What is Crypto Currency? क्रिप्टो करेंसी क्या है?

प्राचीन काल में हम इंसान ज्यादातर व्यापार करने के लिए वस्तु विनिमय का इस्तेमाल करते थे। वस्तु विनिमय के अंतर्गत हम एक वस्तु को दूसरे वस्तु से बदलते थे। धीरे धीरे हम इंसान ने सिक्के एवं मोहरे बनाए, और इनकी सहायता से वस्तु की खरीद बिक्री शुरू की। इसका नतीजा यह हुआ कि हमारे लेनदेन का तरीका पूरी तरह से बदल गया। अब लोग किसी भी वस्तु की खरीद पर उसके लिए इन्हीं सिक्के एवं नोट करेंसी का इस्तेमाल करते हैं। जैसे जैसे समय बदलता गया आज हम डिजिटल युग की तरफ कदम बढ़ा रहे हैं। जहां भौतिक मुद्रा के बदले हम डिजिटल आधारित क्रिप्टो करेंसी (Crypto Currency) मुद्राओं का इस्तेमाल रोजमर्रा की डिजिटल खरीदारी पर करते हैं। आज के हमारे इस लेख में हम बात करने वाले हैं कि What is Crypto Currency? क्रिप्टो करेंसी क्या है?

इसके अलावा हम अपने इस लेख में इस बारे में भी जानकारी लेंगे की आखिर क्रिप्टोकरंसी कैसे कार्य करती है? एवं इसके इतिहास के बारे में भी जानकारी लेंगे।

What is Crypto Currency? क्रिप्टो करेंसी क्या है?

क्रिप्टोकरंसी (Crypto Currency) एक डिजिटल करेंसी होती है। जिसे एक डिसेंट्रलाइज सिस्टम (Decentralized System) द्वारा प्रबंधन किया जाता है। इससे प्रत्येक लेनदेन का डिजिटल सिग्नेचर द्वारा वेरिफिकेशन किया जाता है और इसके अलावा Cryptography की मदद से उसका रिकॉर्ड रखा जाता है। दूसरे एवं साधारण शब्दों में समझें तो कोई भी क्रिप्टोकरंसी Blockchain Technology पर आधारित एक आभासी करेंसी या मुद्रा होती है। जो क्रिप्टोग्राफी द्वारा सुरक्षित है। इसे कॉपी करना लगभग नामुमकिन होता है।

भौतिक मुद्राएं

ज्यादातर हर देश में भौतिक मुद्राओं का इस्तेमाल दैनिक लेनदेन के लिए कई सालों से चलता आ रहा है। जैसे कि आप हमारे देश भारत का ही उदाहरण ले लीजिए। हमारे देश भारत में मुद्राओं के रूप में भारतीय रुपया (Indian Currency) का इस्तेमाल किया जाता है। उसी तरह से अगर आप अमेरिका जाते हैं तो वहां पर डॉलर एक भौतिक मुद्रा है। दैनिक लेनदेन या फिर रोजमर्रा की चीजों को खरीदने के लिए हम इन्हीं भौतिक मुद्राओं का इस्तेमाल करते हैं। इस समय जरूर आपके मन में भी यह सवाल आ रहा होगा की करेंसी होती क्या है?

करेंसी क्या होती है?

ऐसा धन प्रणाली जो किसी देश द्वारा मान्यता प्राप्त हो और वहां के लोगों द्वारा धन के माध्यम के रूप में इस्तेमाल की जाती हो। साथी जिसकी कोई कीमत (Value) हो करंसी (Currency) कहलाती है।

मान लेते हैं कि आपके पास में ₹50 हैं, आप उस ₹50 से ₹50 का कोई सामान खरीद सकते हैं। यानी कि उस नोट की एक वैल्यू है जिसकी कीमत ₹50 के सामान के बराबर है। इसी तरह से अगर आप ₹500 पुराने वाले है तो आप उसे किसी भी तरह का सामान नहीं खरीद सकते हैं। क्योंकि, भारत सरकार द्वारा पुराने 500 के नोटों को चलन से हटा दिया गया है।

क्रिप्टो करेंसी किस तरह से काम करती है? How Cryptocurrency Works

वास्तव में, क्रिप्टो करेंसी एक peer-to-peer केस प्रणाली के तहत काम करती है, जो कंप्यूटर एल्गोरिदम पर बनी होती है। सीधे एवं आसान शब्दों में कह तो क्रिप्टो करेंसी का किसी भी तरह का कोई भौतिक रूप नहीं होता। यानी कि आप इसे छू नहीं सकते और ना ही देख सकते हैं। यह सिर्फ अंकीय रूप में डिजिटल तौर पर ऑनलाइन रहती है। और इसकी सबसे बड़ी खास बात यह है कि यह पूरी तरह से Decentralized है।

यानी कि इस पर किसी भी देश या सरकार का कोई नियंत्रण नहीं होता है। इसलिए शुरुआत से ही इसे अवैध (illegal) करार दे दिया गया है। वही बिटकॉइन (Bitcoin) जैसे कुछ क्रिप्टो करेंसी भी है, जिसने लोगों के बीच में काफी लोकप्रियता बनाई है। जिसके चलते कई देशों ने इस तरह के क्रिप्टो करेंसी को अपने देश में एक मान्यता प्राप्त मुद्रा के रूप में स्वीकार कर लिया है।

क्रिप्टो करेंसी का कोई भौतिक स्वरूप यानी कि सिक्का या नोट के रूप में इसे कभी प्रिंट नहीं किया जा सकता है। लेकिन, जिस तरह से बहुत ही थी मुद्रा की एक वैल्यू या कीमत होती है। ठीक, उसी तरह से क्रिप्टोकरंसी की भी एक कीमत और वैल्यू होती है।

क्रिप्टो करेंसी को खरीद सकते हैं। उसका व्यापार कर सकते हैं और यहां तक कि आप क्रिप्टोकरंसी पर निवेश भी कर सकते हैं। लेकिन, आप इसे अपनी तिजोरी में नहीं रख सकते हैं। ना ही आप इसे किसी बैंक पर जमा करके रख सकते हैं। क्योंकि क्रिप्टोकरंसी अंकीय (Digits) के रूप में ऑनलाइन रहती है। इसलिए इसे Digital Money, Virtual Money और Electronic Money भी कहा जाता है।

जिस तरह से भौतिक मुद्राएं की एक कीमत (Value) होती है ठीक उसी तरह से क्रिप्टो करेंसी की भी एक वैल्यू होती है। आपको बता दें कि क्रिप्टो करेंसी की कीमत साधारण भौतिक मुद्राओं से कहीं ज्यादा होती है। दुनिया भर में मौजूद क्रिप्टो करेंसी में से टॉप के क्रिप्टोकरंसी की वैल्यू डॉलर से भी ज्यादा होती है। जैसे कि 1 बिटकॉइन की कीमत भारत में लगभग 30 लाख रुपए के आसपास हैं। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि क्रिप्टो करेंसी की कीमत साधारण भौतिक मुद्राओं से कहीं अधिक होती है।

क्रिप्टो करेंसी कि काम करने की प्रक्रिया

क्रिप्टो करेंसी असल में ब्लॉकचेन (Blockchain) आधारित प्रणाली के माध्यम से कार्य करती है। इसमें लेनदेन का सारा रिकॉर्ड रखा जाता है। इसके साथ ही बहुत ही तेज एवं पावरफुल कंप्यूटर के माध्यम से इसकी निगरानी रखी जाती है।

क्रिप्टो करेंसी के लेनदेन को सत्यापित करने पर रिवॉर्ड के तौर पर क्रिप्टोकरंसी मिलता है। इस तरह वह लोग जो क्रिप्टोकरंसी की लेनदेन को सत्यापित (Verify) करते हैं उन्हें Miners कहते हैं। क्रिप्टो करेंसी को सत्यापित करना और उसकी निगरानी रखना को Cryptocurrency Mining कहा जाता है।

जब भी, क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से किसी भी प्रकार का लेनदेन यानी कि ट्रांजैक्शन किया जाता है। तब उसका एक रिकॉर्ड Blockchain पर दर्ज किया जाता है। और इस ब्लॉक की सुरक्षा एवं सिक्योरिटी Miners द्वारा की जाती है। इसके लिए वे एक क्रिप्टोग्राफी पहेली को हल कर ब्लॉक के लिए उचित hash Code ढूंढते हैं।

जब कोई माइनर सही कोड ढूंढ करके इस ट्रांजैक्शन को ब्लॉक में सुरक्षित कर देता है। तो उसे ब्लॉक चेन में पुनः जोड़ दिया जाता है। नेटवर्क में मौजूद अन्य Nodes कंप्यूटर द्वारा उसे सत्यापित किया जाता है। इस पूरी प्रक्रिया को Consensus कहा जाता है।

अगर इस प्रक्रिया में ब्लॉक के लिए सुरक्षित होने की पुष्टि हो जाती है तो Miners को उपहार के तौर पर Crypto Coins दिया जाता है। जिससे प्रूफ ऑफ वर्क की पुष्टि होती है।

Cryptocurrency कहां से खरीदें?

अगर आप, क्रिप्टो करेंसी खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो हम आपको यह बता देना चाहते हैं कि आप क्रिप्टोकरंसी ऑनलाइन अधिकारिक वेबसाइट एवं android app की सहायता से खरीद सकते हैं। इन वेबसाइट की सहायता से आप बिटकॉइन, एथेरियम, XRP, YFI, DOGE, जैसे सैकड़ों क्रिप्टो कॉइन खरीद सकते हैं।

वहीं भारत जैसे देश में WazirX क्रिप्टोकरंसी खरीदने के लिए सबसे बेहतरीन वेबसाइट और भरोसेमंद वेबसाइट मानी जाती है। इस वेबसाइट पर आप क्रिप्टो करेंसी को एक्सचेंज भी कर सकते हैं।

जब भी हम क्रिप्टो करेंसी का नाम लेते हैं तो हमारे दिमाग में सबसे पहला नाम Bitcoin का ही आता है। लेकिन, बिटकॉइन ही केवल इस दुनिया में अकेला क्रिप्टोकरंसी नहीं है। इसके अलावा भी बहुत सारे क्रिप्टोकरेंसीज है। जिनके बारे में ज्यादातर लोगों को पता नहीं होता है। हम क्रिप्टो करेंसी की एक छोटी सी सूची नीचे दे रहे हैं :-

  1. Bitcoin (BTC)
  2. Ethereum (ETH)
  3. Ripple (XRP)
  4. Tether (USDT)
  5. Litecoin (LTC)
  6. Monero (XMR)
  7. Cosmos (ATOM)
  8. PeerCoin (PPC)
  9. BitTorrent (BTT) इत्यादि

क्रिप्टो करेंसी के क्या फायदे हैं?

जब भी हमारे दिमाग में बिटकॉइन जैसे क्रिप्टोकरंसी का नाम आता है तो हमारे दिमाग में यह सवाल भी आता है कि आखिर क्रिप्टोकरंसी से लोगों को क्या फायदा पहुंचता है? जिससे कि लोग क्रिप्टोकरंसी को खरीदना पसंद करते हैं। तो हम आपको यह बता देना चाहते हैं कि क्रिप्टोकरंसी के फायदे एवं नुकसान दोनों है। हम पहले यहां पर आप लोगों को क्रिप्टोकरंसी से होने वाले फायदे के बारे में बताएंगे:-

  • क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल मुद्रा है। इसमें आप से किसी भी तरह की फ्रॉड होने की गुंजाइश बहुत कम होती है।
  • क्रिप्टो करेंसी को खरीदना, एवं बेचना साथ में उस पर निवेश करना बहुत आसान होता है।
  • ऑनलाइन पैसों की ट्रांजैक्शन में अत्याधिक कमीशन लगता है। वही क्रिप्टोकरंसी के माध्यम से ट्रांजैक्शन करने पर इस पर ज्यादा शुल्क अदा नहीं करना पड़ता।
  • क्रिप्टो करेंसी के लिए किसी भी तरह की बैंक की आवश्यकता नहीं होती है।
  • क्रिप्टो करेंसी निवेश के लिए बहुत ही अच्छा विकल्प है। ऐसा इसलिए क्योंकि इनकी कीमतों में तेजी से उछाल आता है।
  • क्रिप्टो करेंसी को किसी भी राज्य अथवा सरकार द्वारा नियंत्रित नहीं किया जाता है।
  • ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए क्रिप्टो करेंसी को एक सुरक्षित करेंसी माना जाता है।

क्रिप्टो करेंसी से होने वाले नुकसान?

हर चीज के दो पहलू होती है, जिसकी कुछ फायदे होते हैं तो वहीं कुछ नुकसान भी होते हैं। यह बात ठीक क्रिप्टोकरंसी पर भी लागू होती है। इस वजह से क्रिप्टोकरंसी के कुछ नुकसान भी हैं जिनके बारे में हम आप लोगों को नीचे बता रहे हैं:-

  • क्रिप्टोकरंसी के ऊपर किसी भी तरह का प्राधिकरण का अधिकार या नियंत्रण नहीं है।
  • प्राधिकरण एवं नियंत्रण नहीं होने के चलते क्रिप्टो करेंसी की कीमतों पर उतार चढ़ाव अनियंत्रित होता है। जिससे कि निवेशकों को घाटा उठाना पड़ सकता है।
  • क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल करेंसी है। इस वजह से आपका अकाउंट हैक हो जाने पर आप इसकी शिकायत किसी को भी नहीं कर सकते हैं।
  • क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल ज्यादातर अवैध तरीके से किया जाता है। जिसमें हथियार की खरीद, नशीली पदार्थ चोरी इत्यादि चीजों के लिए हो सकता है।
  • इसके अलावा क्रिप्टोकरंसी का कोई भी भौतिक अस्तित्व नहीं है। यानी कि इसके नोट और सिक्के नहीं होते हैं।

क्या Cryptocurrency Legal है?

यह एक ऐसा सवाल है जो हर किसी व्यक्ति के जेहन में आता है। कि क्या? क्रिप्टो करेंसी अवैध है? तो इसका जवाब यह है कि क्रिप्टो करेंसी को बहुत सारे देशों में स्वीकार किया जाता है? तो वही बहुत सारे देशों में इसे अवैध घोषित किया गया है।

इन सबके बावजूद क्रिप्टो करेंसी का कारोबार लगातार फल फूल रहा है। पिछले दो-तीन सालों में क्रिप्टोकरंसी लोगों के बीच में काफी लोकप्रिय भी हुई है। इस वजह से कई देशों ने इसे Legal मुद्रा के रूप में इसे स्वीकार कर लिया है। तो वहीं कई देश ऐसे भी हैं जिन्होंने क्रिप्टो करेंसी को अवैध प्रतिबंधित मुद्रा के रूप में घोषित किया है। भारत जैसे देश में कुछ सालों तक क्रिप्टोकरंसी अवैध मुद्रा थी। बाद में हाईकोर्ट में आए फैसले के बाद अब क्रिप्टो करेंसी को Legal करेंसी के रूप में स्वीकार कर लिया गया है।