What is Metabolism? – मेटाबॉलिज्म क्या है?

हम अक्सर यह बात सुनते आ रहे हैं कि मेटाबॉलिज्म (Metabolism) हमारे शारीरिक क्रियाओं में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। मेटाबॉलिज्म आपके शरीर के अंदर होने वाली अनगिनत रासायनिक प्रतिक्रियाओं को संदर्भित करता है। यह आप को जीवित रखने के लिए आवश्यक है। किसी भी जीवित जीव मे जैविक प्रतिक्रिया जोशी की, पाचन, प्रजनन, गति, और सांस लेना जैसी सभी क्रियाएं मेटाबॉलिज्म (Metabolism) का हिस्सा ही है। आज के हमारे इस लेख में हम इस बारे में जानकारी लेंगे की What is Metabolism? – मेटाबॉलिज्म क्या है? इसके साथ ही हम इस बारे में भी जानकारी लेंगे कि हम अपने शरीर में मेटाबॉलिज्म कैसे बढ़ा सकते हैं?

हमारे शरीर में मेटाबॉलिज्म की क्रियाओं के लिए बहुत अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है। हालांकि, आपके शरीर में एनर्जी चालू रूप से चलाने के लिए इतनी ऊर्जा प्राप्त करने के लिए बहुत अधिक समय लगता है।

हमारे शरीर में एंजाइम्स नामक इन प्रतिक्रियाओं के लिए एक चीट कोड होते हैं। यह छोटे अनु इन जैविक रसायनिक प्रतिक्रियाओं को कितनी ऊर्जा की आवश्यकता है इससे कम करने का काम करते हैं। जिस से भी तेजी से आगे बढ़ते हैं। आगे बढ़ने से पहले चली हम यह जान लेते हैं कि What is Metabolism? – मेटाबॉलिज्म क्या है?

What is Metabolism? – मेटाबॉलिज्म क्या है?

मेटाबॉलिज्म (Metabolism) जिसे हिंदी में उपापचय भी कहते हैं। यह हमारे शरीर में होने वाली वह प्रक्रिया है जो शरीर के खानपान को ऊर्जा में बदलने का काम करती है। यह हमारे शरीर में होने वाले एक रासायनिक प्रक्रिया होता है। मेटाबॉलिज्म शरीर की कोशिकाओं में होने वाले रासायनिक प्रतिक्रिया है, जो भोजन को ऊर्जा में बदलती है।

यहां तक कि जब आप आराम कर रहे होते हैं या फिर सो रहे होते हैं, तब भी यह हमारे शरीर को अपने सभी कार्यों के लिए ऊर्जा की आवश्यकता की पूर्ति करता है। जैसे कि सांस लेना, रक्त संचार करना, हार्मोन के स्तर को बनाए रखना और कोशिकाओं को बढ़ाना और उनकी मरम्मत करना।

इन बुनियादी कार्यों को करने के लिए हमारे शरीर के जरिए इस्तेमाल की जाने वाली कैलोरी की संख्या को ही मेटाबॉलिज्म कहा जाता है।

What are the Types of Metabolic Processes? हमारे शरीर में मेटाबॉलिक प्रक्रियाओं के प्रकार

हमारे शरीर में दो तरह की मेटाबॉलिक प्रक्रियाएं होती है। जोकि निम्नलिखित है।

  • Anabolism – उपाचय
  • Catabolism – अपचय

What is Anabolism? उपाचय क्या है?

हमारे शरीर में अनाबॉलिज्म वह प्रतिक्रिया है जोकि मेटाबॉलिज्म में कोशिकाओं के निर्माण में सहायता करती है। प्रक्रिया के दौरान हमारे शरीर को ऊर्जा की पूर्ति होती है।

अनाबॉलिक प्रतिक्रिया हमारे शरीर में बायोमोलीक्यूलिस बनाते हैं जिन से हमारे शरीर को कार्य करने के लिए आवश्यक ऊर्जा की पूर्ति होती है। हमारा शरीर ऊर्जा को स्टोर करने के लिए भी इन बायो मॉलिक्यूल का इस्तेमाल करता है। अनाबॉलिक प्रतिक्रिया का एक बड़ा उदाहरण है कि यह हमारे शरीर के अंदर स्टोरेज के रूप में ग्लूकोज से ग्लाइकोजन बनाने का काम करता है। जिसे हमारा शरीर ऊर्जा के रूप में बाद में इस्तेमाल करता है।

What is Catabolism? अपचय क्या है?

कैटाबॉलिज्म हमारे शरीर में होने वाली जटिल यौगिक क्रियाओं को छोटी इकाइयों में जोड़ता है। जिसे हम एक उदाहरण के जरिए समझ सकते हैं। जैसे कि – आपको भोजन से मिलने वाला बड़ा प्रोटीन छोटे अमीनो एसिड में विभाजित हो जाता है।

कैटाबॉलिक प्रक्रिया है अक्सर ऊर्जा विमोचन करती है, जिसका मतलब यही कि टूटने से आपको ऊर्जा मिलती है।

Why is Metabolism Important? – हमारे शरीर में मेटाबॉलिज्म क्यों जरूरी है?

जैसा कि हम पहले ही इस बारे में जिक्र कर चुके हैं कि मेटाबॉलिज्म हमारे शरीर में बहुत सी रसायनिक प्रतिक्रियाओं को करती है। इसीलिए किसी भी जीवित जीव के लिए मेटाबॉलिज्म एक अनिवार्य हिस्सा है। मेटाबॉलिज्म हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरूरी है। क्योंकि –

  1. यह हमारे शरीर में भोजन को तोड़ कर के उसे उर्जा में बदलती है।
  2. यहां विभिन्न योगिक को तोड़कर के ऊर्जा मुक्त करता है।
  3. यह हमारे शरीर में एनर्जी या ऊर्जा को स्टोरेज करके रखता है।
  4. यहां हमारे शरीर में आवश्यक कोशिका और अणुओं का उत्पादन करता है।
  5. यह हमारे शरीर से अपशिष्ट पदार्थ को बाहर निकालने का काम भी करता है।

मेटाबॉलिज्म हमारे शरीर में भोजन को तोड़कर के उर्जा में बदलती है :- किसी भी विधि जीव द्वारा खाए जाने वाले सभी पदार्थ जैसे कि रोटी, चिकन इत्यादि। मेटाबॉलिज्म के माध्यम से ही टूट कर के ऊर्जा का निर्माण करती है। यह आपके पाचन तंत्र में शुरू होता है। एंजाइम्स इन जटिल खाद्य पदार्थों को इकाइयों में तोड़ देते हैं। इसका मतलब यह है कि जटिल प्रोटीन अमीनो एसिड उत्पन्न करते हैं और कार्बोहाइड्रेट ग्लूकोज मे बदल जाते हैं, और लिपिड सरल वसा बनाते हैं। हमारा शरीर इन छोटी इकाइयों को अवशोषित करके रक्त के जरिए आपके लीवर और दूसरे उत्तक तक पहुंचता है और एनर्जी या ऊर्जा आपके शरीर को मिलती है।

मेटाबॉलिज्म के माध्यम से आपको ऊर्जा मिलती है :- भोजन को पचाने से आपको जितनी सरल खाद्य इकाइयां मिलती है, उसे उर्जा उत्पन्न करने के लिए आगे की प्रक्रिया की आवश्यकता होती है। आपके शरीर में मौजूद भोजन के पूर्ण विघटन के बाद पानी और कार्बन डाइऑक्साइड गैस बनता है।

वह आपके शरीर की ऊर्जा मुद्रा – ATP का भी उत्पादन करते हैं, जो मूल रुप से आपके शरीर की हर चीज को संचालित करने के लिए आवश्यक होती है।

मेटाबॉलिज्म आपके शरीर में ऊर्जा का भंडारण भी करता है :- मेटाबॉलिज्म आपके शरीर में अधिक ऊर्जा के साथ उसे भंडारण करने का काम भी करती है। आपका शरीर अतिरिक्त कैलोरी को ग्लाइकोजन या वसा के रूप में संग्रहित करता है। इस प्रक्रिया को करने के लिए अनाबॉलिक और कैटाबॉलिक प्रक्रिया आपके शरीर में होती है। समय आने पर इन्हीं भंडारण ऊर्जा का इस्तेमाल आपका शरीर करता है।

यह आपके शरीर में कोशिकाओं और अणुओं के विकास में भी मददगार है :- आपके शरीर को सही ढंग से कार्य करने के लिए कई अन्य प्रतिक्रियाओं के साथ-साथ कोशिकाओं के विकास में भी मेटाबॉलिज्म महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आपके शरीर को आवश्यक कुछ महत्वपूर्ण अनु जैसे न्यूक्लिक एसिड, हार्मोन और एंजाइम बनाने में मदद करती है।

मेटाबॉलिज्म आपके शरीर से अपशिष्ट पदार्थ को दूर करने में मदद करता है :- आपके शरीर में कई प्रतिक्रियाएं होती है जिससे कि अपशिष्ट पदार्थ बनता है। जो आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है अगर वह लंबे समय तक आपके शरीर में रहे तो। लेकिन इन विषाक्त पदार्थों को निकालने के लिए आपके शरीर में मेटाबॉलिज्म की प्रक्रियाएं होती है।

उदाहरण के लिए – अमीनो एसिड के टूटने पर अमोनिया नामक एक विषैला पदार्थ बनता है, इसलिए आपका शरीर इसे यूरिया में बदल देता है तो जो काफी कम जरीला पदार्थ होता है। आपके शरीर में मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया ऐसे ही और भी जहरीले पदार्थों को कम विषाक्त पदार्थ में बदलने का काम भी करती है।

What is Metabolism Rate? – मेटाबॉलिज्म दर क्या है?

मेटाबॉलिज्म रेट से क्या मतलब है कि आपके शरीर द्वारा मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया कितनी दर हो रही है। अगर आपके शरीर में मेटाबॉलिज्म रेट अधिक होगा तो आपके अंदर एनर्जी भी ज्यादा होगी। इस वजह से आपको भूख भी ज्यादा लगेगी और आप मोटापे का शिकार भी नहीं होंगे।

वहीं अगर आपके शरीर की मेटाबॉलिज्म रेट अगर कम है तो आपको भूख भी कम लगेगी और आप सुस्त महसूस करेंगे। इस वजह से आपको मोटापे का शिकार भी हो सकते हैं। दूसरे एवं साधारण शब्दों में कहें तो मेटाबॉलिक रेट से तात्पर्य है कि आप एक निर्दिष्ट अवधि के भीतर कितनी ऊर्जा का उपयोग कर रहे हैं।

How do You Increase Your Metabolism? आप अपना मेटाबॉलिज्म कैसे बढ़ा सकते हैं?

अगर आपके शरीर में मेटाबॉलिज्म का संतुलन सही नहीं है तो यह आपके शरीर को प्रभावित कर सकता है। जब आपका मेटाबॉलिक रेट बढ़ जाता है तो आप ज्यादा कैलोरी का इस्तेमाल करते हैं और आप मोटापे से दूर रहते हैं।

वहीं दूसरी तरफ अगर आपका मेटाबॉलिक रेट धीमा है तो आप स्वस्थ महसूस करेंगे और आपका वजन भी बढ़ सकता है। यहां तक कि अगर मेटाबॉलिक रेट अगर आपका काम है तो आपको भूख भी कम लगती है। अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या आप अपना मेटाबॉलिज्म कैसे बढ़ा सकते हैं? अपना मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए आपने भी लिखित उपाय कर सकते हैं।

  • आप रोजाना व्यायाम कर सकते हैं।
  • अपने भोजन में अधिक से अधिक प्रोटीन खाएं।
  • आप नियमित रूप से ठंडा पानी पी सकते हैं।
  • आपको भरपूर नींद लेने की आवश्यकता है।
  • अपने मसल्स और मांसपेशियों का निर्माण करें।

हमने ऊपर कुछ तरीके बताए हैं जिनकी मदद से आप अपना मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ा सकते हैं। अगर आप नियमित व्यायाम करते हैं तो आपके शरीर में हलचल होती है जिससे आपके शरीर को अधिक कैलोरी की आवश्यकता होती है। नियमित व्यायाम आपके शरीर के मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ाने में काफी मददगार साबित होता है।

अगर आप अधिक मात्रा में प्रोटीन अपने आहार के रूप में लेते हैं। तो प्रोटीन को तोड़ने के लिए आपके शरीर को अधिक ऊर्जा लगती है। इससे भी आप अपना शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ा सकते हैं।

अब ज्यादा से ज्यादा कोशिश करें कि आप ठंडा पानी यानी शीतल ना कि फ्रिज का हो, का इस्तेमाल करें। यह आपके कैलोरी को कम करने में काफी मदद करता है। इसके अलावा आपका शरीर आपके आंतरिक तापमान को पूरा करने के लिए ठंडे पानी को गर्म करने के लिए अधिक ऊर्जा का इस्तेमाल करेगा।

मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ाने के लिए आपको भरपूर नींद पर लेना भी बेहद जरूरी है। नींद की कमी आपके मेटाबॉलिज्म को बुरी तरह प्रभावित करता है। इसलिए भरपूर नींद लेना चाहिए। या मधुमेह जैसी अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से भी जुड़ा हुआ है। अपना मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ाने के लिए आपको रोजाना 7 से 9 घंटे तक नींद लेने की आवश्यकता है।

निष्कर्ष

आज के हमारे इस लेख में हमने आप सभी लोगों को इस बारे में जानकारी उपलब्ध कराई है कि What is Metabolism? – मेटाबॉलिज्म क्या है? और आप अपने शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट कैसे बढ़ा सकते हैं? इस बारे में भी हमने अपने इस लेख में चर्चा किया है।

मेटाबॉलिज्म, आपका शरीर आंतरिक प्रतिक्रियाओं को करने में काफी मददगार होता है। यह आपके शरीर के विभिन्न प्रक्रिया जैसे कि पाचन, सांस लेना, उत्सर्जन, विसरण, इत्यादि प्रतिक्रियाओं में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। यदि आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट काफी कम है तो आपका शरीर कम कैलोरी का उपयोग करता है। जिससे कि आप मोटापे का शिकार हो सकते हैं। आप अपना मेटाबॉलिज्म रेट व्यायाम करके, बेहतर नींद ले कर के, ठंडा पानी पीकर और अपने भोजन में प्रोटीन की मात्रा बढ़ाकर के आप अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं।

दोस्तों, आज के हमारे इस लेख में बस इतना ही, इससे संबंधित अगर आपके कुछ सवाल एवं सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया तो आप अपने दोस्तों के साथ में इसे शेयर करना मत भूलिए।