Mayank Agarwal Biography in Hindi – मयंक अग्रवाल भारतीय क्रिकेटर जीवनी

0
407

मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) भारतीय क्रिकेटर है। यह दाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज है। इन्होंने आईपीएल मैच से लेकर के कई सारे टेस्ट क्रिकेट में बहुत ही यादगार पारियां खेली है। खेल को देखते हुए यह साबित हो गया है कि उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम में अपनी प्रबल दावेदारी ही बना ली है। आज के हमारे इस लेख में हम भारतीय क्रिकेटर मयंक अग्रवाल के जीवन के बारे में विस्तृत जानकारी देने वाले हैं। Biography of Mayank Agrawal in Hindi

आज यदि भारतीय क्रिकेट की बात की जाए तो हमेशा हमारे मन में बड़े बड़े नाम सामने आते हैं और जिस तरह आज भारतीय क्रिकेट टीम प्रदर्शन कर रही है। उससे तो यही लगता है कि इन बड़े नामों की लिस्ट और भी लंबी होने जा रही है। इस बात को सभी जानते हैं कि कोई बड़ा खिलाड़ी ऐसा ही नहीं बनता उसे भी कहीं ना कहीं से शुरुआत करनी होती है और उसके बाद ही अपने खेल में इतने माहिर हो जाते हैं कि इनका नाम इतिहास के पन्नों में हमेशा याद रखा जाता है। आज हमारे इस लेख में हम ऐसे उभरते हुए क्रिकेट खिलाड़ी मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) के जीवन के बारे में जानकारी प्रदान कर रहे हैं। Biography of Mayank Agrawal in Hindi, Mayank Agarwal Biography, Mayank Agarwal cricket records

Biography of Mayank Agrawal in Hindi – मयंक अग्रवाल की जीवनी

मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) का जन्म 16 अप्रैल 1991 को कर्नाटका राज्य के बेंगलुरु शहर में हुआ था। मयंक अग्रवाल का पूरा नाम मयंक अनुराग अग्रवाल है। इन्हें प्यार से माया कहकर भी पुकारा जाता है। इनके पिता जी का नाम अनुराग अग्रवाल और माता का नाम सुचित्रा सिंह है। इनके दादा जी का नाम रविंद्र अग्रवाल है।

मयंक की प्रारंभिक शिक्षा बेंगलुरु के बिशप कॉटन बॉयज स्कूल से पूरी हुई है। इसके बाद उन्होंने जैन विश्वविद्यालय में अपने आदि की शिक्षा प्राप्त की। मयंक अग्रवाल के दादा के भाई सुशील अग्रवाल ने एक इंटरव्यू में बताते हुए यह कहा है कि “मयंक को बचपन से ही क्रिकेट का शौक था पर करीब बार मयंक को मायूसी हाथ लगी, लेकिन उसने कभी हार नहीं मानी” और खुद को साबित करके दिखाया। मयंक कहता था “मैं अपने बलबूते कामयाब होंगा, बस मेरा समय आने दो”। वे बताते हैं कि जब भी मयंक सहारनपुर आता था तो बच्चों के साथ क्रिकेट खेलना काफी पसंद करता था। सहारनपुर से मयंक को काफी लगाव है। Mayank Agarwal biography in Hindi

मयंक अग्रवाल को क्रिकेट खेलने के अलावा म्यूजिक और डांस का भी काफी शौक है। मयंक हमेशा से पढ़ाई में एक सामान्य स्तर के स्टूडेंट रहे हैं।क्रिकेट को समय देने के कारण वह अपनी पढ़ाई पर ज्यादा फोकस नहीं कर पाते थे लेकिन उनका व्यवहार हमेशा पॉजिटिव रहा है।

खेल जीवन – Sport’s Career of Mayank Agarwal

साल 2008-09, में आयोजित हुए कूच बिहार ट्रॉफी under 19 में उन्होंने दमदार परफॉर्मेंस दिया था जिसके बाद वे सुर्खियों में आ गए। इसके बाद साल 2010 में अंडर-19 वर्ल्ड कप खेलने का अवसर भी इन्हें मिला। इस प्रतियोगिता में वह भारत की ओर से सूरत इसको बनाने वाले खिलाड़ी बने थे। साल 2010 में कर्नाटका प्रीमीयर लीग में अपने बढ़िया प्रदर्शन के फल शुरू हुआ Man of the series घोषित हुए थे। इस मैच में उन्होंने 1 शतक भी लगाया था।

मयंक अग्रवाल Domestic Cricket “कर्नाटका राज्य” की ओर से खेलते हैं। इसके अलावा वह भारत की मशहूर IPL (Indian Premier League) में भी बहुत सारी टीमों के साथ खेल चुके हैं इन्होंने अपनी आई पी एल कैरियर की शुरुआत 2011 में किया था। सबसे पहले ये रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (2011 से 2013) के बीच खेले, इसके बाद इन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स (2014 से 2016), राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स (साल 2017) और किंग्स इलेवन पंजाब (2018 से वर्तमान समय तक) की तरफ से खेले हैं। Mayank Agarwal biography in Hindi

इस कुशल खिलाड़ी को वर्ष 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय टेस्ट टीम में भी जगह दी गई थी। लेकिन इन्हें मैच खेलने का मौका नहीं मिला। इसके बाद उसी साल उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलने का मौका मिला, जब पृथ्वी शो को चोट के कारण टीम से बाहर जाना पड़ा था। इस तरह 26 दिसंबर 2018 के दिन मयंक अग्रवाल का टेस्ट मैच में क्रिकेट डेब्यू हुआ था। मयंक नेम एल्बम के स्टेडियम में अपनी पहली पारी में 76 रन बनाए,यह डेब्यु मैच में किसी भारतीय बल्लेबाज का सबसे बड़ा स्कोर रहा था। इससे पहले भारत की तरफ से दद्दू फाड़कर ने डेब्यू में 51 रन बनाए थे।

साल 2019 में मयंक अग्रवाल का नाम वर्ल्ड कप के लिए चुने गए भारतीय खिलाड़ियों में भी जोड़ा गया था। उन्हें विजय शंकर के बदले टीम में शामिल किया गया था। जो चोटिल होने के कारण टीम से बाहर हो गए थे। साल 2019 में इस कुशल खिलाड़ी ने अपनी पहली टेस्ट सेंचुरी मारी थी। या मैच साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला गया था।साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलते हुए मयंक अग्रवाल ने बैक टू बैक 2 शतक लगाए थे और इसके साथ ही वह दूसरे भारतीय खिलाड़ी बन गए, इनसे पहले यह कार्य केवल भारत के वीरेंद्र सहवाग ने किया है।

मयंक अग्रवाल ने अपने आठवें मैच में अपनी दूसरी डबल सेंचुरी लगाई। यह मैच इंदौर में खेला गया था और भारत के सामने बांग्लादेश की टीम थी। इस मैच में उन्होंने अपना सर्वाधिक स्कोर 243 रन बनाया, जिसके लिए उन्होंने 330 गेंद खेली।इस तरह व ऑस्ट्रेलिया के लेजेंड बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन का रिकॉर्ड तोड़ विश्व के दूसरे ऐसे खिलाड़ी बने जिन्होंने यह उपलब्धि हासिल की है।

आने वाले समय में शिखर धवन की चोट के चलते उन्हें फिर से एक बार भारत की एक दिवसीय टीम में जगह मिली, इस बार वेस्टइंडीज टीम प्रतिद्वंदी थी।इस बार मयंक अग्रवाल को अपना वनडे क्रिकेट मैच डेब्यू करने का मौका मिला। 5 फरवरी 2020 के दिन उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने वनडे क्रिकेट मैच का डेब्यू खेला था। इस वनडे सीरीज में भारत को 0-3 से करारी हार हुई थी।

मयंक अग्रवाल से जुड़ी खास बातें – Interesting facts about Mayank Agarwal

  • मयंक अग्रवाल सचिन तेंदुलकर के बहुत बड़े फैन हैं और उन्हें अपना रोल मॉडल भी मानते हैं।इस चलते मयंक ने अपने घर में सचिन तेंदुलकर की मूर्ति लगाई है। और उन्हें यह बात भी स्वीकार की है कि यही वजह है कि उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू किया।
  • मयंक ने अपने पहले टेस्ट मैच में 76 रन की पारी खेली। इसके अलावा वह दिसंबर 2018 को ऑस्ट्रेलियाई मैदान पर पदार्पण टेस्ट में सबसे अधिक रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए।
  • साल 2017 -2018 रणजी ट्रॉफी में उन्होंने कर्नाटका राज्य के लिए महाराष्ट्र के खिलाफ 304 रन बनाए. जो अपने आप में एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है। ऐसा करने वाले व डॉनल्ड ब्रैडमैन के बाद दूसरे खिलाड़ी हैं।
  • रणजी ट्रॉफी साल 2017 से 2018 में शीर्ष बल्लेबाज थे और उन्होंने 1160 रन बनाकर के सत्र का समापन किया था।
  • उसी साल विजय हजारे ट्रॉफी में भी उन्होंने सर्वाधिक रन बनाए। उन्होंने आठ मैचों में 723 रन बनाए।
  • उन्होंने 26 दिसंबर 2018 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत के लिए अपना टेस्ट डेब्यू मैच खेला था।
  • अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मैच में उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 5 फरवरी 2020 को डेब्यू किया था।

मयंक अग्रवाल का निजी जीवन – Personal Life of Mayank Agarwal

मयंक अग्रवाल की पत्नी का नाम आशिता सूद है।वाह बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर परवीन सूद की बेटी है। यह दंपति वर्तमान समय में बेंगलुरु, कर्नाटका में ही रहता है।

मयंक अग्रवाल को मिले पुरस्कार एवं सम्मान – Awards and Achievement

  1. साल 2010 – ICC U-19 वर्ल्ड कप सर्वाधिक रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ी बने।
  2. साल 2010 में, कर्नाटका प्रीमीयर लीग “मैन ऑफ द सीरीज”
  3. साल 2011 – इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु की तरफ से डेब्यू किया।
  4. साल 2017-2018 में इंडियन डॉमेस्टिक सीजन में 2141 रन बनाकर के रिकॉर्ड कायम किया।
  5. साल 2018 माधव राव सिंधिया अवार्ड-रणजी ट्रॉफी में सर्वाधिक रन बनाने के लिए यह अवार्ड बीसीसीआई द्वारा दिया जाता है।
  6. साल 2018 में, विजय हजारे ट्रॉफी से अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बने।
  7. साल 2019 -ICC WORLD CUP कि भारतीय टीम में शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here