What is Bitcoin? बिटकॉइन क्या होता है?

What is Bitcoin? बिटकॉइन क्या होता है? आजकल टीवी समाचार पत्रों पर बिटकॉइन का प्रचार एवं प्रसार अत्यधिक रूप से हो रहा है। ऐसे में बहुत से ऐसे लोग हैं जिनके मन में यह सवाल आवश्यक रूप से आता होगा कि बिटकॉइन आखिर क्या है? बहुत सारे प्रचार में बिटकॉइन पर निवेश करने के लिए कहा जाता है। आज हम अपने इसलिए इसमें बिटकॉइन के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। इसके अलावा हम अपने इस लेख में इस बारे में भी चर्चा करेंगे कि बिटकॉइन आखिर किस तरह से प्रकाश में आया?

ऐसे हम आपको बता देना चाहते हैं कि बिटकॉइन की शुरुआत 3 जनवरी वर्ष 2009 को किया गया था। बिटकॉइन दुनिया का पहला क्रिप्टो करेंसी के रूप में जाना जाता है। पूरी दुनिया भर में बिटकॉइन एक करोड़ से भी अधिक है।

असल में बिटकॉइन एक तरह का वर्चुअल यानी कि आभासी मुद्रा होती है। आभासी से मतलब है कि अन्य मुद्रा की तरह इसका कोई भौतिक स्वरूप नहीं होता है। यह एक डिजिटल करेंसी होती है। यह एक ऐसी मुद्रा है जिसको आप ना तो देख सकते हो और ना ही छू सकते हो। बिटकॉइन इलेक्ट्रॉनिक रूप में मौजूद होती है। यानी कि आप डिजिटल तौर पर इसका इस्तेमाल करते हैं। इसका यह मतलब नहीं है कि अगर किसी के पास बिटकॉइंड है तो वह आम मुद्रा की तरह इससे सामान की खरीद बिक्री नहीं कर सकता है। बल्कि, अन्य मुद्रा की भांति ही वह बिटकॉइन की सहायता से किसी भी सामान की खरीद बिक्री कर सकता है।

हमने बिटकॉइन को समझने के लिए आपको यहां पर बेसिक जानकारी दी है। जिससे कि आपको बिटकॉइन से संबंधित अन्य जानकारी जो हम नीचे दे रहे हैं को समझने में आसानी हो। तो चलिए जानते हैं कि What is Bitcoin? बिटकॉइन क्या होता है?

What is Bitcoin? बिटकॉइन क्या होता है?

बिटकॉइन (Bitcoin) एक वर्चुअल (Virtual) करंसी या मुद्रा होती है। यह एक ऐसी मुद्रा है जिसे आप नहीं देख सकते हैं। न ही छू सकते हैं। आप इसे एक आभासी मुद्रा कह सकते हैं। इसे इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में सेव करके रखा जाता है।

वर्तमान समय में बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टो करेंसी का प्रचलन काफी बढ़ गया है। अगर आपके पास में बिटकॉइन या अन्य क्रिप्टो करेंसी है तो आप अन्य मुद्रा की तरह ही इसका इस्तेमाल कर सकते हो। जिस तरह से आप भौतिक मुद्रा का उपयोग करते हुए किसी भी चीज को खरीदते एवं बेचते हो, ठीक उसी तरह बिटकॉइन की सहायता से भी आप किसी भी सामान की खरीद बिक्री कर सकने में सक्षम होते हैं। बिटकॉइन एक क्रिप्टो करेंसी है। निवेश करने से पहले आपको इसके बारे में जानकारी होना जरूरी होता है।

History of Bitcoin – बिटकॉइन का इतिहास क्या है?

बिटकॉइन की शुरुआत 3 जनवरी वर्ष 2009 को की गई थी। बिटकॉइन विश्व का पहला खुला भुगतान तंत्र है। या इसे आप विश्व का पहला क्रिप्टो करेंसी मान सकते हैं। दुनिया भर में एक करोड़ से भी अधिक बिटकॉइन है।

क्रिप्टो करेंसी (Crypto Currency) के रूप में बिटकॉइन को जाना जाता है। बिटकॉइन एक वर्चुअल यानी कि आभासी मुद्रा है, आभासी से मतलब है कि यह अन्य मुद्रा की तरह इसका कोई भौतिक रूप नहीं है। यह एक डिजिटल करेंसी के रूप में जाना जाता है। बिटकॉइन एक ऐसी मुद्रा है जिसको आप ना तो देख सकते हो और ना ही छू सकते हो। इसे केवल इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में रखा जाता है। अगर किसी व्यक्ति के पास में बिटकॉइन है तो वह आम मुद्रा की तरह इस मुद्रा की सहायता से भी खरीद बिक्री का कार्य कर सकता है।

वर्तमान समय में बिटकॉइन काफी लोकप्रिय हो गया है। बिटकॉइन (Bitcoin) के अविष्कारक या जनक के बारे में बात करें तो इसका आविष्कार सतोशी नाकामोतो नाम के एक इंजीनियर ने वर्ष 2008 में किया था।

फिर साल 2009 में इसे एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के रूप में जारी कर दिया गया। वर्तमान समय में लोग कम कीमत पर बिटकॉइन खरीद कर इसे ऊंचे दामों पर बेचकर के कारोबार करते हैं।

अगर आप कोई भी ट्रांजैक्शन हो, तो ट्रांजैक्शन करने के लिए आप डेबिट या क्रेडिट कार्ड से भुगतान करेंगे तो उसमें आपको तीन से 4% तक शुल्क अदा करना पड़ता है। लेकिन बिटकॉइन में ऐसा कुछ नहीं होता, बिटकॉइन से ट्रांजैक्शन करने पर आपको किसी भी तरह का शुल्क की अदायगी नहीं करनी पड़ती है।

यह एक वजह हो सकती है कि यह लोगों के बीच में काफी लोकप्रिय होता जा रहा है। इसके अलावा बिटकॉइन काफी सुरक्षित एवं तेज है। जिससे कि लोगों के बीच में बिटकॉइन को लेकर के लोकप्रियता काफी बढ़ती जा रही है। खरीददार की पहचान का खुलासा किए बिना पूरा का पूरा बिटकॉइन नेटवर्क के प्रत्येक लेनदेन के बारे में पता किया जा सकता है। यह बहुत अधिक सुरक्षित और तेज और यह दुनिया में कहीं भी कारगर है, इसकी कोई सीमा नहीं है।

बिटकॉइन क्या भारत में प्रतिबंधित है? Bitcoin banned in India

हर किसी के मन में, जो भारतीय हैं। और बिटकॉइन पर निवेश या उसे खरीदना चाहते हैं। यह सवाल उनके मन में अवश्य रूप से आता होगा। क्या बिटकॉइन भारत में प्रतिबंधित है? या इसके अलावा अन्य क्रिप्टोकरंसी भी क्या भारत में प्रतिबंधित है?

हां, बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरंसी भारत में प्रतिबंधित किए गए हैं। इसके बावजूद भी देश में बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरंसी मुद्राओं का अवैध कारोबार आज भी जारी है।

इस बारे में भारत के पूर्व रिजर्व बैंक के गवर्नर शशिकांत दास कहते हैं कि ” बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरंसी को ले करके वह गंभीर रूप से चिंतित हैं और उसने सरकार को इस चिंता से अवगत करा दिया है”। बिटकॉइन जैसी निजी क्रिप्टो करेंसी नियमन के दायरे में नहीं है। इसकी कीमत में भारी उतार-चढ़ाव रहता है इस तरह की आवाजें उठ रही है कि इन्हें विदेशी संपत्ति जैसा माना जाए। सरकार को इस बात पर फैसला करना है कि इन्हें पूरी तरह से अनुमति दी जाए या नहीं?

वर्तमान समय में दुनिया में केवल एक ही देश अल साल्वाडोर ने बिटकॉइन को मान्यता देकर के दुनिया का पहला ऐसा देश बन गया है जहां पर बिटकॉइन एक मान्यता प्राप्त मुद्रा है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पहले बैंकों को क्रिप्टोकरंसी जोशी संपत्ति में निवेशकों द्वारा कारोबार करने की अनुमति पर प्रतिबंध लगा दिया था। इसके बाद उच्च न्यायालय की एक खंडपीठ में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के आदेश को रद्द कर दिया गया। बाद में इसकी अनुमति मिल गई थी। खबरों की माने तो कुछ पॉइंट ने इस तरह का कामकाज फिर से शुरू कर दिया है।

क्या भारत में गैर कानूनी है क्रिप्टोकरंसी?

वर्तमान में, क्रिप्टो करेंसी या बिटकॉइन जैसी अन्य मुद्राएं कानूनी दायरे से बाहर है। इस वजह से हम इसे अवैध नहीं कह सकते क्योंकि वे अभी तक देश में किसी भी केंद्रीय प्राधिकरण द्वारा उपयोग के लिए अधिकृत नहीं किया गया है।

बिटकॉइन बनने की प्रक्रिया क्या है? How Bitcoin are Produce

अगर बिटकॉइन की कीमत की बात करें तो वर्तमान समय में 1 बिटकॉइन बराबर ₹70000 होते हैं। ध्यान रहे कि बिटकॉइन की कीमत पर हमेशा उतार-चढ़ाव लगा रहता है।

दरअसल बिटकॉइन की सबसे छोटी इकाई Satoshi होती है और एक बिटकॉइन बराबर 10,00,00,000 (करोड़) Satoshi होता है।

या ठीक वैसे ही है जैसे भारतीय रुपए में ₹1 = 100 पैसे होते हैं। ठीक इसी तरह 10 करोड़ सतोशी पर 1 बिटकॉइन बनता है।

Bitcoin Mining क्या होता है?

किसी भी देश में उसकी अर्थव्यवस्था को संभाले रखने एवं अर्थव्यवस्था में कितनी मुद्रा है या रुपए जाएंगे इसका लेखा-जोखा एवं उसे जारी करने का पूर्ण अधिकार उस देश की केंद्रीय बैंक के पास होता है। सीधे शब्दों में कहें तो भारत जैसे देश में पैसे छापने और उन्हें जारी करने का अधिकार रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पास होता है।

लेकिन, बिटकॉइन भी जारी होती है। बिटकॉइन, हालांकि भौतिक मुद्रा नहीं है। लेकिन इससे Bitcoin Mining की सहायता से जारी किया जाता है।

वर्तमान समय में बिटकॉइन की कुल संख्या 13 मिलीयन के आसपास है। किसी भी देश में नोट छापने की एक लिमिट होती है। उसी तरह से बिटकॉइन की भी एक लिमिट है। इस तरह से देखा जाए तो मार्केट में कुल 21 मिलीयन बिटकॉइन ही आ सकते हैं। तो नहीं बिटकॉइन माइनिंग (Mining) के जरिए आते हैं।

बिटकॉइन माइनिंग (Mining) का अर्थ :- मान लेते हैं कि आप बिटकॉइन के जरिए लेनदेन करते हैं। इसलिए दिन की प्रक्रिया में आप बिटकॉइन एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को भेजते हैं। तो भेजने की इस प्रक्रिया को सत्यापित (Verify) किया जाता है। सत्यापित करने वाले व्यक्ति को ही Miners कहते हैं। यह एक ऐसा कंप्यूटर या व्यक्तिगत होता है जिनके पास हाई पावर कंप्यूटर होते हैं। जोकि बिटकॉइन से होने वाले लेनदेन (Transaction) को सत्यापित करते हैं।

Miners द्वारा जब भी कोई व्यक्ति बिटकॉइन की लेनदेन की प्रक्रिया होती है तो माइनर उस पूरी प्रक्रिया को वेरीफाई करते हैं। जिससे कि किसी भी तरह की हेरा फेरी ना की जा सके। सत्यापित होने के बाद उपहार (Rewards) के तौर पर उन्हें नया बिटकॉइन प्राप्त होता है। अगर आपके पास में भी अत्याधुनिक और हाई पावर वाले कंप्यूटर है तो आप भी Mining के जरिए बिटकॉइन बना सकते हो।

जैसा कि हमने इस बारे में ऊपर या जानकारी दे रखी है कि पूरी दुनिया में वर्तमान समय में 13 मिलीयन बिटकॉइन मौजूद है। अधिकतम बिटकॉइन 21 मिलियन तक ही जारी किए जा सकते हैं।

बिटकॉइन के क्या फायदे हैं?

  • बिटकॉइन ट्रांजैक्शन करने में कम फीस लगती है। यह एक वजह हो सकती है जिसकी वजह से लोग बड़े-बड़े ट्रांजैक्शन करने के लिए बिटकॉइन का इस्तेमाल करते हैं। इसी वजह से इसकी लोकप्रियता बढ़ी है।
  • बिटकॉइन को आप दुनिया में कहीं भी बेच या खरीद सकते हैं क्योंकि अभी तक के रिकॉर्ड में बिटकॉइन लगातार बढ़ रहा है। आप बिना किसी परेशानी के किसी भी मुद्रा में इसे बदल सकते हैं।
  • अगर आप एक निवेशक हैं, और लंबे अंतराल के लिए निवेश करना चाहते हैं तो आप बिटकॉइन पर निवेश कर सकते हैं। क्योंकि बिटकॉइन की कीमतों पर लगातार उछाल दिखाई दे रहा है।
  • बिटकॉइन में सरकार आप पर नजर नहीं रखती है। बहुत से लोग जो काला कारोबार करते हैं, बिटकॉइन के जरिए ही अपनी काली कमाई छुपाते हैं।

जहां बिटकॉइन के बहुत से फायदे हैं। वही बिटकॉइन के कुछ नुकसान भी है। जहां बिटकॉइन आपको मुद्राओं को कहीं भी चलाने और किसी भी मुद्रा में बदलने की अनुमति देता है। वहीं कुछ गोरखधंधे करने वाले लोग, बिटकॉइन का इस्तेमाल काले धन या ड्रग माफिया वगैरह में भी करते हैं। इस चलते इसके नुकसान भी है।

बिटकॉइन से क्या नुकसान है?

  • बिटकॉइन इस्तेमाल करने वाले लोगों के ऊपर सरकार या किसी भी बैंक का किसी भी तरह का प्राधिकरण नहीं होता है।
  • सरकार या किसी बैंक का बिटकॉइन के ऊपर प्राधिकरण ना होने की वजह से इसकी कीमतों पर काफी उतार-चढ़ाव देखी जा सकती है। जिससे नुकसान होने का जोखिम होता है।
  • अगर आपका बिटकॉइन अकाउंट हैक हो जाता है तो आप बिटकॉइन वापस नहीं ले सकते। ना ही सरकार आपकी इस पर कोई मदद कर सकती है।
  • कई देशों में बिटकॉइन प्रतिबंधित है। लेकिन, इन सबके बावजूद सरकार से चुप करके इसका गोरखधंधा चल रहा है।

बिटकॉइन कैसे खरीदें? – How to Buy Bitcoin

भारत में से कई वेबसाइट एवं कंपनियां मौजूद है जहां पर उसे आप बिटकॉइन की खरीदारी कर सकते हैं। जैसे कि हमने बताया कि बिटकॉइन की कीमतों पर लगातार उछाल एवं गिरावट देखा जा सकता है। अगर आप बिटकॉइन खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो हम आपको यह बता देना चाहते हैं कि भारत में ऐसी कई वेबसाइट पर मौजूद है और एंड्रॉयड एप्लीकेशन भी मौजूद है जहां पर आप रजिस्ट्रेशन करके बिटकॉइन खरीद सकते हैं।

आज की तारीख यानी कि 1 सितंबर 2021 को 1 बिटकॉइन = 32,51,585.40 पैसे हैं। यानी कि आपको एक बिटकॉइन खरीदने के लिए 32 लाख 51 हजार रुपए खर्च करने पड़ेंगे।

ऑनलाइन वेबसाइट या एंड्रॉयड एप्लीकेशन से बिटकॉइन खरीदने के लिए आपको निम्नलिखित डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ सकती है।

  • आपके पास में Vaild id Proof जिसके अंतर्गत पैन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी, पासपोर्ट इत्यादि चीजें होने चाहिए।
  • किसी बैंक में आपका खाता होना अनिवार्य है।
  • बिटकॉइन खरीदते वक्त आपको अपने बैंक खाते के साथ अपने बिटकॉइन अकाउंट को लिंक करना होता है। तभी आप बिटकॉइन के जरिए ट्रांजैक्शन सफलतापूर्वक कर सकते हैं।
  • पैन कार्ड को लिंक करना अनिवार्य होता है।
  • इन सारी चीजों के अलावा आपके पास में एक वैलिड ईमेल आईडी भी होनी चाहिए।
  • किसी भी एंड्राइड एप्लीकेशन या वेबसाइट से बिटकॉइन के लिए अकाउंट खोलते वक्त आप इस बात का ध्यान रखें कि आप सही एवं सटीक जानकारी उसमें भरें। तभी आपका अकाउंट वेरीफाई यानी कि सत्यापित किया जाएगा अन्यथा आपके अकाउंट को हटा दिया जाएगा।

ऐसी वेबसाइट जहां से आप बिटकॉइन खरीद सकते हैं उनकी एक सूची हम नीचे दे रहे हैं।

  1. Wazir
  2. Unocoin
  3. BTCxIndia
  4. LocalBitcoin
  5. Coinbox etc

निष्कर्ष

आज के हमारे इस लेख में हमने आप लोगों को इस बारे में जानकारी उपलब्ध कराई है कि What is Bitcoin? बिटकॉइन क्या होता है? इसके अलावा हमने बिटकॉइन के इतिहास के बारे में भी जानकारी बतलाया है।

आप किस तरह से बिटकॉइन पर निवेश कर सकते हैं। और इसके साथ ही हमने इस बारे में भी जानकारी उपलब्ध कराई है कि अगर आप बिटकॉइन खरीदना चाहते हैं तो आप किस तरह से बिटकॉइन खरीद सकते हैं। बिटकॉइन खरीदते वक्त आप इस बात का भी ध्यान रखें कि जहां इसके फायदे हैं। वहीं इसके नफा नुकसान भी हैं।