भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 2 अप्रैल 2017 को भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग जो कि 9 किलोमीटर लंबी है का उद्घाटन किया था। भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग ” चेनानी नैशारी सुरंग‘ के नाम से जाना जाता है।

राष्ट्रीय मार्ग एनएच 44 पर बनिया सुरंग जम्मू कश्मीर को श्रीनगर से जोड़ती है और इससे दोनों शहरों के बीच यात्रा के समय में 2 घंटे की कमी आती है।

पहाड़ों और बर्फ भरी घाटियों से गुजरती हुई, जम्मू और श्रीनगर के बीच 31 किलोमीटर की दूरी को कम कर देती है। बहुत से लोगों का यह भी मानना है कि इस सड़क सुरंग के बन जाने के कारण सालाना 2700000 रुपए के मूल इंधन की भी बचत होगी।

बड़े पैमाने पर वनों और पेड़ों की कटाई से बचने के अलावा यह सुरंग जम्मू और उधमपुर से रामबाण, बनिहाल और श्रीनगर की यात्रा करने वाले लोगों को सुरक्षित एवं सभी मौसम का मार्ग मुहैया करवाएगी।

क्या सुरंग विश्व स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था से सुसज्जित है और इसमें जम्मू कश्मीर राज्य में पर्यटन एवं आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलने की उम्मीद की जा रही है।

भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग

जुलाई 2017 में भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग पर परिवहन शुरू कर दिया गया है। इसकी लंबाई करीब 9 किलोमीटर से ज्यादा है और यह श्रीनगर से करीब 170 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

  • यह सुरंग एक ट्यूब वाली दो दिशाओं वाली सुरंग है जिसमें 9.35 मीटर की कैरीजवे और 5 मीटर की निकासी है।
  • यह 300 मीटर के अंतराल पर मुख्य सुरंग को जोड़ने वाले क्रॉस पैसेज के साथ एक समांतर निकासी वाली सुरंग भी है।
  • इसमें एकीकृत यात्रा नियंत्रण प्रणाली, निगरानी वेंटीलेशन, परासरण प्रणाली, अग्निशमन प्रणाली और हर एक 150 मीटर की दूरी पर एस ओ एस कॉल बॉक्स जैसी स्मार्ट सुविधाएं दी दी गई है।
  • यह परियोजना को बनाने में लगभग 2500 करोड़ रुपए का खर्च आया है।
  • 286 किलोमीटर लंबी चार लेन वाली परियोजना का हिस्सा 9.2 किलोमीटर लंबी डबल ट्यूब सुरंग पर सबसे पहले काम 23 मई 2011 को शुरू हुआ था।
  • यह सुरंग मार्ग 3720 करो रुपए की लागत से बनना है जो निचली हिमालय पर्वत श्रृंखला मैं बनाया जाना है।
  • 1200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित या सुरंग भारत का पहला है ऐसा मार्ग होगा जो वैश्विक स्तर की गुणवत्ता के साथ सुरक्षा से लैस होगा।
  • इस मार्ग से राज्य की दो राजधानियां जम्मू और श्रीनगर के बीच सफर में ढाई घंटे से कम समय लगेगा।
  • इस सुरंग की सबसे बड़ी बात यह है कि इसमें 120 से भी ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। जिसमें प्रत्येक कैमरी की दूरी 75 मीटर होगी।

जम्मू और श्रीनगर के बीच की सुरंग के जरिए चैनानी और नसीरी को जोड़ता है। इसके चोरी है करीब 30 किलोमीटर की दूरी कम हो जाएगी और 1 घंटे का सफर भी कम हो जाएगा। यह सुरंग 286 किलोमीटर लंबे जम्मू श्रीनगर फोर लाइन नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट का हिस्सा है, जो बीच के सबसे बड़े मुश्किल इलाके और सबसे बड़ी बाधा को पार करती है।