Equity fund क्या होता है? What is equity fund in Hindi

Share market पर निवेश करने के लिए आप अपने पैसे को सीधे शेयर मार्केट पर शेयर खरीद करके लगा सकते हैं। या दूसरा विकल्प आपके पास में Mutual Fund के रूप में है। म्यूच्यूअल फंड पर आप इक्विटी फंड में पैसे लगा कर के शेयर बाजार में पैसे लगा सकते हैं। आज के हमारे इस लेख में हम what is equity fund in Hindi इक्विटी फंड क्या है? के बारे में जानकारी लेंगे।

Equity fund क्या है? What is equity fund in Hindi

जैसा किसके नाम से ही पता चलता है, Equity fund में निवेश का ज्यादा हिस्सा शेयर बाजार या स्टॉक मार्केट पर लगाया जाता है।

Equity fund म्यूच्यूअल फंड का ही एक रूप है। यहां म्यूच्यूअल फंड निवेशकों के लिए फायदेमंद है जो शेयर बाजार में जोखिम लेकर के पैसे लगाने के लिए तैयार रहते हैं। इक्विटी फंड में ज्यादा रिटर्न के साथ ही जोखिम भी उतना ही होता है। इस फंड के जरिए आप सेकेंडरी मार्केट में इक्विटी से संबंधित इंस्ट्रूमेंट पर पैसे या निवेश कर सकते हैं। what is equity fund in Hindi

Equity fund को निवेशकों की जरूरतों के आधार या निवेशकों के आवश्यकता ओं के आधार पर वर्गीकृत किया गया है:-

  1. Diversified and equity fund (डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड)
  2. Large cap Deversified equity fund
  3. Mid cap equity fund
  4. Multi cap equity fund
  5. Flexi equity fund
  6. Equity linked savings scheme (ELSS)
  7. SECTOR FUND
  8. INDEX FUND

Diversified Equity fund

डायवर्सिफाई इक्विटी फंड के माध्यम से सेकेंडरी मार्केट आदित्य मार्केट पर विभिन्न प्रकार के शेयरों में निवेश किया जाता है। इस फंड के जरिए फंड मैनेजर अपने दिमाग का उचित प्रयोग करते हुए उन इक्विटी का चुनाव करते हैं जिनमें अच्छी खासी रिटर्न की संभावना ज्यादा होती है। इस चलते इसे दो भागों में बांटा गया है।

  1. लार्ज कैप इक्विटी फंड (Large cap equity fund)
  2. मिड कैप इक्विटी फंड (Mid cap equity fund)

Large cap equity fund – लार्ज कैप इक्विटी फंड :- लार्ज कैप इक्विटी फंड के अंतर्गत डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड में निवेशकों के निवेश का ज्यादातर यानी 75 से लेकर के 80% हिस्सा stock market या शेयर बाजार पर लिस्टेड लार्ज कैप यानी Blue chip शेयरों में निवेश के लिए किया जाता है।

Midcap equity fund – मिड कैप इक्विटी फंड :- यह फंड उन निवेशकों के लिए है जो अपनी पूंजी निवेश का ज्यादातर हिस्सा इक्विटी मार्केट में लिस्टेड midcap share पर लगाना पसंद करते हैं।इस फंड के जरिए फंड मैनेजर अपने निवेशकों के लिए अच्छा रिटर्न देने वाले शेरों का चुनाव करते हैं और उनकी पूंजी को इस फंड में निवेश करते हैं।

मल्टी कैप इक्विटी फंड – Multi cap equity fund

इस फंड के जरिए फंड मैनेजर निवेशकों का पैसा अलग-अलग कंपनियों में पहले से निर्धारित सीमा के आधार पर निवेश करते हैं। इस फंड को जारी करते वक्त या जानकारी दे दी जाती है कि लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉलकैप में कितने अनुपात में निवेश किया जाएगा। what is equity fund in Hindi

असल में मल्टी कैप फंड डायवर्सिफाइड म्यूचुअल फंड होता है। म्यूच्यूअल फंड के अंतर्गत किस कैटेगरी के तहत अलग-अलग मार्केट कैप वाली कंपनी पर निवेश किया जाता है। स्किन को अपने पोर्टफोलियो का 65% इक्विटी और इक्विटी से जुड़े दूसरे इंस्ट्रूमेंट पर निवेश करना होता है। पोर्टफोलियो में लार्ज कैप, मिडकैप और स्मॉलकैप शामिल होते हैं।

फ्लेक्सी इक्विटी फंड – Flexi equity fund

इस फंड में फ्लैक्सिबिलिटी यानी लचीलापन होने के कारण फंड मैनेजर मार्केट की स्थिति को देखते हुए इस फंड के लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉलकैप में किसी में भी निवेश कर सकता है। अर्थात इस फंड के अंतर्गत किसी भी प्रकार के फंड के अंतर्गत लार्ज कैप, मिड कैप, स्मॉल कैप पर कोई रेश्यो नहीं होता है। निवेशक किसी में भी निवेश कर सकता है।

जैसे यदि शेयर बाजार की स्थिति को देखते हुए फंड मैनेजर को लगता है कि मिडकैप में इन्वेस्ट करना लाभदायक होगा, तो वह पूंजी का अधिकतम हिस्सा मिड कैप पर में निवेश कर सकता है।

इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम – Equity linked savings scheme (ELSS)

Equity linked savings scheme म्यूच्यूअल फंड कि वह कैटेगरी होती है जिसे सरकार ने इक्विटी में लोंग टर्म इन्वेस्टमेंट को बढ़ावा देने के लिए बनाया है। Equity participation को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने इक्विटी पर आधारित म्यूचुअल फंड में इसके अंतर्गत टैक्स में छूट दी है।

टैक्स छूट की पेशकश करके औसत भारतीय नागरिक को इक्विटी में अपने सेविंग का एक बड़ा हिस्सा इन्वेस्ट करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

एक ELSS फंड मैनेजर diversified पोर्टफोलियो में इन्वेस्ट करवाते हैं।यह मुख्य रूप से इक्विटी और इक्विटी से संबंधित इंस्ट्रूमेंट में इन्वेस्ट करके हाई रिस्क लेते हैं और हाई रिटर्न देने की क्षमता रखते हैं।

टैक्स मैं बचत के लिए, इस फंड के अंतर्गत आपको Indian income tax Act की धारा 80c के अंतर्गत आता है। इसके अंतर्गत आप प्रति वर्ष ₹150000 तक का इन्वेस्टमेंट आपकी इनकम टैक्स से कटौती के लिए मान्यता होती है।

Sector Fund – सेक्टर फंड

सेक्टर फंड का फंड होता है जिसमें म्यूच्यूअल फंड मैनेजर दोबारा अपनी बुद्धिमता के अनुसार किसी ऐसे सेक्टर में निवेश करता है, जिसमें लाभ एवं growth की संभावना ज्यादा होती है।

इन सेक्टर फंड के अंतर्गत IT sector Fund, Pharma fund आदि आते हैं। सेक्टर फंड को स्पेशलिटी फंड भी कहते हैं।

यह एक म्यूच्यूअल फंड स्कीम ही होता है, जो पूरा का पूरा कॉरपस या उसका बड़ा हिस्सा किसी एक क्षेत्र में लगाती है। कुछ निवेशक सेक्टर फंड तब सुनते हैं जब उन्हें लगता है कि वह सेक्टर पूरी मार्केट को आउटपरफॉर्म करेगा।

इंडेक्स फंड – Index fund

इंडेक्स फंड के अंतर्गत निफ़्टी Nifty के 50 शेयर और Sensex पर लिस्ट शेयरों में निवेश किया जाता है।

इक्विटी फंड में ज्यादा रिटर्न के साथ-साथ उतना ही ज्यादा जोखिम होता है। इसलिए अपना निवेश मार्केट को ध्यान में रखकर ही करें।

About the author: Sids Dodrai

दोस्तों मैं इस ब्लॉक का संस्थापक हूं, मुझे इंटरनेट से जुड़ी और नई नई जानकारियां काफी पसंद है, इसलिए मैं ब्लॉगिंग के माध्यम से आप सभी को अच्छी से अच्छी जानकारी उपलब्ध कराने की कोशिश करता हूं।,??

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status