What is the Difference between 5G and 4G? 5G और 4G के बीच क्या अंतर है?

हाल के समय में ही, बहुत सी मोबाइल नेटवर्क कंपनियां अपने नेटवर्क को अपडेट करते हुए 5G की तरफ रुख कर रही है। इसके बारे में आप ने हाल ही में जरूर समाचार एवं अखबार में जरूर पढ़ा होगा। 5G अगली पीढ़ी का एक वायरलेस नेटवर्क है। जो मोबाइल नेटवर्किंग की दुनिया में एक क्रांति ला सकता है। नेटवर्क कंपनियों के बीच में इस तकनीकी को लाने की होड़ सी लगी हुई है। आज के हमारे इस लेख में हम इस बारे में जानकारी देने वाले हैं कि What is the Difference between 5G and 4G? 5G और 4G के बीच क्या अंतर है?

अगर हम मोबाइल नेटवर्क की पीढ़ी की बात करें तो सबसे पहले हम इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए 2G, नेटवर्क का इस्तेमाल करते थे उसके बाद में 3G यानी की तीसरी पीढ़ी के नेटवर्क का इस्तेमाल करना शुरू किया। 3G आने के बाद, भारत जैसे देश में मोबाइल उपभोक्ताओं की बाढ़ सी आ गई। फिर मोबाइल नेटवर्क कंपनियों ने अपने आप को अपग्रेड करते हुए 4G , यानी की चौथी पीढ़ी कि नेटवर्क प्रणाली का इस्तेमाल किया। आज हमें से ज्यादातर लोग अपने फोन में 4G नेटवर्क का इस्तेमाल करते हैं। आने वाले कुछ ही समय में ज्यादातर मोबाइल कंपनियां अपने आप को 5G नेटवर्क पर विस्तार करने वाली है। आज हमारे इस लेख में हम इस बारे में जानकारी लेंगे की What is the Difference between 5G and 4G? 5G और 4G के बीच क्या अंतर है? साथ में, यह भी जानने की कोशिश करेंगे कि इससे हमारे इंटरनेट के इस्तेमाल पर क्या प्रभाव पड़ सकता है?

विभिन्न नेटवर्क का इतिहास Image Credit Synopsys

What is the Difference between 5G and 4G? 5G और 4G के बीच क्या अंतर है?

एक समय था जब लोग अपने स्लो इंटरनेट कनेक्शन के चलते एक काफी परेशान रहते थे। लेकिन लोग 4G नेटवर्क बैंडविथ आने के बाद अपने पसंदीदा गाना सुनने और वीडियो देखने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करने लगे। इससे पहले तक लोग अपने मोबाइल फोन पर अपना पसंदीदा गाना सुनने और वीडियो देखने के लिए मेमोरी कार्ड इस्तेमाल करते थे।

जैसे-जैसे मोबाइल नेटवर्क की बैंडविथ बढ़ती जा रही है और अभी हाल फिलहाल में बहुत से मोबाइल नेटवर्क कंपनियों ने ऐलान कर दिया है कि वे जल्द ही पांचवी पीढ़ी कि नेटवर्क प्रणाली यानी कि 5G को लॉन्च करने वाले हैं। जिससे इंटरनेट की कनेक्टिविटी में और अधिक सुधार होगा।

हम यह उम्मीद कर सकते हैं कि नए साल में हमें 5G भारत में मौजूद सभी मोबाइल सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों द्वारा देखने को मिल जाएगा। आगे बढ़ने से पहले हम यह जान लेते हैं कि मौजूदा 4G और 5G के बीच में क्या अंतर है?

What is 4G ? क्या है 4G?

यहां पर 4G का मतलब है , Fourth Generation यानी की चौथी पीढ़ी। अगर आप शुरुआत से ही मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं तो आपने इस बारे में गौर किया होगा कि इससे पहले हम 2G और 3G नेटवर्क का इस्तेमाल इंटरनेट कनेक्टिविटी के लिए करते थे।

वर्तमान समय में, 4G इंटरनेट कनेक्टिविटी के मामले में सबसे उन्नत मौजूदा तकनीक में से एक में गिनी जाती है। आज देश की सभी टेलीकॉम कंपनी 4G सेवा प्रदान कर रही है जिसके चलते स्मार्टफोन पर कंप्यूटर जैसे कार्यों को करना संभव हो पाया है।

4G एक मोबाइल फोन नेटवर्क तकनीक है जिसे हम चौथी पीढ़ी की तकनीक भी कहते हैं। अपने पूर्वर्ती तकनीक 3G की तुलना में इसका उपयोग डाटा डाउनलोड करने और इंटरनेट एक्सेस करने के लिए किया जाता है। लेकिन जब हम इसकी तुलना 3G से करते हैं तो यहां उससे काफी ज्यादा तेज है। यह ब्रॉडबैंड सेल्यूलर नेटवर्क सेवाएं प्रदान करता है।

अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ ने 4G नेटवर्क के लिए मानक निर्धारित किया है और इसे अंतरराष्ट्रीय मोबाइल दूरसंचार उन्नत (IMT- Advanced) के रूप में दर्शाया गया है। जिसके अंतर्गत 100 एमबीपीएस से अधिक बैंडविथ के साथ सेवा प्रदान करने की क्षमता रखती है। इतने बैंडविथ के साथ आप आसानी से हाई क्वालिटी वाली मल्टीमीडिया सामग्रियों को इंटरनेट पर स्ट्रीम करने में सक्षम होते हैं।

इसका विकास साल 2000 में शुरू हुआ और साल 2010 में LTE और WiMax तकनीक के साथ पूरा हुआ। उसी के लिए एक्सेस सिस्टम 2000 एमबीपीएस से 1gbps की बैंडविथ के साथ सीडीएमए (Code Division Multiple Access) के रूप में आज हमारे मोबाइल फोन में काम कर रही है।

इसका उद्देश्य सुरक्षा में सुधार के साथ उपयोग करता को उच्च गुणवत्ता, उच्च गति और उच्च क्षमता प्रदान करना है। इस नेटवर्क का इस्तेमाल करते हुए किसी भी ip-address को बड़ी तेजी, डाटा सेवाओं, मल्टीमीडिया और इंटरनेट की लागत को भी कम करता है। यह 2G और 3G नेटवर्क के जरिए भी संचार कर सकता है।

What is 5G ? 5G क्या है?

5G यानी कि पांचवी पीढ़ी वायरलेस नेटवर्क की एक तकनीक है। इसे मिली मीटर तरंगों पर बनाया गया है, जो 96 गीगाहर्टज तक 20 गीगा हर्ट से ऊपर की ओर बहुत उच्च आवृत्ति स्पेक्ट्रम का भाग होती है।

फोन की यह पांचवीं पीढ़ी वर्तमान में विकास और सेल्यूलर तकनीकी के नवीनतम पीढ़ी के रूप में जाने जा रही है। अगर इसकी तुलना 4G नेटवर्क प्रणाली से की जाए तो पांचवी पीढ़ी किया है नेटवर्क प्रणाली इससे काफी ज्यादा तेज है। बहुत कम प्रतिक्रिया समय के साथ अधिक विश्वसनीयता से काम करेगी।

इस नेटवर्क प्रणाली में, OFDM (Orthogonal Frequency Division Multiplexing) और मिली मीटर वायरलेस का उपयोग किया गया है। जिसके अंतर्गत यह दावा किया जाता है कि यह 20 Mbps की डेटा दर और 2GHz से 8GHz तक के बीच में फ्रिकवेंसी बैंड का इस्तेमाल कर सकती है। या नेटवर्क प्रणाली एक पैकेट आधारित नेटवर्क प्रणाली होगी।

5G कि नेटवर्क गति 1000mbps से 2.1Gbps तक पहुंच सकती है। इसके लिए इंटरनेट उपभोक्ता उच्च गुणवत्ता वाले वीडियो स्ट्रीमिंग, ज्यादा सटीक स्थान ट्रैकिंग, कम विलंब का संचार और रियल टाइम एनालिटिक्स के लिए बेहतर क्षमता प्राप्त कर सकेंगे।

What is the Difference between 5G and 4G? 5G और 4G के बीच क्या अंतर है?

4G प्रौद्योगिकी (Technology)5G प्रौद्योगिकी (Technology)
यह चौथी पीढ़ी की तकनीक के रूप में जाना जाता है।यह पांचवी पीढ़ी की तकनीकी के लिए है।
4G तकनीक में अधिकतम अपलोड स्पीड 500mbps है।जबकि 5G तकनीक के अंतर्गत अधिकतम अपलोड दर 1.25Gbps है।
4G तकनीकी की अधिकतम डाउनलोड स्पीड 1gbps के आसपास है।5G नेटवर्क में आपको डाउनलोड दर 2.5 Gbps की मिलती है।
4G तकनीक में आपको Latency 50ms मिलती है।जबकि 5G तकनीक में आपको Latency 1ms की मिलती है।
4G CDMA पर काम करती है।5G, OFDM BDMA पर काम करती है।
4G स्थिर और मोबाइल उपकरणों के बीच अंतर नहीं कर सकता है।जबकि 5G के अंतर्गत फिक्स्ड और मोबाइल डिवाइस के बीच अंतर करने की क्षमता होती है। यह प्रत्येक उपकरण की पहचान करने और सबसे उपयुक्त वितरण चैनल प्रदान करने के लिए रेडियो तकनीक का इस्तेमाल करता है।
4G तकनीक के अंतर्गत हाई स्पीड बैंडविथ, ग्लोबल मोबिलिटी के फायदे मिलते हैं।जबकि 5G, तकनीक के अंतर्गत आपको अत्यधिक उच्च गति, Low Latency के फायदे मिलते हैं।
4G का उपयोग उच्च गति अनुप्रयोगों, मोबाइल टीवी, इत्यादि चीजों में किया जाता रहा है।जबकि 5G का उपयोग high-resolution वीडियो स्ट्रीमिंग, वाहनों के रिमोट कंट्रोल, रोबोट और चिकित्सा प्रक्रियाओं के लिए किया जाता रहा है।
4G, 5G की तुलना में धीमा और कम कुशल है।5G, 4G की तुलना में काफी ज्यादा तेज और अत्यधिक कुशल है।