What Would Happen if Earth Stopped Spinning? क्या होगा अगर पृथ्वी घूमना बंद कर दे?

पृथ्वी के घूमने को लेकर के बहुत से तथ्य है? जिनके बारे में कुछ तथ्यों की जानकारी हमें पहले से ही है। कुछ ऐसे तथ्य भी हैं जिनके बारे में शायद ही आप सभी लोगों में से किन्ही को पता होगा? ” क्या आप जानते हैं कि पिछले 2740 वर्षों में पृथ्वी की घूर्णन गति लगभग 6 घंटे धीमी हो गई है?” हमने अपनी स्कूलों में भूगोल की कक्षाओं में सिखाया जाता है कि पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमती है क्योंकि यह सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाती है। आज की हमारी इस लेख में हम इस बारे में जानकारी लेंगे की What Would Happen if Earth Stopped Spinning? क्या होगा अगर पृथ्वी घूमना बंद कर दे?

पृथ्वी की घूर्णन गति दिन और रात के पैटर्न के लिए जिम्मेदार होता है। यदि आपने कभी सोचा है कि यदि पृथ्वी स्थिर रही तो क्या होगा। या क्या होगा अगर पृथ्वी घूमना बंद कर दे? इस सवाल का जवाब जाने से पहले हमें, इस बारे में जानकारी लेना बेहद जरूरी है कि पृथ्वी आखिर क्यों घूमती है?

Why does the Earth Spin? – पृथ्वी क्यों घूमती है?

पृथ्वी कैसी बनी है? इस वजह से ही पृथ्वी घूमती है। लगभग 4.6 अरब साल पहले, गैस और धूल के एक विशाल बादल के ढहने से पृथ्वी का निर्माण हुआ है।

एक बार जब कोई चीज गति इन में सेट हो जाती है तो वह अंतरिक्ष में नहीं रुकती क्योंकि वहां कोई वायु घर्षण नहीं होता है। एक टैक्सी वस्तु की कल्पना करें जो कभी भी मुड़ना या घूमना बंद ना करें।

यह पृथ्वी पर कभी नहीं होता है क्योंकि हवा इसे नहीं रे धीरे धीमा कर देती है। और आखिर में वह वस्तु धीमी हो करके रुक जाती है। ठीक इसके विपरीत अंतरिक्ष में घर्षण का अनुभव नहीं होता है। नाही अंतरिक्ष में किसी तरह का कोई वायुमंडल होता है। इस वजह से अध्यक्ष में कोई भी वस्तु अगर गति पकड़ लेती है तो वह रुकती नहीं है।

क्या पृथ्वी कभी घूमना बंद कर सकती है क्या यह संभव है?

सबसे पहली बात यह संभव नहीं है कि पृथ्वी पूरी तरह से घूमना बंद कर देगी। यह तभी हो सकता है जब विपरीत दिशा में समान मात्रा में बल द्वारा पृथ्वी की घूर्णन गति पर घर संपदा हो।

यह तभी हो सकता है जब अंतरिक्ष में इस तरह की कोई प्रस्तुति पैदा हो। पृथ्वी अंतरिक्ष में अपनी दिशा बदल सकती है लेकिन यह रुक नहीं सकती। पृथ्वी अंतरिक्ष में धीमी हो सकती है लेकिन इस की घूर्णन गति बनी रहेगी। What Would Happen if Earth Stopped Spinning? क्या होगा अगर पृथ्वी घूमना बंद कर दे?

What Would Happen if Earth Stopped Spinning? क्या होगा अगर पृथ्वी घूमना बंद कर दे?

क्या आप 6 महीने धूप की कल्पना कर सकते हैं? आपको थोड़ा आप जो है सुनो ना अटपटा सा लग रहा होगा। लेकिन अगर पृथ्वी की घूर्णन गति कम हो जाती है तो ऐसा हो पाना मुमकिन है। What Would Happen if Earth Stopped Spinning

यदि पृथ्वी का घूमना बंद हो जाए तो दिन और रात के पैटर्न में बदलाव आ जाएगा। हो सकता है कि हमें 6 महीने का धूप और 6 महीने का रात देखने को मिले। हो सकता है कि पृथ्वी के दूसरे छोर को सूर्य को देखने में आधा साल तक का समय लग जाए।

दिन का तापमान अत्यधिक बढ़ जाएगा जबकि जिस हिस्से में 6 महीने की रात होगी उस हिस्से में अधिक ठंड भरी राते होंगी। दिन और रात के तापमान में जो परिवर्तन हवा के विशाल तूफान का कारण भी बन सकता है। यह तूफान लगभग एक ग्रह जितना बड़ा भी हो सकता है।

जीवो की जैविक घड़ी लय बाधित हो जाएगी।

क्या आप जानते हैं कि आपका शरीर अपनी आंतरिक घड़ी को स्थापित करने के लिए नियमित दिन और रात के कार्यक्रम पर निर्भर करता है?

जो कुछ भी इस दिनचार्य में गड़बड़ी करता है वह आपकी लय को भी बाधित करेगा। यदि पृथ्वी की घूमने की गति धीमी हो जाए तो आपका पूरा नींद जगने का चक्र अपना पैटर्न खो देगी। आप इसे विस्तृत जट अंतराल के रूप में सोच सकते हैं।

लंबे समय तक, क्या आपके शरीर में कई प्रक्रियाओं को प्रभावित कर सकता है जैसे हार्मोन का स्राव, भोजन का ठीक से ना पचना और शरीर का तापमान अचानक से बढ़ जाना इत्यादि।

पृथ्वी का चुंबकीय क्षेत्र नष्ट हो जाएगा?

पृथ्वी के केंद्र में लोहा मौजूद है, जिस वजह से या एक मजबूत चुंबकीय क्षेत्र बनाता है जो आपको सूर्य और सौरमंडल के बाहर कॉस्मिक किरणों से लेकर के हानिकारक किरणों से बचाता है।

यह हानिकारक गिरने पृथ्वी के वायुमंडल तक तो पहुंचती है लेकिन सतह पर आप तक नहीं पहुंच पाती है। आप उन्हें आकाश में सुंदर दक्षिणी और उत्तरी करो उसने के रूप में देख सकते हैं।

यदि हमारा ग्रह पृथ्वी घूमना बंद कर देता है तो चुंबकीय क्षेत्र की सुरक्षा समाप्त हो जाएगी और अंतरिक्ष में मौजूद पहुंची हानिकारक निर्णय पृथ्वी की सतह पर आ सकती है और लोगों के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है।

इसके अलावा, पृथ्वी का चुंबकीय क्षेत्र सीधे प्रवासी पक्षियों की मदद करता है और इसके बिना पक्षी अपनी दिशा खो सकते हैं क्योंकि वह नई जगहों की यात्रा नहीं कर पाएंगे।

आकाश में तारे स्थिर हो जाएंगे?

रात के आकाश में हमें कई सारे तारे टिमटिमाते नजर आते हैं जो कि बेहद ही खूबसूरत होते हैं। दुर्भाग्य से, अगर पृथ्वी अपनी घूर्णन गति बंद कर देती है तो आकाश में मौजूद तारे स्थिर हो जाएंगे।

नक्षत्र पूरे आकाश में प्रवास नहीं करेंगे या पूरी वर्ष बदलते रहेंगे।

समुद्र का पानी ध्रुवों की ओर बढ़ना शुरू हो जाएगा?

भूमध्य रेखा का व्यास ध्रुव से लगभग 21.4 किलोमीटर अधिक है। यह अरबों वर्षों में हुआ जब पृथ्वी का निर्माण हुआ था। पृथ्वी के घूमने से एक बल उत्पन्न होगा जो ठोस पदार्थ और पानी को केंद्र की ओर ले जाएगा।

यही कारण है कि भूमध्य रेखा में पानी का स्तर 8 किलोमीटर तक अधिक होता है अगर कोई घूर्णन गति नहीं होगी, तो पानी ध्रुव की तरफ बढ़ना शुरू कर देगा।

अगर पृथ्वी पर रूकती है तो यहां पानी रखने वाली ताकत भी खत्म हो जाएगी। इसलिए, पानी हिंदुओं की ओर पलायन करती है तो भूमध्य रेखा के आसपास से समुद्र का पानी एकदम से खाली हो जाएगा।

भूमध्य रेखा अनिवार्य रूप से उत्तरी और दक्षिणी महासागरों को अलग करने वाली भूमिका एक बड़ा बैंड बनकर रह जाएगी।

चीजें पूर्व की ओर उड़ने लगेगी?

कई बार ऐसा होता है कि कोई तेज गति से चल रही कार अचानक से ब्रेक लगने पर रूकती है तो कार के अंदर मौजूद लोग या चीजें अचानक से आगे की तरफ जाने लगती है। पृथ्वी की घूर्णन गति अचानक से रुकने पर पृथ्वी के साथ भी ऐसा ही होने वाला है।

अचानक से चीजें पूर्व दिशा की ओर उड़ने लगेगी। अगर पृथ्वी अचानक से घूमना बंद कर दे तो अचानक से गति रुकने के कारण धरती में मौजूद, चट्टाने और अन्य वस्तु अचानक से पूर्व की दिशा में उड़ने लगेगी।

यह दृश्य काफी भयानक होगा। जिससे कि पूरे के पूरे धरती में प्रलय आ जाएगा। विनाशकारी भूकंप को ट्रिगर भी कर सकता है। सच में, अगर ऐसा होता है तो हमारी धरती तबाह हो जाएगी।

हालांकि, ऐसा होना बहुत कम संभावना है कि पृथ्वी पूरी तरह से रुक जाएगी। यानी कि पृथ्वी अपना घूर्णन छोड़ दे या बंद हो जाए ऐसे होने की संभावना बहुत कम है। इसलिए आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है।

हम अपनी धरती को बचाने के लिए जो कर सकते हैं हमें ज्यादा से ज्यादा यह कोशिश करना चाहिए कि हम अपनी धरती के जलवायु परिवर्तन को रोक सके। हमें धरती पर प्रदूषण अत्यधिक मात्रा में नहीं चलानी चाहिए। हमें धरती पर ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने की कोशिश करनी चाहिए। जिससे कि हम इस धरती पर एक अच्छा जीवन बिता सकें।