Where to invest Investment – हमें निवेश कहां करना चाहिए?

Where to invest Investment – हमें निवेश कहां करना चाहिए? हमें से ज्यादा लोग अपना तमाम उम्र या सोचने में बिता देते हैं कि हमें अपने पैसे कहां पर निवेश करना चाहिए। यही सोचते-सोचते वे सही जगह निवेश करना भूल जाते हैं। भविष्य में अच्छा खासा लाभ अर्जित करने के लिए हमें अपने पैसों को सही जगह पर निवेश करना अति आवश्यक है। आज के हमारे इस लेख में हम यह जानेंगे कि आप ऐसी कौन-कौन से क्षेत्र है जहां पर अपने पैसों को निवेश कर सकते हैं। अच्छा खासा लाभ भविष्य में कमा सकते हैं।

Where to invest Investment – हमें निवेश कहां करना चाहिए?

निवेश (Investment) एक ऐसा तरीका है, जिसकी मदद से आप भविष्य में अच्छा खासा धन अर्जित कर सकते हैं। निवेश करने यानी पैसे लगाने से पहले, हमें अपने जोखिम क्षमता के अनुसार यह तय करना होता है कि कौन सा निवेश का विकल्प हमारे लिए ज्यादा लाभदायक सिद्ध होगा।

अंग्रेजी में एक कहावत भी है, “No Risk No Gain” यानी कि अगर आप बहुत समय अपने लाभ के लिए जोखिम नहीं उठाते तो आप बड़ी सफलता या लाभ प्राप्त नहीं कर सकते है। बिना जोखिम उठाए आप को लाभ नहीं मिलेगा। एक तरह से देखा जाए तो निवेश पर लाभ की संभावना ज्यादा होती है वही जोखिम भी ज्यादा होता है, और जहां जोखिम होता है वहां लाभ भी कम होता है।

निवेश कहां करें? यह एक ऐसा सवाल है जिसे करने से पहले आप तो निवेश संबंधी जोखिमों के बारे में सही से पता होना अति आवश्यक है।

अगर हम यह तय कर लेते हैं कि हमारा किया गया निवेश के पीछे का कारण क्या है? हम किस लिए निवेश करना चाहते हैं? यानी निवेश से हमको कितना लाभ कमाना है साथी इस निवेश में हमें कितना जोखिम उठाना पड़ सकता है?

अगर हम यह सारे सवालों का जवाब सही सही दे पाते हैं तो हम सबसे बेहतर निवेश के विकल्प का चुनाव कर पाने में सक्षम होते हैं। जो हमारे लिए सुरक्षित भी हो और उस निवेश से हमें अधिक से अधिक लाभ मिल सके।

इसीलिए किसी भी निवेश के निर्णय से पहले निवेश करने का प्रमुख कारण जरूर पता करें ताकि आप एक बेहतर ढंग से निवेश कर सके।

निवेश करने के लिए कौन-कौन से विकल्प मौजूद हैं?

निवेश के विकल्प के रूप में आपके सामने दोनों ही तरह के निवेश के विकल्प मौजूद होते हैं। पहला सुरक्षित विकल्प और दूसरा जोखिम भरी विकल्प। हम दोनों ही तरह के विकल्पों के बारे में यहां बात करने वाले हैं।

निवेश के लिए सुरक्षित विकल्प – इसके अंतर्गत ऐसे विकल्प आते हैं, जिन पर निवेश करके आप कम जोखिम में अच्छा खासा लाभ कमाते हो। इसके कुछ उदाहरण निम्नलिखित है

  1. कर्मचारी भविष्य निधि – Public Provident Fund (PPF)
  2. न्यू पेंशन स्कीम – New Pension Scheme (NPS)
  3. Investment in gold – सोने में निवेश करना
  4. रियल स्टेट में निवेश करना – Investment in Real Estate
  5. Debt fund पर निवेश करना – Investment in Debt Fund
  6. Investment in Mutual fund – म्यूच्यूअल फंड पर निवेश करना
  7. शेयर मार्केट पर निवेश करना – Investment in Stock market

Investment in Public Provident Fund – कर्मचारी भविष्य निधि पर निवेश करना

कर्मचारी भविष्य निधि सरकारी एवं निजी क्षेत्र में कार्यरत सभी कर्मचारियों के लिए बचत का एक प्रमुख साधन है। इसकी शुरुआत 15 नवंबर, 1951 को कर्मचारी भविष्य निधि अध्यादेश के आने के पश्चात हुई थी। इसके बाद कर्मचारी भविष्य निधि अधिनियम वर्ष 1952 में पारित किया गया जो अब कर्मचारी भविष्य निधि एवं विविध प्रावधान अधिनियम 1952 के नाम से जाना जाता है।

कर्मचारी भविष्य निधि भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए निवेश का एक प्रमुख एवं सुरक्षित साधनों में से एक में गिना जाता है। इस पर दिया जाने वाला ब्याज कर मुक्त होता है एवं जोगिया मैच्योर होता है तब भविष्य में आर्थिक रूप से काफी सहायक सिद्धि होती है। अगर आप लंबे समय के लिए बहुत श्रीनिधि के रूप में धन को बचाते हैं तो उस सेवानिवृत्ति के बाद की जरूरतों के लिए अत्यंत सहायक सिद्ध होती है।

कई बार आपातकालीन स्थिति में हमें धन की कमी महसूस होती है एवं उस समय हमारे पास लोगों से उधार मांगने के अलावा कोई विकल्प नहीं होता। ऐसी स्थिति में कर्मचारी भविष्य निधि हमारे लिए सहायक सिद्ध होती है। अगर आप कम जोखिम वाले निवेश करना चाहते हैं तो कर्मचारी भविष्य निधि एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है।

Investment in New Pension Scheme (NPS) – न्यू पेंशन स्कीम पर निवेश

न्यू पेंशन स्कीम के बारे में आप लोगों में से बहुत सारे लोगों ने सुना होगा। इसे शॉर्ट में हम एनपीएस (NPS) के नाम से भी जानते हैं।

यह एक ऐसी योजना है जिसके तहत अपने बुढ़ापे के लिए आर्थिक सहारे का इंतजाम किया जा सकता है। इसकी शुरुआत वर्ष 2004 में सरकारी कर्मचारियों के लिए की गई थी लेकिन वर्ष 2019 में यह योजना सभी वर्गों के लिए खोल दिया गया।

इस योजना के तहत आप अपने कामकाजी उम्र के दौरान नियमित तौर पर योगदान कर सकते हैं। इसके बाद 60 सालों की उम्र पूरा होने पर इकट्ठा की गई रकम एक हिस्से को वह एक बार निकाल सकते हैं और बाकी बच्चे राशि को पेंशन के रूप में आय प्राप्त कर सकते हैं। एनपीएस की योजना के अंतर्गत हर महीना महज ₹5000 के निवेश से आप बुढ़ापे में ₹20000 की पेंशन का इंतजाम कर सकते हैं।

Investment in Gold – सोने पर निवेश

Investment in Gold ( सोना पर निवेश) – भारत जैसे देश में सोने पर निवेश करना एक बेहद ही बढ़िया तरीका है। सोना हमेशा से एक शानदार एसेट रहा है। सोने की फाइनेंसियल वैल्यू के साथ इसका अलग तरह का भावनात्मक और सामाजिक मूल्य भी है। हाई रिटर्न के लिए आप सोने पर लंबे समय के लिए निवेश कर सकते हैं।

सोना दुनिया की सबसे कीमती धातु में से एक में गिना जाता है। भले ही इसका अब मुद्रा के रूप में उपयोग नहीं किया जाता है, लेकिन फिर भी या धातु कई देशों की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। लॉन्ग टर्म निवेश विकल्प के रूप में सोना काफी लोकप्रिय है और इसे निवेश पोर्टफोलियो में एक अतिरिक्त विकल्प मांगना जाता है। आप सोने पर लंबे समय के लिए निवेश करके इससे अच्छी खासी लाभ कमा पाओगे। इसमें जोखिम भी काफी कम है।

रियल स्टेट में निवेश करना – Investment in Real Estate

सुरक्षित एवं जोखिम से निजात के लिए आप रियल स्टेट में निवेश कर सकते हैं। हालांकि रियल स्टेट एक महंगा निवेश माना जाता है। लेकिन, रियल स्टेट में आप अच्छा खासा पैसा लगा कर के भविष्य में इससे काफी ज्यादा मुनाफा कमा सकते हो।

रियल स्टेट में जैसे कि आप कोई मकान खरीद करके उसे किराए पर भी लगा सकते हो। इस तरह से आपकी हर महीने मंथली आमदनी हो जाती है। रियल स्टेट में निवेश से मतलब है जमीन, घर, दुकान खरीदना और उससे इनकम प्राप्त करना और उनकी कीमत बढ़ जाने पर उन्हें बेचकर के लाभ प्राप्त करना। अगर आप भविष्य में अच्छा खासा पैसा जुगाड़ करना चाहते हैं तो रियल स्टेट एक बेहतरीन निवेश के लिए साधन है। जहां पर जोखिम भी कम है और हर महीने आपको इससे अच्छा खासा लाभ मिल जाता है।

रियल स्टेट में निवेश के लिए आपको रियल स्टेट को समझना जरूरी है, वरना गलत निवेश में आपकी पूंजी हंस सकती है। अगर आपकी रियल एस्टेट के बारे में अच्छी जानकारी है और आपके पास खरीदने के लिए पैसे भी हैं तो आप जरूर रियल स्टेट में अपने पैसे लगा सकते हैं।

Investment in Debt fund – डेट फंड में निवेश करना

Investment in Debt fund – डेट फंड में निवेश करना इसका अर्थ यह होता है कि आप अपने पैसों को कर्ज के रूप में किसी को देते हैं, उस कर्ज से मिलने वाला ब्याज भी पहले से तय होता है।

इस पर आपको फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट जैसे कि बैंक का फिक्स डिपॉजिट होता है सरकार द्वारा जारी किए गए बॉन्ड्स में निवेश जिसमें आपको 8 परसेंट से लेकर के 9 परसेंट तक रिटर्न मिल सकता है। इस तरह के फंड में निवेश करना डेट फंड कहलाता है।

इस तरह के निवेश को बहुत ही ज्यादा सुरक्षित निवेश माना जाता है। इस तरह का निवेश उतना ही सुरक्षित होता है जितना कि आप अपने बैंक में फिक्स डिपॉजिट पर पैसों को जमा करते हैं।

लेकिन इस तरह के निवेश पर सुरक्षित निवेश का नुकसान भी है कि आप बहुत ही कम लाभ कमा पाते हो। आप अपने निवेश से किसी तरह का लाभ नहीं उठा पाते सिर्फ आपको महंगाई ही काबू करने में मदद मिलती है।

इस तरह का फंड उन लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद है जो अपने निवेश पर कम जोखिम उठाना चाहते हैं।

म्यूच्यूअल फंड पर निवेश – Investment in Mutual Fund

म्यूच्यूअल फंड पर निवेश – Investment in Mutual Fund – म्यूच्यूअल फंड पर निवेश उन सारे लोगों के लिए काफी बेहतर विकल्प है जो लोग शेयर बाजार या फिर स्टॉक मार्केट पर सीधे निवेश करना चाहते हैं। शेयर बाजार या स्टॉक मार्केट से होने वाले फायदे का लाभ सुरक्षित तरीके से लेना चाहते हैं।

म्यूचुअल फंड में निवेश करके आप म्युचुअल फंड स्कीम सुनकर चाहे तो एक साथ लम सम (lump sum) पूंजी में निवेश कर सकते हैं या फिर आप एसआईपी (SIP) – SYSTEMATIC INVESTMENT PLAN के जरिए हर महीने छोटे छोटी रकम इस पर निवेश कर सकते हैं।

म्यूचुअल फंड में निवेश करके आप लॉन्ग टर्म में कंपाउंडिंग का लाभ उठा सकते हैं और साथ ही साथ मार्केट में होने वाले उतार-चढ़ाव से भी बच सकते हैं।

अगर आपको शेयर मार्केट के बारे में अधिक जानकारी नहीं है फिर भी आप म्यूचुअल फंड में निवेश करके शेयर मार्केट में अप्रत्यक्ष रूप से निवेश कर सकते हैं। आप म्यूच्यूअल फंड मैनेजर आपके निवेश पर निगरानी रखता है। आपके निवेश किए गए पैसों को ऐसा जगह लगाया जाता है जहां पर लगभग 8% से लेकर के 30% तक रिटर्न मिलता हो। म्यूच्यूअल फंड से संबंधित अधिक जानकारी के लिए आप हमारा अन्य आर्टिकल म्यूच्यूअल फंड क्या होता है? इसके बारे में जानकारी ले सकते हैं।

शेयर मार्केट में निवेश – Investment in Share Market

शेयर मार्केट में निवेश – Investment in Share Market – शेयर मार्केट स्टॉक मार्केट का मतलब होता है कि किसी भी कंपनी में मालिकाना हक में हिस्सा क्योंकि आप उस कंपनी के शेयर या स्टॉक के मूल्य के बराबर पूंजी यानी कैपिटल दे रहे हैं।

शेयर मार्केट में निवेश करना बाकी सभी दूसरे निवेश के तुलना में ज्यादा जोखिम भरा होता है। लेकिन जैसा कि हमने आप लोगों को ऊपर बताया है, No Risk No Gain उसी तरह से ठीक शेयर बाजार में भी रिस्क ज्यादा है लेकिन लंबे समय तक पैसे लगाने पर आपको इससे अच्छा खासा रिटर्न भी मिलता है।

शेयर बाजार में अच्छी कंपनी में लंबे समय के लिए निवेश करना आपको अच्छा खासा लाभ दिला सकता है। स्टॉक मार्केट द्वारा अच्छी डिविडेंड देने वाली कंपनी में निवेश करके आप रेगुलर इनकम बना सकते हो।

इसका एक सबसे बेहतरीन उदाहरण भी है वर्ष 1980 के आसपास अगर आप Infosys, Ranbaxy, CIPL, WIPRO इत्यादि कंपनी में अगर ₹10000 का निवेश करते तो आज के वर्तमान समय में इनकी कीमत करोड़ों रुपए में होती। इससे आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि लंबे समय पर एक अच्छे कंपनी पर किया गया निवेश आपको भविष्य में अच्छा खासा लाभ दे सकता है।