाउंट से दूसरे डिमैट अकाउंट पर ट्रांसफर कर सकते हो।उम्मीद करता हूं कि आपको हमारे द्वारा दी गई है जानकारी पसंद आई होगी।अगर आपको हमारे द्वारा दी गई है जानकारी पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों, सगे संबंधियों के साथ social media पर share भी कर सकते हैं। इससे संबंधित अगर आप के कुछ सवाल एवं सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स पर कमेंट करके बता सकते हैं।


Published on जुलाई 18, 2020

About Admin Desk

Admin Desk हम हिंदी भाषा में यहां सरल शब्दों में आपको ज्ञानवर्धक जानकारियां उपलब्ध कराने की कोशिश करते हैं। ज्यादातर जानकारी है इंटरनेट पर अंग्रेजी भाषा में मौजूद है। हमारा उद्देश्य आपको हिंदी भाषा में बेहतर और अच्छी जानकारी उपलब्ध कराना है।