Mutual fund क्या है? इसमें आप कैसे निवेश कर सकते हैं?

2
452

आज के समय में पैसों की बचत करना भविष्य को ध्यान में रखकर के बहुत ही जरूरी हो गया है। ताकि आप अपने रिटायरमेंट के समय सुकून की जिंदगी बिता सकें। ऐसे में आपके सामने कई सारे पैसों को बचाने के विकल्प मौजूद है। लेकिन हम आज आपको Mutual fund के जरिए आप किस तरह से पैसों का निवेश कर सकते हैं। इसके बारे में जानकारी उपलब्ध कराएंगे।
आप सभी थोड़ी बहुत तो Mutual fund शब्द से परिचित जरूर होंगे। या फिर आपने कहीं ना कहीं Mutual fund शब्द को तो जरूर सुना होगा। म्यूच्यूअल फंड को हिंदी में पारस्परिक निवेश भी कहते हैं। लेकिन इसका अंग्रेजी शब्द ही लोगों के बीच में ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। म्यूचुअल फंड में निवेश आप छोटी रकम से शुरुआत कर सकते हैं। लॉन्ग टर्म में निवेश करने पर आपको रिटर्न भी अच्छी खासी मिलती है।
Mutual fund में कई सारे निवेशकों का पैसा एक जगह जमा किया जाता है। फिर इसी फंड में से पैसों को निकाल कर के बाजार पर निवेश किया जाता है। किसी भी म्यूच्यूअल फंड को AMC (Asset Management company) द्वारा मैनेज किया जाता है। आमतौर पर किसी भी AMC कंपनी में कई सारे Mutual fund होते हैं। जिन्हें systematic तरीके से बाजार पर निवेश किया जाता है।
अगर आप भी म्यूच्यूअल फंड पर निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं तो उसके बारे में आपको थोड़ी बहुत जानकारी होना बहुत ही जरूरी है। क्योंकि, जानकारी के बिना आपको यह समझ में नहीं आएगा कि म्यूच्यूअल फंड किस प्रकार से कार्य करती है। और आपके निवेश किए गए पैसे किस तरह से बढ़ते हैं।

दोस्तों नीचे हम आज हमारे इस पोस्ट पर Mutual fund क्या है? म्यूच्यूअल फंड क्या है? What is Mutual fund in Hindi. के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।

Mutual fund क्या है? – What is Mutual fund in Hindi

Mutual fund एक सामूहिक निवेश होता है। जिसे हम हिंदी में पारस्परिक निवेश भी कहते हैं। लोगों के बीच में ज्यादातर इसका अंग्रेजी शब्द प्रचलित है। इसलिए इसे ज्यादातर लोग Mutual fund के नाम से ही जानते हैं।
किसी भी Mutual fund को AMC (Asset Management company) कंपनी manage करती है। AMC एक ऐसी कंपनी होती है जिसके पास एक से ज्यादा म्यूच्यूअल फंड हो सकते हैं। यह ठीक तरीके से कई सारे निवेशकों के पैसों को एक जगह जमा करके रखते हैं। इन्हीं पैसों को या बाजार में विभिन्न शेयर मार्केट, स्टॉक एक्सचेंज, गवर्मेंट सिक्योरिटीज, government scheme, इत्यादि चीजों पर अल्प समय के लिए निवेश करते हैं।
भारत में सबसे पुरानी mutual fund company यानी कि AMC (Asset Management company) UTI AMC है। किसी भी म्यूच्यूअल फंड में एक fund manager होता है, जोकि फंड के निवेश को निर्धारित करता है और लाभ और हानि का हिसाब रखता है। इस प्रकार आपके द्वारा निवेश किए गए Mutual fund में पैसों और दूसरे निवेशकों के बीच फायदे और नुकसान को बांट दिया जाता है।

अगर आपको stock market के बारे में अधिक जानकारी नहीं है, तो आप Mutual fund में निवेश कर सकते हैं। क्योंकि यहां पर निवेश किए गए पैसों को fund manager द्वारा stock market या share market पर systematic तरीके से निवेश किया जाता है। इससे होने वाले लाभ या हानि को समान रूप से म्यूचुअल फंड में लगाए गए निवेशकों के बीच समान रूप से बांट दिया जाता है। इससे आपको फायदा पहुंचता है, आपको शेयर मार्केट में होने वाले किसी व्यक्तिगत कंपनी के शेयर में गिरावट के चलते होने वाली हानि से खतरा नहीं होता है। Mutual fund पर निवेश किसी एक कंपनी के शेयर या स्टॉक पर नहीं होता जिसके चलते आपको जोखिम का खतरा भी काफी कम होता है।

AMC कंपनियां निवेशकों से पैसा इकट्ठा करके उनसे कुछ सुविधा शुल्क भी वसूल ती है। जिसके बाद इन सारे इकट्ठा किए गए Mutual fund के पैसों को बाजार में निवेश करती है। इसका एक फायदा यह है कि निवेशकों को इस बात की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है कि उनके पैसों से शेयर मार्केट या स्टॉक मार्केट में शेयर खरीदे जा रहे हैं या नहीं? जैसा कि हमने ऊपर बताया है इसके लिए fund manager होते हैं, जोकि systematic तरीके से पैसों को बाजार में निवेश करते हैं।

Mutual fund के प्रकार – म्यूच्यूअल फंड के प्रकार  (Types of mutual fund in Hindi)

म्यूच्यूअल फंड को निवेशकों के पैसे विभिन्न फंड में लगाए गए पैसों के आधार एवं scheme के अंतर्गत विभिन्न प्रकारों में विभाजित किया जाता है। जिनमें म्यूच्यूअल फंड की equity योजना जैसे कि index fund, diversify fund, large cap fund, small cap fund, tax saver fund जिसे tax saving scheme भी कहते हैं, में निवेश करती है। नीचे हम इन सारी चीजों के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।

सूचकांक योजना – Index fund

इस इस तरह के म्यूचुअल फंड में निवेश को के हिसाब से फंड को निवेश किया जाता है। यदि निवेशक किसी खास प्रकार के शेयर के लिए कॉल करते हैं तो केवल उन्हीं खास प्रकार के शेयर में ही उनके पैसों को निवेश किया जाता है। जो कि किसी विशेष शेयर के इंडेक्स का हिस्सा होते हैं। अगर इंडेक्स ऊपर जाता है तो उसी तरह निवेशकों को फायदा पहुंचता है।

विविध योजना – Diversifyed Mutual fund

इस तरह के म्यूचुअल फंड में किसी खास सेक्टर या इकोनामी के खास segment पर निवेशक अपने पैसे नहीं लगाना चाहता तो वह इस तरह के म्यूच्यूअल फंड का इस्तेमाल कर सकता है। जहां पर निवेशकों के पैसे एक से अधिक क्षेत्रों में लगाए जाते हैं।

Open ended and close ended Mutual fund

इस तरह के म्यूच्यूअल फंड में यूनिट जारी किया जाता है। यह यूनिट दो प्रकार के होते हैं:-

  • Open ended
  • Close ended

Open ended fund के अंतर्गत जीवन काल में किसी भी समय यूनिक जारी किया जा सकता है। या उनके लिए आप भुगतान कर सकते हैं।
Close ended fund के अंतर्गत आप जोकि बोनस या निर्गम को छोड़ कर के योजना के अंतर्गत किसी भी समय नया यूनिट जारी नहीं कर सकते हैं।
इसी इसी कारण से ओपन एंडेड योजना के अंतर्गत निवेश किए जाने वाली राशि शेयर में उतार-चढ़ाव हो सकता है। वही क्लोज एंडेड फंड योजना के अंतर्गत ऐसा नहीं होता है। आप कभी भी क्लोज एंडेड फंड से ओपन एंडेड फंड में नया यूनिट खरीद सकते हैं। इसमें कई बार lock in period भी होता है। जिसके अंदर redemption नहीं होता है। इसलिए जब भी आप इस तरह के फंड को खरीदे तो उनके जोखिमों के बारे में जरूर सोच लें। और निश्चित होने पर ही इस तरह के फंड में निवेश करें।

बैलेंसड फंड – Balanced Mutual fund

इस तरह के म्यूच्यूअल फंड को hybrid fund भी कहते हैं। यह एक तरह से common stock, preferred fund, short term bond इत्यादि होते हैं। इस तरह के फंड में निवेश करना काफी लाभदायक होता है। इसमें निवेशकों के पैसे ज्यादा सुरक्षित होते हैं और हानि का जोखिम भी बहुत कम होता है।

ग्रोथ फंड – Growth Mutual fund

इस इस तरह के फंड का मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करना होता है। इसलिए इस म्यूच्यूअल फंड को Growth Mutual fund कहते हैं। इस तरह के म्यूचुअल फंड में निवेशकों के पैसे ऐसे फंड में निवेश किए जाते हैं जिन कंपनियों की प्रगति तेज गति से हो रही है। इस तरह के फंड में निवेशक इसलिए पैसा लगाते हैं ताकि कम समय में अधिक से अधिक लाभ मिल सके। लेकिन इसमें जोखिम काफी ज्यादा होता है। इस तरह के फंड में आपको loss भी हो सकती है।

डिविडेंड फंड – Dividend Mutual fund

यदि कोई निवेशक किसी विशेष कंपनी के डिविडेंड फंड में पैसों का निवेश करता है तो समय-समय पर उस कंपनी के लाभांश पर डिविडेंड उसके खाते में जमा कर दिया जाता है। यह नकद धनराशि उसके खाते में जमा कर दिया जाता है।

वैल्यू फंड और मनी मार्केट फंड – Value fund and Money market Mutual fund

Value fund में निवेशकों के पैसे ज्यादा सुरक्षित होते हैं। इस तरह के फंड का इस्तेमाल निवेशकों के पैसों को सुरक्षित रखना है। परंतु इस तरह के फंड में लाभ कम मिलता है। लेकिन इसमें निवेशकों के पैसे loss की जोखिम से सुरक्षित रहते हैं।
Money market Mutual fund इस तरह के म्यूच्यूअल फंड में निवेशकों के पैसे ज्यादा सुरक्षित होते हैं। इसीलिए इसे निवेशकों के पैसों को सुरक्षित रखने के लिए ही बनाया गया है। इस तरह के म्यूच्यूअल फंड में आपके पैसे किसी स्टॉक मार्केट या शेयर खरीदने के लिए नहीं लगाया जाते है, बल्कि विभिन्न देशों के currency की खरीद बिक्री मे लगाए जाते हैं। जिसमें जोखिम काफी कम होता है।

Mutual fund में कैसे निवेश करें?

किसी भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले आपको म्यूच्यूअल फंड से संबंधित जानकारी होना जरूरी है। जैसे कि हमने ऊपर आप सभी को यह बताया है कि म्यूचुअल फंड में आपके द्वारा निवेश के ज्ञाता से किन-किन स्कीम या योजना पर लगाए जाते हैं। आप अपने सुविधा के अनुसार से इन योजनाओं में से किसी एक योजना में पैसों का निवेश कर सकते हैं।

किसी भी म्यूच्यूअल फंड में पैसे निवेश करने से पहले आपको यह निश्चित हो लेना है कि आप अपने पैसे किस प्रकार के Mutual fund पर निवेश करना चाहते हैं। व्यापक रूप से देखा जाता है की equity fund पर आप तभी निवेश करें जब आप ज्यादा जोखिम लेने के लिए तैयार हो। और आपके द्वारा निवेश किए गए पैसे कम से कम 5 साल से अधिक हो। वहीं अगर आप कम जोखिम उठाना चाहते हैं तो आप hybrid fund, value fund, money market fund, आदि चीजों में अपने पैसे निवेश कर सकते हैं। लेकिन अध्ययन में देखा गया है कि इन सारे फंड में भी जोखिम थोड़ा बहुत तो रहता ही है।

आप किस प्रकार के फंड में निवेश करना चाहते हैं यह चुन लेने के बाद आप उस फंड के प्रदर्शन का अध्ययन एक बात जरूर कर ले। या फिर बीते 1 साल में उस फंड द्वारा किस तरह का प्रदर्शन रहा है इसके बारे में जानकारी जरूर एकत्रित कर ले। उसकी तुलना किसी दूसरे फंड जो उससे थोड़ा जोखिम भरा है से तुलना कर सकते हैं। इसी के बाद आप म्यूचुअल फंड में निवेश करने के बारे में सोचें।
Mutual fund में पैसा निवेश करना काफी आसान हो गया है। आज भारत में ऐसी कई कंपनियां है जिनकी सहायता से आप अपने लिए म्यूचुअल फंड खरीद सकते हैं। कई सारी कंपनियां तो online म्यूच्यूअल फंड पर निवेश करने की सुविधा भी देती है। आप online Google search करके इन कंपनियों के बारे में जान सकते हैं। बस एक क्लिक में आप अपने लिए म्यूच्यूअल फंड पर पैसों का निवेश कर सकते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के हमारे इस पोस्ट में हमने आपको यह जानकारी देने की कोशिश की है Mutual fund क्या है? इसमें आप कैसे निवेश कर सकते हैं? उम्मीद करता हूं कि आपको यहां पर हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी। हमारे इस पोस्ट के माध्यम से आपको Mutual fund में कैसे पैसे निवेश किए जाएं? इसके लाभ एवं जोखिम के बारे में आपको थोड़ी बहुत जानकारी तो मिल गई होगी। उम्मीद करता हूं कि आप जब भी म्यूचल फंड खरीदने के बारे में सोचेंगे तो इन सारी बातों को जरूर ध्यान रखेंगे।
दोस्तों अगर आपको हमारा यह पोस्ट जानकारी वर्धक ज्ञानवर्धक लगा हो तो आप इसे अपने दोस्तों, सगे संबंधियों के साथ social media पर जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी म्यूच्यूअल फंड से संबंधित जानकारी प्राप्त हो सके। इससे संबंधित अगर आपकी कुछ सुझाव या प्रश्न है तो आप हमें comment box पर कमेंट करके बता सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here