How to get Loan without ITR – बिना आइटीआर के लोन कैसे प्राप्त करें?

भारत में ज्यादातर बैंक बिना इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) के लोन नहीं देती है। यदि आप एक बिजनेसमैन है और पहली बार अपना बिजनेस स्थापित करना चाहते हैं। इसके लिए आपको पूंजी की आवश्यकता होगी। आपके पास इनकम प्रूफ नहीं है। आप सरकारी बैंक या गैर सरकारी बैंक से बिना इनकम टैक्स रिटर्न प्रूफ के किस तरह से लोन ले सकते हैं इस बारे में आज के हमारे इस लेख में हम बात करने वाले हैं। How to get Loan without ITR – बिना आइटीआर के लोन कैसे प्राप्त करें?

अगर आपके पास में इनकम टैक्स रिटर्न का प्रूफ नहीं है तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप बिजनेस लोन लेने के लिए योग्य नहीं है। आज भारत में ऐसे कई बैंकिंग और नन बैंकिंग फाइनेंशियल मार्केट है जहां पर आप जाकर के बिना इनकम टैक्स के बीच बिजनेस लोन प्राप्त कर सकते हैं। किसी भी नए बिजनेसमैन के लिए बिजनेस लोन बहुत ही जरूरी होता है, क्योंकि बिजनेस लोन के जरिए ही वह अपनी वर्किंग कैपिटल की आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम होता है। इसी के बाद ही वह अपनी आमदनी के अनुसार इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करेगा।

स्टार्टअप इंडिया के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा कई ऐसे कार्यक्रम भी बनाएंगे है जिसके तहत नए उद्यमियों को लोन या बिजनेस लोन मुहैया करवाया जाता है। इसके अलावा स्टार्टअप या बिजनेस के लिए कई छोटे और मीडियम बिजनेस के लिए कई तरह के आकर्षक ब्याज दरों पर बिजनेस लोन दिया जाता है। इसलिए आकर्षक ब्याज दरों पर बिजनेस लोन लेने के लिए आपको इनकम टैक्स रिटर्न के साथ-साथ आपका अच्छा क्रेडिट स्कोर भी होना चाहिए। किसी भी बिजनेस लोन को मंजूरी देने से पहले, वित्तीय संस्थान आपके फाइनेंशियल जानकारी, ITR, दस्तावेज, आय प्रमाण पत्र, क्रेडिट स्कोर और पहचान, पता और व्यवसाय पता प्रमाण की जांच करता है। इसी के बाद आपको लोन दिया जाता है।

How to get Loan without ITR – बिना आइटीआर के लोन कैसे प्राप्त करें?

बिना इनकम टैक्स फाइल किए आप किस तरह से लोन ले सकते हैं एवं इसके लिए योग्यता क्या क्या है इसके बारे में हम नीचे आपको विस्तृत से बता रहे हैं :-

  • बिजनेस लोन प्राप्त करने के लिए कोई भी व्यक्ति, कंपनी, रिटेल विक्रेता इत्यादि योग्य होते हैं।
  • बिना इनकम टैक्स रिटर्न फाइल के ऐसे लोग भी लोन प्राप्त करने के लिए योग्य है जो आपने पहली बार बिजनेस स्थापित कर रहे हैं।
  • बिना इनकम टैक्स रिटर्न के लोन प्राप्त करने वाले आवेदक की उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।
  • लोन मेच्योरिटी के समय आवेदक की अधिकतम उम्र 65 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • बिजनेस की आवश्यकताओं और आवेदक की प्रोफाइल के आधार पर ₹10000 से 10 करोड़ रुपए तक का लोन दिया जा सकता है।
  • बिना आइटीआर फॉर्म भरे लोन प्राप्त करने के लिए आपका क्रेडिट स्कोर बढ़िया होना चाहिए, कम से कम 700 से अधिक।
  • लोन लेते वक्त आप सह आवेदक, वैकल्पिक आवेदक का चुनाव भी कर सकते हैं।
  • कॉलेटरल के रूप में बैंक किसी चीज को भी रख सकता है जैसे जमीन, फिक्स डिपाजिट इत्यादि।

बिना इनकम टैक्स फाइल रिटर्न किए हुए कभी-कभी कुछ प्राइवेट बैंक और पब्लिक सेक्टर के बैंक भी बिजनेस लोन देते हैं। लेकिन ज्यादातर मामलों में ज्यादातर सरकारी बैंक इनकम टैक्स रिटर्न फाइल के आधार पर ही बिजनेस लोन देना पसंद करते हैं। इनकम टैक्स रिटर्न फाइल पर आपके साल भर का टर्नओवर दिखाई देता है। जिससे बैंक यह अंदाजा लगा पाता है कि आप की वार्षिक कमाई कितनी है। इसी के आधार पर बैंक आप को दिए जाने वाले बिजनेस लोन की रकम तय करता है।

लेकिन, केवल कुछ ही संस्थान ऐसे हैं जो बिना इनकम टैक्स रिटर्न की जांच के बिजनेस लोन प्रदान करते हैं। ऐसे व्यक्ति जिनके पास इनकम टैक्स रिटर्न नहीं है, वे बिजनेस लोन प्राप्त करने के लिए NBFC और MFI से संपर्क कर सकते हैं। लेकिन इस तरह के संस्थानों द्वारा दिए जाने वाला बिजनेस लोन पर लगने वाला ब्याज दर काफी अधिक होता है। सरकारी बैंकों की तुलना में दिए जाने वाले बिजनेस लोन पर लगने वाला ब्याज दर की तुलना में 3 से 5% तक अधिक हो सकता है।

बिजनेस लोन का इस्तेमाल आप विधि की तरह की चीजों में एक कर सकते हैं। जैसे कि व्यापार का विस्तार, कच्चे माल की खरीदारी, भूमि या कार्यालय की जगह खरीदना, स्टॉक और इन्वेंटरी बढ़ाने, सैलरी भुगतान, लोन सेटेलमेंट, कर्मचारियों को काम पर रखना एवं उनका प्रशिक्षण इत्यादि चीजों के लिए आपको बिजनेस लोन की आवश्यकता पड़ सकती है।

How to get Loan without ITR – लोन लेने के लिए लगने वाले आवश्यक दस्तावेज

  • बिना इनकम टैक्स रिटर्न फाइल के लोन प्राप्त करने के लिए वित्तीय संस्थान द्वारा दिए गए आवेदन फॉर्म को पूरी तरह से भरना होगा।
  • अभी तक कि पासपोर्ट साइज फोटो
  • अच्छी तरह से बनाई गई बिजनेस लोन के लिए प्रोजेक्ट
  • पहचान पत्र, जिसके अंतर्गत वोटर आईडी, आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि।
  • बिजनेस एड्रेस – आपका बिजनेस कहां स्थापित है इसका प्रमाण पत्र
  • कंपनी का पैन कार्ड, व्यक्तिगत या साझेदारी जो लागू हो।
  • आवासीय प्रमाण पत्र जिसके अंतर्गत आप रेंट एग्रीमेंट, बैंक स्टेटमेंट, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि चीजें जमा कर सकते हैं।
  • कंपनी या बिजनेस का इनकॉरपोरेशन सर्टिफिकेट
  • पार्टनरशिप डीड या मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन
  • अगर संबंधित बिजनेस का आपका करंट अकाउंट है तो उसका स्टेटमेंट भी आप दे सकते हैं।

बिना आइटीआर के बिजनेस लोन सरकारी योजनाएं

बिना इनकम टैक्स रिटर्न फाइल किए आप सरकारी योजनाओं का लाभ उठाकर के भी, बिजनेस लोन प्राप्त कर सकते हैं। इसके अंतर्गत भारत सरकार द्वारा विभिन्न तरह के योजनाएं चलाई जा रही है। जैसे कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टार्टअप इंडिया योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, लघु उद्योग निगम सब्सिडी, 59 मिनट में लोन, स्टैंड अप इंडिया, SIDBI मेक इन इंडिया इत्यादि। इन सबके अलावा और भी कई सरकारी योजनाएं हैं जिनके अंतर्गत आप बिना इनकम टैक्स रिटर्न फाइल किए सरकारी बैंकों से लोन प्राप्त कर सकते हैं।

इस तरह के सरकारी योजनाओं में आपको प्राप्त होने वाला लोन किसी भी तरह के गारंटी की आवश्यकता नहीं होती है। नाही सरकारी योजनाओं के अंतर्गत लिए जाने वाले लोन पर कॉलेटरल की आवश्यकता होती है। इन सभी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करने के लिए आप इन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर के आवेदन दे सकते हैं एवं इन योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

प्रत्येक लोन एवं वित्तीय संस्थान अपने स्वयं के नियमों और शर्तों के आधार पर बिजनेस लोन प्रदान करते हैं। इसलिए लोन विकल्प को अंतिम रूप देने से पहले आप ब्याज दर के बारे में जानकारी जरूर ले ले। इसके अलावा रीपेमेंट पीरियड, क्लोजर शुल्क इत्यादि चीजों के बारे में भी जानकारी खट्टा करना बेहद जरूरी होता है।

अगर आप का क्रेडिट स्कोर अच्छा होगा तो आपको बिजनेस लोन प्राप्त करने में आसानी होती है। भले ही आपका इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं किया गया हो। अच्छा क्रेडिट स्कोर किसी भी आवेदक की क्रेडिट वेल्थ और पुनर भुगतान क्षमता को प्रदर्शित करता है। क्रेडिट स्कोर को CIBIL रिपोर्ट भी कहा जाता है। यह रिपोर्ट 700 से 900 के आस पास होता है। कोई भी वित्तीय संस्थान लोन देने के लिए आपके क्रेडिट रिपोर्ट का विश्लेषण करती है। इसी के आधार पर आपको बिजनेस लोन दिया जाता है।