Tim Cook CEO of Apple Biography – टीम कुक एप्पल के सीईओ की जीवनी

वर्तमान समय में Tim Cook को कौन नहीं जानता है? टिमोथी डोनाल्ड कुक जिन्हें टीम कुक के नाम से भी जाना जाता है, यह एक अमेरिकी बिजनेस एग्जीक्यूटिव और विश्व की प्रसिद्ध मोबाइल बनाने वाली कंपनी Apple के मुख्य कार्यकारी अधिकारी है। इनका जन्म 1 नवंबर 1960 को अमेरिका में हुआ था। टीम को अपने स्टीव जॉब्स के बाद 24 अगस्त 2011 को एप्पल कंपनी के कार्यकारी अधिकारी का पदभार संभाला है। वर्तमान समय में सबसे अधिक वेतन पाने वाले मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) के रूप में टीम कुक जाने जाते हैं। उन्होंने यहां तक की सफलता के लिए कड़ी मेहनत की है। यही वजह है कि उसे बहुत से लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत है। आज की हमारी इस लिंक में हम जानेंगे कि Tim Cook CEO of Apple Biography – टीम कुक एप्पल के सीईओ की जीवनी के बारे में।

टीम कुक वर्ष 2011 से टप्पल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में काम कर रहे हैं। टीम कुक का वेतन शुरू में लगभग 378 मिलियन डॉलर था, जिसने उन्हें दुनिया में सबसे अधिक वेतन पाने वाले मुख्य कार्यकारी अधिकारी की लिस्ट में सबसे ऊपर पहुंचा दिया। टीम कुक की सफलता की कहानी जानने के लिए आपको हमारा या लिंक अवश्य रूप से पढ़ना चाहिए।

Tim Cook CEO of Apple Biography – टीम कुक एप्पल के सीईओ की जीवनी

टीम कुक (Tim Cook) का असली नाम टिमोथी डॉनल्ड कुक है। इनका जन्म 1 नवंबर, 1960 को संयुक्त राज्य अमेरिका के अलबामा में हुआ था। इनके पिता का नाम डॉनल्ड कुक है, जोकि शिपयार्ड में काम करते थे। वहीं इनकी माता का नाम गेरालि्डन कुक हे जोकि एक फार्मेसी में काम करती है।

टीम कुक ने अपनी आरंभिक शिक्षा वर्ष 1978 में रॉबर्टसडेल हाई स्कूल से प्राप्त की है। अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने वर्ष 1982 में अर्बन विश्वविद्यालय से औद्योगिक की इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री हासिल की और ड्यूक विश्वविद्यालय के फुक्वा स्कूल आफ बिजनेस एंड एडमिनिस्ट्रेशन से 1988 में मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री हासिल की।

अर्बन यूनिवर्सिटी से अपनी स्नातक की डिग्री करने के बाद टीम को अपने आईबीएम जैसी बड़ी कंपनी के साथ 12 सालों तक काम किया और उत्तरी अमेरिका के निदेशक के रूप में आईबीएम कंपनी के लिए काम करते रहे। इसके बाद टीम कुक ने कॉम्प्टेक नाम की कंपनी के साथ 6 साल काम किया, जहां टीम को को वाइस प्रेसिडेंट बना दिया गया था। लेकिन शामिल स्टीव जॉब के कहने पर टीम कुक ने इस नौकरी से इस्तीफा दे दिया और साल 1998 में Apple कंपनी में शामिल हो गए।

टीम कुक का Apple के CEO बनने का सफर

टीम कुक को एप्पल कंपनी में शामिल करने के बाद, उस दौरान एप्पल के सीईओ रहे स्टीव जॉब्स ने टीम कुक को काफी प्रोत्साहित किया था, इसके कुछ सालों बाद स्टीव जॉब्स के सीईओ के पद से इस्तीफा देने और बोर्ड के अध्यक्ष बनने के बाद, टीम कुक को 24 अगस्त 2011 को एप्पल कंपनी का मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) बना दिया गया।

टीम कुक के एप्पल कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बनने के ठीक 6 हफ्तों बाद यानी कि 5 अक्टूबर वर्ष 2011 को, Pancreatic Cancer के चलते स्टीव जॉब की मृत्यु हो गई। कंपनी का सारा दारोमदार टीम कुक के कंधों में आ गया। टीम कुक एप्पल कंपनी को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने का काम किया है। साल 2020 तक आते-आते टीम कुक ने एप्पल कंपनी को दुगने मुनाफे में खड़ा कर दिखाया है।

आज एप्पल कंपनी ना कि अपने महंगे ब्रांड के लिए जानी जाती है, बल्कि अपने प्रोडक्ट की बेस्ट क्वालिटी के लिए भी जानी जाती है। टीम कुक ने एप्पल को आगे तक ले जाने में काफी मदद की है। यही वजह है कि टीम कुक दुनिया में सबसे अधिक वेतन पाने वाले मुख्य कार्यकारी अधिकारी की सूची में सबसे ऊपर है।

टिम कुक की आरंभिक जीवन – Early life of Tim Cook

टीम कुक के आरंभिक जीवन की शुरुआत तब शुरू होती है जब उनका जन्म 1 नवंबर, 1960 को रॉबर्ट्सडेल, अलबामा नामक शहर में हुआ था। उन्होंने अपनी आरंभिक शिक्षा रोबोट्सडेल हाई स्कूल से पूरी की है। वर्ष 1978 में अपनी कक्षा में दूसरे स्थान पर रहे थे। बाद में टीम कुक ने अलबामा में आवर्न (Auburn) विश्वविद्यालय मे दाखिला लिया। यहीं से इन्होंने औद्योगिक की इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री हासिल की। वर्ष 1988 में ड्यूक यूनिवर्सिटी के फुक्वा स्कूल ऑफ बिजनेस से एमबीए (MBA) की डिग्री हासिल करके अपनी शिक्षा पूरी की।

फुक्वा स्कूल आफ बिजनेस मे टीम कुक के प्रारंभिक जीवन के दौरान, उन्हें फुक्वा स्कॉलर की उपाधि से सम्मानित किया गया था। यह उपाधि केवल उन बिजनेस स्कूल के छात्रों को दी जाती है जो अपनी कक्षा के सिर्फ 10% में स्नातक है। एमबीए करने के बाद, टीम कुक ने कंप्यूटर प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अपना कैरियर शुरू किया। फिर, टीम कुक को आईबीएम द्वारा नौकरी का ऑफर दिया गया था। जहां पर टिम कुक ने अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन और कंपनी को मुनाफा कमाने में काफी सहयोग किया जिसके चलते उन्हें उत्तरी अमेरिकी पूर्ति का निदेशक बना दिया गया।

आईबीएम जैसे कंपनी के लिए तिम कुक ने 12 सालों तक काम किया। आईबीएम में काम करते हुए टीम कुक इंटेलिजेंट इलेक्ट्रॉनिक्स में पुनर विक्रेता डिजाइन के मुख्य परिचालन अधिकारी बने। इंटेलिजेंट इलेक्ट्रॉनिक्स में काम करने के बाद, टीम कुक कंपैक्ट कंप्यूटर का ऑपरेशन में कॉर्पोरेट सामग्री के उपाध्यक्ष के रूप में स्थानांतरित हो गए। उसके बाद, टीम कुक के जीवन में एक नया मोड़ आया क्योंकि वे Apple जैसी कंपनी में शामिल हो गए थे।

टीम कुक सफल क्यों है?

टीम कुक का जीवन कई सारे लोगों को प्रोत्साहित और प्रेरणा देती है। वर्तमान समय में टीम कुक दुनिया के जाने-माने प्रभावशाली व्यक्तियों में गिने जाते हैं। इसके अलावा सामाजिक और प्रौद्योगिकी के विकास में उनकी भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। वर्ष 2011 में, टीम कुक को फॉरवर्ड पत्रिका के विश्व के सबसे शक्तिशाली लोगों में शामिल किया गया था। तिम कुक को साल 2012 में स्वर जनिक रूप से कारोबार करने वाली बड़ी कंपनियों में सबसे अधिक वेतन पाने वाले मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में जगह मिली थी।

तो टीम कुक सफल क्यों है? यह उत्कृष्ट प्रबंधन रणनीति के कारण है जिसने कंपनी को तेजी से बढ़ाने में मदद की। अपने वेतन के साथ लगभग $90000 की राशि के साथ टीम कुक दुनिया के सबसे अमीर मुख्य कार्यकारी अधिकारी में से एक में गिने जाते हैं। इन सबके अलावा टीम कुक परोपकारी कार्यों में भी सक्रिय रहते हैं। साल 2015 में, उन्होंने घोषणा की थी कि अपने भतीजे के शिक्षा के लिए भुगतान करने के बाद, वाह अपनी शेष तनख्वाह परोपकारी परियोजनाओं के लिए दान करेंगे।

टीम कुक – एक प्रेरणा के रूप में

संकट के समय में Apple जैसी कंपनी में शामिल होना टीम के लिए कभी भी आसान नहीं था। अब, उनकी कड़ी मेहनत और समर्पण के कारण एप्पल जैसी कंपनी का राजस्व और बिक्री आसमान छू गई है। इसीलिए, टीम कुक की उपलब्धियों में उन्हें कई महत्वाकांक्षी उद्यमियों के लिए एक प्रेरणा भी शामिल है। टीम कुक द्वारा कही गई बातें बहुत से लोगों को प्रेरणा देती है। उसकी एक छोटी सी सूची हम नीचे उपलब्ध करा रहे हैं।

अपने आनंद को अपनी यात्रा में होने दें।

किसी दूर के लक्ष्य में नहीं।।

जीवन नाजुक है। हमें कल की गारंटी नहीं है, इसलिए इसे वह सब कुछ दे जो आपके पास है।।

यदि आप स्वीकार करते हैं कि आप जो कुछ भी कर सकते हैं वह असीमित है, तो आप ब्रह्मांड में अपना डिंग डाल सकते हैं। आप पूरी दुनिया बदल सकते हैं।।

आप उन चीजों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं जो बाधाएं हैं या आप दीवार को स्केल करने या समस्या को फिर से परिभाषित करने पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।।

इस बारे में सोचें कि आप किसके बारे में भावुक हैं। मैंने बहुत पहले कुछ नहीं सीखा: अगर मैं वापस जा सकता था, तो मैं अपने छोटे से कहूंगा कि काम से प्यार करने और काम से प्यार करने के बीच एक बड़ा अंतर है।।

टीम कुक को मिले पुरस्कार और उपलब्धियां

  • साल 2015 में रिप्पल ऑफ चेंज अवार्ड से नवाजा गया।
  • 2015 में ही फार्च्यून के विश्व के सबसे महान लीडर्स के रूप में चुना गया।
  • साल 2014 में फाइनेंसियल टाइम्स पर्सन ऑफ द ईयर का खिताब जीता।
  • साल 2015 में मानव अधिकार अभियान का दृश्यता पुरस्कार
  • साल 2017 में ग्लास्गो, स्कॉटलैंड में यूनिवर्सिटी ऑफ ग्लास्गो से विज्ञान के मानद डॉक्टरेट की उपाधि।
  • साल 2018 में एंटी डेफिनेशन लीग से करेज अगेंस्ट एडवर्ड