What is index in Hindi – सूचकांक क्या होता है?

0
466

अगर आप शेयर बाजार में दिलचस्पी रखते हैं तो आपने कई बार लोगों के मुंह से Index या सूचकांक के बारे में तो जरूर सुना होगा। सूचकांक किसे कहते हैं? सूचकांक शेयर बाजार में हमें क्या दर्शाता है? सूचकांक कैसे गिनते हैं और इनका क्या महत्व होता है? What is index in Hindi

इन सारे सवालों का जवाब हम आज अपने इस पोस्ट में देना चाह रहे हैं। हम आपको इन सारी चीजों के बारे में यहां पर जानकारी उपलब्ध कराएंगे।

Share market जैसे कि शेयर बाजार BSE और NSE पर अक्सर सूचकांक के बारे में आपने बात करते हुए लोगों को जरूर सुना होगा? आखिर सूचकांक क्या है? यह किसी भी शेयर बाजार को किस तरह से प्रभावित करता है? ऐसे ही सारे सवालों के जवाब आज हम यहां पर देने वाले हैं।

What is index in Hindi

Index – सूचकांक क्या होता है?

Index या सूचकांक संख्या या डाटा के समूह में होने वाले परिवर्तन को गिनना और उन्हें संग्रह करने की एक संख्यिकी पद्धति है। यह डाटा किसी भी स्रोत से प्राप्त किए जा सकते हैं। आप डाटा को जानकारी भी कह सकते हैं।

हमारे इस संदर्भ में सूचकांक ज्यादातर शेयर बाजार में इस्तेमाल की जाने वाली शब्दावली के रूप में जानी जाती है। इसके अलावा बड़ी-बड़ी कंपनियों के प्रदर्शन के आंकड़े, मूल्यों में होने वाले उतार-चढ़ाव, उत्पादन और रोजगार के आंकड़े भी किसी ना किसी रूप से सूचकांक को निरूपित करती है।

लेकिन हम अपने संदर्भ में शेयर बाजार से संबंधित सूचकांक या Index के बारे में बात कर रहे हैं। इस चलते Index एवं शेयरों के समूह की कीमतों के बदलाव को track करने की पद्धति को हम सूचकांक के जरिए गणना करते हैं।ऐसा इसलिए क्योंकि शेयरों की कीमतों के आधार पर बाजार या किसी उद्योग के शेयर की कीमतों के प्रदर्शन को नापने के मानक को सूचकांक या Index कहते हैं। What is index in Hindi

सूचकांक कितने तरीके के होते हैं? – Types of Index

शेयर बाजारों में होने वाले तेजी हमारी अर्थव्यवस्था को भी प्रभावित करते हैं। इस चलते शेयर बाजार पर लोगों की पैनी नजर होती है। Sensex और Nifty जैसे शेयर बाजारों के सूचकांक आर्थिक रूझानो का मूल्यांकन और बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव की भविष्यवाणी करने के लिए देश की कई शक्तिशाली कंपनियों के प्रदर्शन को निगरानी रखने के लिए इन सूचकांक का इस्तेमाल किया जाता है।

अगर आप यह क्या है कि भारत में शेयर बाजारों से संबंधित अगर कोई सूचकांक है तो वह Sensex और Nifty को मुख्य तौर पर देखा जाता है। इसी तरह अगर आप उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के बारे में बात करते हो तो यह उपभोक्ता वस्तुओं को track करता है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक वेतन,ब्याज दरों और मुद्रास्फीति के लिए की जाने वाली गणनाओं का अभिन्न अंग है।

शेयर बाजार में सूचकांक के प्रकार – Types of Index in share market

सूचकांक की सहायता से शेयर बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव पर हम निगरानी रख पाते हैं। सूचकांक के विश्लेषण के आधार पर ही हम या पता लगा पाते हैं कि शेयर मार्केट पर मंदी या तेजी चल रही है। इससे अगर हम शेयर बाजार सूचकांक के प्रकार की बारे में बात करते हैं तो यह दो तरह की होती है:-

  1. SENSEX
  2. NIFTY

यह सूचकांक पूरे बाजार का प्रतिनिधित्व करती है। जैसे कि हमने ऊपर Sensex जोकि 30 शेयरों का और Nifty 50 शेयरों का या किसी उद्योग का प्रतिनिधित्व भी कर सकते हैं। जैसे कि Bank index, Auto index इत्यादि।

किसी खास उद्योग के शेयरों के सूचकांक को औद्योगिक सूचकांक या sectoral Index कहा जाता है। इसके अंतर्गत किसी विशेष उद्योग या किसी विशेष क्षेत्र में संबंधित रखने वाले कंपनियों के शेयर के प्रदर्शन की गणना की जाती है।

सूचकांक का क्या महत्व है? – Importance of Index

किसी भी क्षेत्र में सूचकांक उस क्षेत्र से संबंधित उद्योग या कार्यों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराती है। देखा जाए तो सूचकांक एक बेंच मार्क के रूप में कार्य करते हैं।

शेयर मार्केट में सूचकांक शेयर बाजार में होने वाले हलचल, कंपनी या किसी खास उद्योग में होने वाली उतार-चढ़ाव के बारे में जानकारी देने की क्षमता रखता है। किसी खास उद्योग में अगर मंदी चल रही है तो यह इसके बारे में आपको बताता है। इसके विशेषण से आप या पता लगा सकते हैं कि किस प्रकार के portfolio पर आपको कितना रिटर्न मिलने की संभावना है।

Index fund किसी भी इंटेक्स के शेयरों में निवेश कर उस इंडेक्स जैसा ही रिटर्न देने की कोशिश करते हैं। हर इंटेक्स को गिरने का अपना तरीका होता है। जिसे हम हमारे अन्य पोस्ट में बताएंगे। What is index in Hindi

इसके अलावा जैसा कि हमने ऊपर जिक्र किया है कि आप सूचकांक या इंडेक्स के विश्लेषण की सहायता से देश में होने वाली आर्थिक मंदी, बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव, कौन से औद्योगिक क्षेत्र बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं इन सारी चीजों के बारे में जानकारी एकत्रित कर सकते हैं।

Index या या सूचकांक एक समय विशेष में बाजार की दिशा को बताता है। इंटेक्स के आधार पर देश की अर्थव्यवस्था का भी अनुमान आप लगा सकते हैं। ऊपर चल रहा इंडेक्स बताता है कि लोग भविष्य बेहतर होने की उम्मीद कर रहे हैं। जब stock market, का सूचकांक नीचे गिरता है तो यह माना जाता है कि लोग भविष्य को लेकर के उत्साहित नहीं है।

सूचकांक का उपयोग क्या है? – Practical use of Index

सूचकांक का इस्तेमाल आप विभिन्न गणना के लिए अपने स्तर पर कर सकते हैं। या आप किसी खास क्षेत्र पर अध्ययन के लिए इनका विश्लेषण कर सकते हैं। लेकिन शेयर बाजार के क्षेत्र में आप सूचकांक का विश्लेषण करके निम्नलिखित चीजों का अध्ययन कर सकते हैं।

सूचना (Information)

जैसा कि आपने ऊपर इस बारे में जिक्र किया है कि सूचकांक का अध्ययन करके आप शेयर बाजार में होने वाले हलचल यानी कि उतार एवं चढ़ाव के बारे में अध्ययन कर सकते हैं।

वही हमारी अर्थव्यवस्था पर लोगों का रुझान किस और है।यानी कि हमारी अर्थव्यवस्था तेजी या मंदी से गुजर रही है इस बारे में भी आप जानकारी एकत्रित कर सकते हैं।

आप किसी खास तिथि के अंतराल या पूरे वर्ष में शेयर बाजार की स्थिति कैसी रही? इस बारे में भी जानकारी आसानी से ले सकते हैं। चलिए एक उदाहरण के जरिए हम यह समझते हैं:-

मान लीजिए कि आपको यह जानना है कि कोरोना महामारी आने से पहले यानी कि 1 जनवरी 2020 को Nifty सूचकांक 7301 पर था और कोरोना महामारी के बीच में यानी कि 1 जून 2020 को Nifty इंडेक्स गिर कर के 6332 पर आ गिरा। इसका यह मतलब है कि कुल 969 अंको की Nifty पर गिरावट दर्ज की गई है जोकि प्रतिशत में 13.27% की गिरावट होगी। इस आंकड़े से आप यह साफ अंदाजा लगा सकते हैं कि कोरोना महामारी के दौरान हमारे उद्योगों पर काफी ज्यादा असर पढ़ा है और जिसके चलते शेयर की कीमतें भी गिरी है।

बेंच मार्क के लिए Benchmarking for Share market

अगर आप शेयर मार्केट में दिलचस्पी रखते हैं, या फिर आप शेयर पर निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं? तो शेयर मार्केट के सूचकांक का विश्लेषण करके आप यह अंदाजा लगा सकते हैं कि आपको इसमें कितना मुनाफा या घाटा होने वाला है।

मान लीजिए कि आपने ₹50000 शेयर बाजार पर निवेश किए और इस पर आप ₹10000 का मुनाफा कमाना चाहते हैं। 20% की दर से आपको शेयर बाजार में रिटर्न मिला है, लेकिन आप यह देखते हैं कि शेयर बाजार में सूचकांक जैसे कि Nifty 6000 से 7800 पर आ गया है यानी कि आपको 30% रिटर्न अधिक मिलता है।

इस तरह से आप सूचकांक का विश्लेषण करके यह अंदाजा लगा सकते हैं कि आपको शेयर मार्केट में कितना मुनाफा या घाटा होने वाला है। अगर आप विश्लेषण नहीं करते हैं तो आप यह अंदाजा नहीं लगा पाओगे कि आपने शेयर मार्केट में कितना पैसा कमाया है। What is index in Hindi

निष्कर्ष

दोस्तों हम यह उम्मीद करते हैं कि आपको आज के हमारे इस लेख से जरूर कुछ नया सीखने को मिला होगा। हमने आज अपने इस लेख में आप लोगों को यह जानकारी देने की कोशिश की है कि सूचकांक या Index क्या होता है? What is index in Hindi

इसका हमारी अर्थव्यवस्था एवं शेयर बाजार पर क्या-क्या प्रभाव होता है? हम सूचकांक की गणना एवं उसका विश्लेषण करके अर्थव्यवस्था में होने वाले उतार-चढ़ाव या तेजी या मंदी के बारे में भी पता लगा सकते हैं। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई है तो आप इसे सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं। इससे संबंधित अगर आपकी कुछ सवाल है तो आप हमें कमेंट बॉक्स पर कमेंट करके बता सकते हैं।

Leave a Reply