What is Solid State Drive (SSD)? SSD क्या है?

कंप्यूटर की दुनिया में नीति नए उपकरण और तकनीक आते रहते हैं। वर्तमान समय में सॉलि़ड स्टेट ड्राइव का इस्तेमाल कंप्यूटर में किया जा रहा है। जिससे कि कंप्यूटर और अधिक शक्तिशाली और तेज हो गए हैं। आज हम अपने इस लेख में जानेंगे कि What is Solid State Drive (SSD)? SSD क्या है?

What is Solid State Drive (SSD)? SSD क्या है?

Solid State Drive (SSD) कंप्यूटर में उपयोग की जाने वाली स्टोरेज डिवाइस की एक नई पीढ़ी है। SSD क्लास आधारित मेमोरी का उपयोग करते हैं, जो पुरानी वाली यांत्रिक हार्ड डिस्क की तुलना में काफी ज्यादा तेज है। अगर आप अपने कंप्यूटर को SSD पर अपग्रेड करते हैं तो आपका कंप्यूटर की गति काफी तेज हो जाएगी। फटाफट नीचे के आर्टिकल में हम यह जानते हैं कि SSD कैसे काम करता है और उन्हें तेजी से प्रदर्शन बूटिंग टूल के साथ कैसे अनुकूलित रखा जा सकता है।

पुरानी पीढ़ी के कंप्यूटर में, डाटा और सूचनाएं मुख्य रूप से यांत्रिक हार्ड ड्राइव (HHD) पर संग्रहित किया जाता था। यह पुराने परम पारीक हार्ड डिस्क ड्राइव (Hard Disk drive) ज्यादातर मूविंग पार्ट्स पर आधारित होते थे। जैसे कि Read/write हेड जो डाटा इकट्ठा करने के लिए आगे पीछे घूमता था। यह हार्ड डिस्क ड्राइव को विफल होने वाला सबसे संभावित कंप्यूटर हार्डवेयर घटक माना जाता है।

लेकिन, नई तकनीक से लैस सॉलि़ड स्टेट ड्राइव (Solid State Drive) पूरी तरह से अलग काम करती है। यहां NAND फ्लैश मेमोरी नाम के एक साधारण मेमोरी चिप का उपयोग करते हैं, जिसमें कोई हिलने ढूंढने वाले हिस्से और निकट तत्काल एक्सेस नहीं होता है।

SSD (Solid State Drive) की तकनीकी शुरुआत का प्रयोग वर्ष 1950 के दशक में शुरू किया गया था। वर्ष 1970 और 1980 के दशक तक इनका उपयोग हाई एंड सुपर कंप्यूटर में किया जाने लगा। हालांकि, तकनीकी बेहद महंगी थी, इस चलते किसी भी उपभोक्ता को इसे खरीदने के लिए 5 अंकों की कीमत चुकानी पड़ती थी। जिसमें आपको भंडारण क्षमता भी काफी कम मिलती थी जो कि ज्यादातर 2MB-20MB के आसपास थी। इन सबके बावजूद सॉलि़ड स्टेट ड्राइव तकनीक का इस्तेमाल कभी-कभी सैन्य परीक्षण और एयरोस्पेस क्षेत्रों में किया जाता रहा। फिर वर्ष 1990 के दशक तक उपभोक्ता उपकरणों में इसका उपयोग नहीं किया गया था।

वर्ष 1990 के दशक की शुरुआत में, लोगों के बीच में कंप्यूटर को और अधिक तेज बनाने के नौ विचार के कारण SSD की कीमतों में गिरावट आई। लेकिन उस दौरान सबसे बड़ी दिक्कत यह थी कि सॉलि़ड स्टेट ड्राइव अधिकतम 10 वर्षों तक चलती थी। इसके बाद इसमें तकनीकी खामियां आना शुरू हो गई। वर्ष 2000 के दशक के अंत तक सॉलि़ड स्टेट ड्राइव अधिक विश्वसनीय बनना शुरू हो गया। उस दौरान तक इसका इस्तेमाल कंप्यूटर लैपटॉप, कंप्यूटर स्टोरेज सरवर इत्यादि तकनीक में किया जाने लगा।

SSD (Solid State Drive) पर लगे फ्लैस्क मेमोरी की तुलना रेंडम एक्सेस मेमोरी (RAM) से की जा सकती है। चुंबकीय प्लेट के बजाय, फाइलें NAND फ्लैश सेल के ग्रिड पर स्टोर की जाती है। प्रत्येक ग्रिड जिसे ब्लॉक भी कहा जाता है 256kb और 4MB के बीच स्टोरेज क्षमता रखती है। सॉलि़ड स्टेट ड्राइव के नियंत्रक के पास ब्लॉक का सटीक पता होता है, ताकि जब आपका PC किसी फाइल का अनुरोध करें तो वह लगभग तुरंत उपलब्ध हो जाए। इसके लिए आवश्यक जानकारी खोजने के लिए Read/Write वाले प्रमुख की प्रतीक्षा नहीं करनी पड़ती। जोकि सॉलि़ड स्टेट ड्राइव को काफी तेज बनाता है। SSD की गति नैनो सेकंड में मापी जाती है। इतनी तेज गति होने के चलते ही आजकल इसका इस्तेमाल हर सुपर कंप्यूटर में किया जाता है। और अधिकतर लैपटॉप में भी इनका इस्तेमाल देखा जा सकता है।

लेकिन, इसका मतलब यह नहीं है कि हार्ड डिस्क ड्राइव (HDDs) का युग खत्म हो गया है। आज भी बहुत से कंप्यूटर में परम पारीक हार्ड डिस्क ड्राइव का इस्तेमाल किया जाता है। अभी भी सॉलि़ड स्टेट ड्राइव की कीमत बाजार में कहीं अधिक है, कंप्यूटर को सस्ते में उपलब्ध कराने के लिए आज भी हार्ड डिस्क ड्राइव का इस्तेमाल कंप्यूटर में किया जाता है।

SDD का इस्तेमाल किन क्षेत्रों में किया जाता है? What are Solid state drives Used for?

वर्ष 2020 के दशक तक अधिकतर तेज गति से चलने वाले कंप्यूटर में सॉलि़ड स्टेट ड्राइव का इस्तेमाल शुरु हो गया था। लोग इसका इस्तेमाल अपने पर्सनल कंप्यूटर में करने लगे ताकि कंप्यूटर को और अधिक तेज बनाया जा सके। वास्तविकता देखे तो यह सही भी था जो वाकई में कंप्यूटर को काफी तेज बना दिया। जहां ड्राइव के बेहद कम पहुंच समय और उचित रूप उठने उच्च लागत को उचित ठहराया। जिसके चलते ऊंची कीमत वाले कुछ पर्सनल कंप्यूटर और लैपटॉप में SSD ड्राइव का उपयोग देखा जा सकता है।

इसके अलावा भी विभिन्न क्षेत्रों में SSD का इस्तेमाल देखा जा सकता है। जोकि निम्नलिखित है :-

1. Bussiness : बड़ी मात्रा में डाटा जैसे की प्रोग्रामिंग या डेटा विश्लेषण के साथ काम करने वाली कंपनी अक्सर SSD का इस्तेमाल करती है। क्योंकि इस तरह की कंपनियां फाइल एक्सेस का समय और फाइल हस्तांतरण में गति काफी महत्वपूर्ण होती है।

2. Gaming : गेमिंग कंप्यूटर ने हमेशा मौजूदा कंप्यूटिंग तकनीकी सीमाओं को दबाया है, गेमिंग प्रदर्शन के लाभ के लिए अपेक्षाकृत महंगे उपकरण को उचित ठहराया जाता है। कंप्यूटर जितना तेज होगा आपका गेमिंग एक्सपीरियंस भी उतना अच्छा होगा। ऐसे में यहां सॉलि़ड स्टेट ड्राइव स्टोरेज के लिए काफी बेहतरीन है। क्योंकि आधुनिक ब्लॉकबस्टर गेम लगातार फाइलों को लोड और लिखते हैं। ( जैसे बनावट, नक्शा, गेम का स्तर और गेम का लेबल)

3. Mobility : SSD को काफी कम बिजली की आवश्यकता होती है, इस चलते इनका उपयोग अधिकतर लैपटॉप और टेबलेट में बेहतर बैटरी लाइफ के लिए किया जाता है। इसके अलावा SSD शौक रेजिस्टेंट भी होती है। जो मोबाइल उपकरणों को गिरने पर डाटा हानि की संभावना को कम कर देता है।

4. Server : इंटरप्राइज सर्वर को अपने क्लाइंट की पीसी को ठीक से सेवा देने के लिए अधिक तेज गति के कंप्यूटर एवं सरवर की आवश्यकता होती है। जहां पर क्लाइंट का फाइल स्टोर किया हुआ होता है। जितनी तेज गति से फाइल का स्थानांतरण किया जाए इसकी प्रतिस्पर्धा क्लाइंट को काफी ज्यादा आकर्षित करती है। इसी चलते एंटरप्राइज सर्वर पर SSD स्टोरेज का इस्तेमाल किया जाता है।

Types of SSD – सॉलि़ड स्टेट ड्राइव के प्रकार

जब भी आप बाजार से SSD खरीदने जाएंगे तो आपको इसके अलग-अलग नाम के सबसे या बाजार में उपलब्ध होते हैं। जैसे कि mSATA या PCIel इत्यादि। जो अपने आप में कुछ विशेष प्रस्तुतियां दर्शाती है कि आप इस ड्राइव को किस तरह से उपयोग में ला सकते हैं।

SSD को अपने सिस्टम से जोड़ने के लिए, एक विशिष्ट यूजर इंटरफेस (UI) का उपयोग करके इसे जोड़ना होता है। बाजार में उपलब्ध सॉलि़ड स्टेट ड्राइव के ऊपर इसीलिए mSATA और PCIel लिखा हुआ होता है।

PCle और NVMe SSDs : PCI Express का उपयोग आमतौर पर ग्राफिक्स कार्ड, नेटवर्क कार्ड या अन्य उच्च प्रदर्शन वाले उपकरणों को जोड़ने के लिए किया जाता है। यह इंटरफेस आपको अधिक बैंडविथ और कम विलंबता देती है। जब आपको SSD और आपके CPU/RAM के बीच में तेज संचार की आवश्यकता होती है, तो यह आदर्श बनाता है। इस तरह के सॉलि़ड स्टेट ड्राइव जो इस प्रकार का कनेक्शन का उपयोग करते हैं, वे Nonvolatile Memory Express (NVMe) का इस्तेमाल करते हैं। जो प्रति सेकंड हाई इनपुट आउटपुट गति प्रदान करते हैं। जिससे कंप्यूटर की गति काफी तेज हो जाती है। जिससे आपको low latency मिलता है। NVMe, 16GB प्रति सेकंड तक का गति प्रदान करती है। जो कई बार कई समानांतर चैनलों के लिए 4000MB प्रति सेकंड की गति भी प्रदान करती है।

SSD PCIe NVMe
PCIe NVMe SSDs

mSATA III, SATA III, और पारंपारिक SSD : Serial Advanced Technology Attachment (SATA) एक पुरानी इंटरफ़ेस वाली तकनीक है। जिसे खासतौर पर स्टोरेज के लिए बनाया गया था। जिस की गति 6 GBit/s या लगभग 600MB प्रति सेकंड के आसपास थी। अब बाजार में लगभग SATA समाप्त होने के कगार पर है। वही इसकी जगह ज्यादातर लोग NVMe सॉलि़ड स्टेट ड्राइव लेना ज्यादा पसंद करते हैं। इसके बावजूद पुरानी हार्ड डिस्क ड्राइव वाले पीसी या लैपटॉप अभी भी SATA सॉलि़ड स्टेट ड्राइव का इस्तेमाल करके अपने पर्सनल कंप्यूटर या लैपटॉप को अपग्रेड कर सकते हैं।

SSD , बाजार में सभी प्रकार की भंडारण क्षमता के साथ मिलते हैं। जो लगभग 32GB से शुरू होकर के 5TB तक के उपलब्ध है। आप इनका इस्तेमाल कंप्यूटर, मोबाइल, टैबलेट और लैपटॉप में देख सकते हैं। नोटबुक्स में इनका इस्तेमाल सबसे पहले 1 से 4 जीबी सॉलि़ड स्टेट ड्राइव के रूप में किया गया था। जिससे कि ऑपरेटिंग सिस्टम को और अधिक तेज बनाया जा सके। इसके बाद अल्ट्राबुक और डेक्सटॉप जैसे पर्सनल कंप्यूटर में भी सॉलि़ड स्टेट ड्राइव का इस्तेमाल जोरो से शुरू हो गया। आज बाजार में सामान्य तौर पर 250GB और 500GB के बीच में या आपको मिल जाएंगे। जो आपकी विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम और सामान्य कार्यक्रमों के लिए यह स्टोरेज क्षमता काफी है।

mSATA SSDs

SSD का बेहतर प्रदर्शन और रफ्तार

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने इसे खरीदने के लिए कितने पैसे खर्च किए हो। पुराने हार्ड डिस्क किसी भी कंप्यूटर सिस्टम का सबसे धीमा हिस्सा होता है। जो लगभग 600 एमबी की गति देता है। लेकिन वही तो हम इसकी तुलना सॉलि़ड स्टेट ड्राइव (SSD) से करते हैं तो यह काफी धीमा नजर आता है। SSD की गति प्रति सेकंड 20 से 30 गीगाबाइट तक पहुंच जाती है।

वही इसे देखते हुए हम यह कह सकते हैं, NVMe SSD शायद एक नए कंप्यूटर के लिए सबसे अच्छा निवेश है और आपके पर्सनल कंप्यूटर या लैपटॉप को गति और अपग्रेड देने में काफी आगे है। एक गेमिंग पर्सनल कंप्यूटर में अगर आप सॉलि़ड स्टेट ड्राइव का उपयोग करते हैं तो इसमें लगने वाला बूट समय 17 सेकंड का होता है, वहीं सामान्य हार्ड डिस्क ड्राइव पर बूटिंग समय 80 सेकंड का होता है। गेम लोडिंग का समय सॉलि़ड स्टेट ड्राइव हार्ड डिक्स पर 25 सेकंड तो वही पुराने HDDs पर 140 सेकंड, इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि SSD कितना तेज है।

निष्कर्ष

आज के हमारे इस लेख में हमने इस बारे में बताया है कि What is Solid State Drive (SSD)? SSD क्या है? इसके कितने प्रकार होते हैं? सॉलि़ड स्टेट ड्राइव पारंपारिक हार्ड डिस्क ड्राइव की तुलना में कहीं ज्यादा तेज और आपके कंप्यूटर को काफी गति प्रदान करता है। इसमें कोई भी दो राय नहीं है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा? इस पोस्ट से संबंधित अगर आपकी कुछ सवाल एवं सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स पर कमेंट करके बता सकते हैं।


Published on दिसम्बर 14, 2021

About Admin Desk

Admin Desk हम हिंदी भाषा में यहां सरल शब्दों में आपको ज्ञानवर्धक जानकारियां उपलब्ध कराने की कोशिश करते हैं। ज्यादातर जानकारी है इंटरनेट पर अंग्रेजी भाषा में मौजूद है। हमारा उद्देश्य आपको हिंदी भाषा में बेहतर और अच्छी जानकारी उपलब्ध कराना है।